एक आदमी कितने बैंक अकाउंट रख सकता है? SBI सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं?

बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस कितना होना चाहिए?

आज हम आपको बैंक से संबंधित व अकाउंट से संबंधित संपूर्ण जानकारियां देंगे वैसे तो आप सभी जानते हैं कि बैंक में पैसा सेफ व सुरक्षित रहता है व बैंक डूब जाता है तो बैंक आपको आपकी राशि वापस देता है हां आज हम आपको बैंक के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारियां देंगे और अगर आप भी अपने अकाउंट में 500000 से ज्यादा रुपए रख रखे हैं तो इस बारे में भी आपको जानकारी देंगे अगर आपका भी सेविंग बैंक अकाउंट है तो आपको इन सभी जानकारियों के बारे में पता होना चाहिए अगर आपका बैंक में बचत खाता है तो आप ₹500000 से ज्यादा इस खाते में नहीं रखें क्योंकि इस बचत खाते में सिर्फ ₹500000 से ज्यादा सेफ नहीं रहते हैं क्योंकि कई बार किसी कारण वश अगर बैंक डूब जाता है तो आपको ₹500000 तक की ही राशि दी जाएगी 2020

में बजट के नियमों में बदलाव किया था तो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा की बैंक में रखी ₹500000 तक की रकम सुरक्षित रहेगी लेकिन अगर ₹500000 से ज्यादा है तो हमें अपने एक अकाउंट में ₹500000 से ज्यादा राशि नहीं रखनी चाहिए क्योंकि फिर वह बैंक ₹500000 से ज्यादा रकम नहीं देता है रिजर्व बैंक ₹500000 तक की सुरक्षित राशि देता है अगर आपके अकाउंट में ₹1000000 जमा है और बैंक किसी कारणवश से डूबने या दिवालिया होने की स्थिति में आ जाता है

तो वह ₹500000 तक की ही राशि देता है या ₹500000 तक का ही इनकम इंश्योरेंस हो पाता है इसलिए ₹500000 से ज्यादा अपने बैंक अकाउंट में नहीं रखें
आज के युग में एक आदमी के पास कई बैंक खाते होते हैं और एक से अधिक अकाउंट होने के कई फायदे भी हैं व अलग-अलग अकाउंट होने से ट्रांजैक्शन करना भी आसान होता है लेकिन बैंक अकाउंट में मिनिमम ₹5 लाख से अधिक राशि नहीं होनी चाहिए

एक आदमी कितने बैंक अकाउंट रख सकता है?

सरकार की तरफ से अभी तक कोई भी ऐसा नोटिफिकेशन जारी नहीं हुआ है जिसमें यह बताया गया हो की एक व्यक्ति कितने अकाउंट खुलवा सकता है यह बात न ही इनकम टैक्स द्वारा लागू की गई है न ही सरकार द्वारा इस में कुछ लिमिट रखी गई है इसलिए आप जितने चाहें उतने अलग-अलग बैंक में अकाउंट खुलवा सकते हैं और अपना पैसा जमा कर सकते हैं।

बैंकों में जमा बचत के लिए कौन कौन सी योजनाएं और खाते संचालित किए जा रहे हैं?

Bank मैं बचत खाता सबसे अधिक खोलें जाते हैं व बचत खाते के साथ-साथ करंट अकाउंट भी खोले जाते हैं सेविंग अकाउंट भी खोले आते हैं बचत खाते में कई प्रकार की सुविधाएं भी उपलब्ध होती हैं व कई प्रकार की योजनाएं भी मिलती हैं व इन योजनाओं का लाभ उठाने के लिए जीरो बैलेंस पर भी अकाउंट खोले जाते हैं जन धन योजना अकाउंट में जीरो बैलेंस पर ही अकाउंट खोला जाता है जैसे कि प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना प्रधानमंत्री मुद्रा योजना

बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलेंस कितना होना चाहिए?

