भारतीय पूजा घर डिजाइन। पूजा रूम डिजाइन। मंदिर डिजाइन फोटो। home mandir design.

पूजा रूम डिजाइन। pooja room designs.

pooja room designs.

pooja room designs for home : हेलो, दोस्तो आज हम आप को pooja room designs. के बारे में विस्तार पूर्वक बताएंगे।और आप किस प्रकार से घर के मंदिर को कैसे डिजाइन कर सकते है । उन सभी के बारे में बताएंगे। इस आर्टिकल में हम आप को पूजा घर मंदिर डिजाइन फोटो,दीवार होम मंदिर डिजाइन,
मंदिर गेट डिजाइन,mandir design for home,पूजा घर डिजाइन,
pooja room,दीवार मंदिर डिजाइन,pooja room design,होम मंदिर डिजाइन,(home mandir design),घर में मंदिर का डिजाइन,मंदिर डिजाइन घर के लिए,puja ghar design,छोटा मंदिर का डिज़ाइन,होम मंदिर डिजाइन,मंदिर डिजाइन फर्नीचर,भारतीय पूजा रूम डिजाइन,छोटा मंदिर का डिज़ाइन,मंदिर का डिजाइन फोटो,मंदिरों की डिजाइन,फर्नीचर होम मंदिर डिजाइन,मंदिर डिजाइन फोटो hd,मंदिर डिजाइन,मंदिर की डिजाइन इन सभी के बारे में हम आप को विस्तार से बताएंगे।
पूजा घर भारतीय घरों का अहम हिस्सा होते हैं। अगर आपका घर इतना बड़ा नहीं है । कि पूजा का अलग कमरा हो तो आप घर के किसी कोने में अपनी पसंद का खूबसूरत मंदिर रख सकते हैं। आज हम आपको मशहूर पूजा घरों के डिजाइन्स व अन्य विकल्पों के बारे में बताएंगे, जिसमें से आप अपने लिए एक अच्छा सा पूजा घर चुन सकते हैं।

भारतीय पूजा घर डिजाइन। भारतीय पूजा रूम डिजाइन।

इंडियन होम एलिवेशन डिज़ाइन फोटो गैलरी पूजा घर : आधुनिक समय में, अधिकांश लोग पूर्व-निर्मित पूजा घर में चले जाते हैं। जहाँ आप दिशा नही बदल सकते है। तथा कई मामलों में जगह की कमी के साथ, आपके रहने की जगह में पूजा क्षेत्र को शामिल करने के लिए कई नवीन विचारों का उदय होता है। भारतीय मध्यम वर्ग अपने घरों में कई पूजा कक्ष डिजाइनों के लिए व्यापक रूप से ग्रहणशील रहा है।
प्राचीन हिंदू परंपराओं (वास्तु शास्त्र) के अनुसार, पूजा कक्ष (इशान कोण) में देवता को हमेशा उत्तर-पूर्व दिशा (धन के देवता कुबेर की दिशा) को माना गया है। इसलिए देवताओं को इस दिशा में ही रखना चाहिए । ताकि सुख, समृद्धि और खुशहाली घर परिवार में बनी रहे ।  जिस घर / परिवार में वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा घर अर्थात मंदिर बनाया जाता है उस घर में ऐसा माना जाता है कि कभी भी धन-धान्य की कमी नहीं होती है।