यह तो आप सभी जानते हैं कि बैंक अकाउंट में मिनिमम पैसा आप कितना भी रख सकते हैं यह कोई निर्धारित नहीं है कि एक निश्चित राशि रखी जाए आप अगर जीरो बैलेंस पर खाता खुलवा ते हैं तो उसमें आप ₹100 तक भी रख सकते हैं और अगर आप ₹500 का खाता भी खुलवा ते हैं तो भी आप ₹2000 तक रख सकते हैं इसमें कोई लिमिट या कोई सीमा नहीं है की मिनिमम इतने पैसे ही रखनी जरूरी है वैसे तो आप ₹500000 तक अपने अकाउंट में रख सकते हैं हर बैंक अलग-अलग अकाउंट में अलग अलग तरीके से मिनिमम बैलेंस रखने की प्रक्रिया रखता है इसलिए यह नहीं कह सकते हैं कि मिनिमम इतनी रकम अकाउंट में होनी चाहिए आप जितने चाहे पैसे अकाउंट में रख सकते हैं व बचत खाता सबसे अच्छा व Best खाता है जिसमें आप जब चाहे पैसे निकाल सकते हैं जब चाहे पैसे जमा करा सकते हैं और इसमें कोई लिमिट भी नहीं होती है

SBI सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते हैं?

एसबीआई सेविंग अकाउंट में मिनिमम कोई भी पैसे की जरूरत नहीं होती है जीरो बैलेंस पर भी आपका अकाउंट चालू रहता है व इसमें ₹0 में भी आपका अकाउंट बंद नहीं होता है

रिजर्व बैंक में कितना पैसा है

रिजर्व बैंक के पास में 2021 के दौरान कुल 99,122 करोड़ रुपए तक है व पिछले साल57, 127.53 करोड़ रुपए थे भारतीय रिजर्व बैंक नौ महीने की अवधि में6.99 % बढ़ा है रिजर्व बैंक के पास में सोना 695.31 टन सोना है रिजर्व बैंक के पास में सप्लायर 73.51%
से बड़ कर99,122 करोड़ तक रह गया है

मेरे खाते में कितना पैसा है

अगर आपको अपने खाते की जांच करनी है कि आपके अकाउंट में कितने पैसे हैं तो आप आसानी से अपने खाते की जांच कर सकते हैं व देख सकते हैं कि आपके अकाउंट में कितने पैसे हैं इसके लिए आपको अपनी बैंक की पासबुक जिस भी ब्रांच में आपका खाता है उसी बैंक की पासबुक लेकर उसमें से अपने अकाउंट नंबर और Ifsc नंबर डालकर चेक कर सकते हैं कि आपके अकाउंट में कितना बैलेंस है व मोबाइल पर भी अपना बैलेंस चेक करना चाहते हैं तो phone -pay मैं जाए और वहां से भी अपना खाता चेक कर सकते हैं कि आपके अकाउंट में कितना पैसा है इसलिए आज के युग में अपने बैंक की details जानना बहुत ही आसान हो गया है या फिर आप उससे बैंक की branch में जाकर पता कर सकते हैं कि आपके पास मिनिमम कितनी राशि आपके अकाउंट में शेष है

सभी एन्युटी डिपॉजिट स्कीम

एक ऐसी योजना लेकर आए है जो एन्युटी डिपॉजिट स्कीम है इस योजना के तहत आपको इसमें पैसे जमा करवाने होंगे और उसके बाद में आपको हर महीने fix इनकम मिलती है जिन को पेंशन भी कहते हैं SBI की यह स्कीम
उन लोगों के लिए है जो सेविंग की मदद से हर महीने पेंशन के रूप में प्राप्त करना चाहते हैं इसमें जमा राशि पर ब्याज भी दिया जाता है स्कीम का लाभ लेने के लिए कम से कम ₹25000 तक डिपॉजिट करने होते हैं फिर उस के बाद में आप को मूल रूपया और ब्याज भी मिलता है और इस को आप कोई भी अकाउंट में डिपॉजिट कर सकते हैं

सबी की बेस्ट स्कीम

हर व्यक्ति अपने आय को बनाने के अलग अलग तरीके सोचता रहता है इसलिए एसबीआई बैंक भी कई प्रकार की नई -नई स्कीम लागू करता है व नई -नई योजनाएं लागू करता है एसबीआई बैंक अपने ग्राहकों के लिए एक ऐसी योजना लेकर आया है जो एन्युटी डिपॉजिट स्कीम है इस योजना के तहत आपको इसमें पैसे जमा करवाने होंगे और उसके बाद में आपको हर महीने fix इनकम मिलती है जिन को पेंशन भी कहते हैं एसबीआई की यह स्कीम
उन लोगों के लिए है सेविंग की मदद से हर महीने पेंशन के रूप में प्राप्त करना चाहते हैं इसमें जमा राशि पर ब्याज भी दिया जाता है स्कीम का लाभ लेने के लिए कम से कम ₹25000 तक डिपॉजिट करने होते हैं मैं इसमें 6 %की दर से ब्याज मिलता है एन्युटी डिपॉजिट स्कीम के तहत लोन की सुविद्या उपलब्ध होती है व कराई जाती है लोन का डिपाजिट 75 % तक मिल सकता है

प्रधानमंत्री जन धन योजना टोल फ्री नंबर

ऐसे तो आप सभी जानते हैं कि जन धन योजना प्रधानमंत्री द्वारा चलाई गई योजना है जो गरीब लोगों को आर्थिक सहायता प्रदान की जा सके इसलिए इस योजना को लागू किया गया था वह आज हम आपको इस जन धन योजना के टोल फ्री नंबर के बारे में भी जानकारी देंगे व साथ ही साथ इसकी संपूर्ण जानकारियां भी हम आपको देंगे ताकि आप भी जन धन योजना से लाभ ले सके वअपनी आर्थिक स्थिति में थोड़ी बहुत मदद कर सके जनधन योजना प्रधानमंत्री द्वारा चलाई गई यह योजना 2014 -15 में शुरू की गई थी यह योजना केंद्र सरकार की खास योजनाओं में से सबसे महत्वपूर्ण है व इसमें 0 बैलेंस पर खाते खोले जाते हैं और यह खाते गरीब लोगों को सहायता देने व बैंकिंग सुविधा उपलब्ध कराने के लिए इस योजना को लागू किया गया सरकारी और प्राइवेट बैंकों में जीरो बैलेंस पर Account खोले जाते हैं व सरकार अपनी योजनाओं के माध्यम से आर्थिक सहायता देती है जैसे कि सब्सिडी के रूप में डायरेक्ट बैंक खाते में देती है लॉकडाउन में महिलाओं को ₹500 हर महीने उपलब्ध कराए हैं वह भी सीधे बैंक खाते में प्रधानमंत्री न केवल जनधन योजना का लाभ दिया है बल्कि किसान पीएम सम्मान निधि योजना का भी आर्थिक रूप से सीधे बैंक अकाउंट में राशि प्रदान करके या ट्रांसफर करके गरीब लोगों को लाभ दिया है अगर आपको भी किसी प्रकार की योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है तो आप भी इन टोल free नंबर पर शिकायत कर सकते हैं व अपनी योजनाओं के बारे में संपूर्ण जानकारियां ले सकते हैं टोल free नंबर हर राज्य के अलग-अलग होते हैं राजस्थान के टोल फ्री नंबर है 1800-180-6546 यह टोल free नंबर है अब आप भी इन नंबर पर एक कॉल करें और अपनी सारी योजनाओं का लाभ लेवे व संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर लें

SBI MIS scheme

एसबीआई एमआईएस की फुल फॉर्म monthly income scheme comparison है इसमें 5 साल के लिए पैसा इन्वेस्ट किया जाता है जो कि 5.4 प्रतिशत की ब्याज दर देता है व जिस में जितना आपका पैसा इन्वेस्ट करते हैं उतना पैसा 5 साल के अंदर दुगना हो जाता है इस स्कीम के तहत एक बार पैसा इन्वेस्ट करो और हर महीने ब्याज पाव ब्याज कमाओ l

PNB Jan Dhan Account limit.

आज हम आप को PNB Bank मे जन धन अकाउंट की लिमिट बताए गए ताकि आप भी सही रूप से संपूर्ण जानकारी ले सके अगर आप का अकाउंट PNB Bank में है तो आप इस जन धन खाते में 50हजार रुपया तक रख सकते है व 10 हज़ार रुपया तक का आप transaction कर सके है पहले ये transactions 5 हजार रुपया तक ही कर पाते थे और आप इस जन धन खाते में 50 से
ज्यादा नही रख सकते हैं क्यों की नोट बंदी के समय लोगो ने कला धन छुपाने की कोशिश की थी इस लिए इस के नियमो में बदलाव कर दिए है और इस खाते से महीने में सिर्फ एक ही transaction कर सके है PNB ने सभी बैंक खाते में बदलाव कर दिए है इस लिए इस की एक लिमिट निर्धारित हो गई है

SBI Annuity Deposit Scheme 2022.

SBI Annuity deposit का लाभ वो ही लोग ले सकते है जिन लोगो के पास कही से बहुत अधिक पैसे आए है और वो कही और से आय नही कर सकता है जैसे की सरकारी कोई भी कर्मचारी जो रिटायर आ चुका है वो ही इस स्कीम का लाभ ले सकता है क्यों की वो रिटायर कर्मचारी अगर वो पैसे बैंक में जमा करवाया है तो उसे ब्याज तो मिलता ही है व साथ में पेंशन भी प्राप्त करता है SBI Annuity डिपॉजिट में सिर्फ एक बार ही पैसे जमा करवाने होते है और फिर हर महीने कमाई होती रहती है इस योजना का लाभ लेने के लिए भारत का नागरिक होना चाहिए व एक सेविग अकाउंट होना चाहिए और इस में आप 5,7,9,10 लाख तक भी आप पैसे डाल सकते हैं इस SBI Annuity डिपॉजिट का लाभ आप भी ले सकते हैं

आपके बैंक अकाउंट में 5 लाख रुपए से ज्यादा जमा हैं? जानिए क्यों नहीं

अगर आप के बचत खाते में 5 लाख से भी ज्यादा जमा है तो आपको कई प्रकार की समस्याएं हो सकती हैं जैसे कि 1 साल से अधिक 1000000 रुपए तक रखते हैं तो इनकम टैक्स भरना पड़ता है व कई बार बैंक नीलामी होने के कारण बैंक सिर्फ ₹500000 तक ही वापिस देता है 500000 तक का इंश्योरेंस हो पाता है इसलिए 500000 से अधिक पैसे रखना भी सही नहीं है आजकल एक नया income Tax rules और है, जिसमे अगर आप बैंक में एक वर्ष में 10 लाख से ज्यादा रुपये जमा करवाते है, तो बैंक इसकी सूचना Income Tax डिपार्टमेंट को भेजता है, जिसकी वजह से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से आपके पास इनकम टैक्स नोटिस आने की संभावना बढ़ जाती है ।

क्यों हमें बैंक अकाउंट में 5 लाख रुपए से ज्यादा नहीं रखने चाहिए? यहां …

किसी भी बैंक में यह रूल नहीं है की आप 5 लाख तक ही रख सकते है आप चाहे जितना पैसा अपने बैंक में रख सकते है लेकिन आप अगर अपने बैंक में 10 लाख रखते है तो आप पर इनकम टैक्स भी लागू हो सकता है व किसी कारणवश बैंक डूब जाता है तो आप को 5लाख तक की ही राशि दी जाती है दूसरा बैंको में ज्यादा अमाउंट जमा करवाने का नुकसान यह है कि बैंक में जमा राशि पर आपको काफी कम रेट से ब्याज का भुगतान किया जाता है, जो कि लगभग 2.5 % से 5% तक का होता है

बचत खाते में ही आपको कैसे मिल सकता है एफडी जैसा ब्याज?
बचत खाते के नाम पर जो राशि आप अपने अकाउंट में सेव करके रखते हैं वह राशि आपकी एफडी के रूप में सुरक्षित रहती है 60 की उम्र होने के बाद आपको यह रकम ब्याज लगाकर आपको डबल होकर मिलती है इसमें कई ऐसे बैंक जो एफडी की राशि बड़ा कर देते हैं जैसे अन्य कई ऐसे बैंक है जो 7.25 % की दर से ब्याज देते हैं और आपका पैसा दुगना हो जाता है

बचत खाते में मिनिमम बैलेंस की गणना कैसे करें?

आप भी बचत खाते में मिनिमम बैलेंस कई प्रकार से रख सकते है क्यों की एसबीआई न मिनिमम बैलेंस में बदलाव कर दिया है देश का सब से बड़ा बैंक जिस ने कई करंट व सेविंग अकाउंट में बदलाव कर दिया है न्यूनतम से बड़ा कर 5 हजार कर दिए है और अब एसबीआई ने मेट्रो शहरों में 3 हजार रुपया कर दिया है व शहरी क्षेत्रों में 2 हजार कर दिए है और ग्रामीण क्षेत्रों में 1000 रुपया कर दिया गया है और अगर आप के अकाउंट में इस से भी कम पैसे है तो एसबीआई आप से ब्याज लेता है व साथ ही gst भी लेता है गणना करने का तरीका कुछ इस प्रकार से है जैसे की मान लीजिए की आप के खाते में 10 हजार रुपया है और 9 जनवरी 22 जनवरी तक 14दिन होते है 10,000 को 14 से गुणा करते है तो1.4 लाख रुपए बनते है तो इस प्रकार से आप के पैसे 5 हजार से ज्यादा होती है तो आप की कोई भी gst या फिर plenty नही लगती है और न ही कोई चार्ज कटता है|

बैंक में कितना पैसा है?

Bank से पैसे निकालने के लिए एसबीआई बैंक ग्राहक अपने बचत खाते से एक दिन के लिए25 हजार रु तक की नगद राशि ATM के माध्यम से निकल सकता है व चैक के माध्यम से 50 हजार रु से लेकर 1 लाख रु .तक की राशि ग्राहक अपने चैक के माध्यम से निकाल सकता है

क्या बैंक में पैसा सुरक्षित है

आप का पैसा बैंक में सुरक्षित तो रहता ही है व साथ ही साथ आप को ब्याज भी मिलता है अगर कोई भी बैंक नीलाम हो जाता है तो बैंक आप को आप के पैसे वापस जरूर देता है आप के पैसे की जिम्मेदारी भी पूर्ण रूप से रखता है ।
जबकि यही पैसा आप म्यूच्यूअल फण्ड, गवर्नमेंट बांड्स या गोल्ड में लगाकर 15 – 20% का Profit कमा सकते है ।

lic bima bachat vs fixed deposit.

एलआईसी बीमा हाउस फाइनेंस के लिए ब्याज दर 5 .75% उच्चतम दर व नवीन फाइनेंस दर 5.00% से 6.00% के बीच है एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस के लिए निवेश करने का सबसे अच्छा तरीका है lic bima bachat vs fixed deposit जिसमें बचत के रूप में अधिक पैसा मिलता है एलआईसी हाउसिंग फाइनेंस में मिनिमम बैलेंस नहीं खोला गया है इसमें आप अपने हिसाब से सेविंग कर सकते हैं और अपने पैसों पर अच्छा खासा ब्याज कमा सकते हैं lic bima bachat vs fixed deposit पर उम्मीद है यह जानकारी आपको जानने को मिली होगी |

paisabazaar insurance.

पैसाबाजार इंश्योरेंस car, बाइक, टू व्हीलर, थ्री व्हीलर, फोर व्हीलर आदि कई प्रकार के आदि कई प्रकार के vehicles के लिए पैसा बाजार इंश्योरेंस किया जाता है जिससे कि खरीद की कीमत व्यक्ति को कम पड़ती है व सस्ते में उपलब्ध हो जाता है इसीलिए पैसाबाजार इंश्योरेंस बीमा कवर किया जाता है आप भी इस बीमा का फायदा उठा सकते हैं व इसका लाभ लेना बहुत ही आसान है|

bank account in hindi. mgr png

बैंक में अकाउंट कई प्रकार से खोला जाता है व कई प्रकार के खाते होते हैं जैसे कि सेविंग अकाउंट, करंट अकाउंट, रिकवरिंग डिपॉजिट अकाउंट, व fixed deposit account यह चार प्रकार के बैंक अकाउंट है जिनकी जानकारी हम निम्न प्रकार से देंगे


1 सेविंग अकाउंट का मतलब है

बचत खाता यह खाता खुलवाने के लिए आपको बैंक के द्वारा तय की गई एक निश्चित राशि जैसे कि 100रुपए या 1000 रुपए में आप बचत खाता खुलवा सकते हैं और वह रुपए या पैसा अकाउंट में ही रखने पड़ते हैं अपने पर्सनल काम के लिए लोग सेविंग अकाउंट का चयन करते हैं वह सेविंग अकाउंट में चार से पांच बार लेन देन कर सकते हैं वहीं से ज्यादा लेनदेन करने पर आपको कुछ चार्ज देना पड़ सकता है और हर एक बैंक के अलग-अलग नियम होते हैं अकाउंट में आपको ब्याज भी मिलता है ब्याज की दर 5 से 6 % भी हो सकता है|

2 current account यानी कि चालू खाता

इस खाते को आप चालू रखने के लिए बैंक द्वारा निर्धारित की गई अमाउंट राशि निर्धारित होती है उसके आधार पर आप इस खाते को खुलवा सकते हैं व यह खाता उन लोगों के लिए है जो अपने बिजनेस के लिए काम में लेते हैं इसमें सेविंग अकाउंट जैसे किसी भी प्रकार का ब्याज नहीं मिलता है व इसमें लेनदेन करने की कोई सीमा निर्धारित नहीं है आप इसमें जब चाहे पैसे डिपाजिट कर सकते जब चाहे पैसे withdrawal कर सकते हैं इस करंट अकाउंट में बैंक आपको किसी भी प्रकार का कोई ब्याज नहीं देता है|

3 requiring deposit account यानी की आवर्ती जमा खाता

आप अगर निश्चित राशि जमा करना चाहते है तो आप आवर्ती जमा खाता खुलवा सकते हैं इसमें आपको एक निश्चित अवधि में पैसे जमा करवाने पड़ते हैं आपको हर महीने उस निर्धारित राशि को जमा कराने के बाद हीं जब आपकी राशि का निर्धारित समय पूरा हो जाता है तो आपको उस राशि पर ब्याज भी प्राप्त होता है इसलिए आवर्ती जमा खाता उन लोगों के लिए अच्छा है जो अपनी राशि को बचत के रूप में रखना चाहते हैं इस खाते को खुलवाने के लिए मिनिमम ₹100 में भी खोल दिया जाता है या फिर अधिक से अधिक ₹500 में भी खोला जाता है व इसकी जमा अवधि 6 से 10 साल तक की होती है अगर आप अवधि से पहले पैसे निकालते हैं तो आपको ब्याज की दर कम प्राप्त हो सकती है |

4 fixed deposit account यानी कि सावधि जमा खाता

यह खाता भी आवर्ती जमा खाते के जैसे ही है इसमें कई प्रकार के बैंक शामिल है जैसे कि SBI ,ICICI,पंजाब नेशनल कैसे जैसे कई प्रकार के बैंक शामिल हैं एक निश्चित समय के लिए राशि जमा की जाती है व इसको समय से पहले निकाल भी सकते हैं पर इसमें टाइम से पहले राशि निकालने पर जुर्माना देना पड़ता है आप ब्याज हर महीने या काल अवधि पूर्ण होने पर निकाल सकते हैं अब तो आप समझ ही गए होंगे कि बैंक अकाउंट क्या है व इसमें किस प्रकार के खाते खोले जाते हैं किस प्रकार से लाभ प्राप्त किया जाता है व इसकी काल अवधि कितनी होती है|

नही , बैंको में ऐसा कोई रूल नही है कि आप सिर्फ पांच लाख ही जमा करवा सकते है ।

बैंको में जितने चाहे उतने रुपये जमा करवा सकते है ।
बैंको में ज्यादा रुपये रखने से आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजरों में भी आ सकते है, लेकिन इससे आपको तब तक डरने की जरूरत नही है जब तक आपके पास बैंक में जमा राशि का सोर्स है और आपकी इनकम टैक्स रिटर्न में इस सोर्स को proof किया जा सके ।
क्योकि, आजकल एक नया इनकम टैक्स रूल और है, जिसमे अगर आप बैंक में एक वर्ष में 10 लाख से ज्यादा रुपये जमा करवाते है, तो बैंक इसकी सूचना इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को भेजता है, जिसकी वजह से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट से आपके पास इनकम टैक्स नोटिस आने की संभावना बढ़ जाती है ।

दूसरा बैंको में ज्यादा अमाउंट जमा करवाने का नुकसान यह है कि बैंक में जमा राशि पर आपको काफी कम रेट से ब्याज का भुगतान किया जाता है, जो कि लगभग 2.5 % से 5% तक का होता है
इसलिये बैंको में ज्यादा पैसा जमा करने की बजाय
जबकि यही पैसा आप म्यूच्यूअल फण्ड, गवर्नमेंट बांड्स या गोल्ड में लगाकर 15 – 20% का Profit कमा सकते है ।
इसलिए बैंक में पैसा जमा करवाने से पहले
इन दोनों फैक्टर्स पर जरूर गौर करे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *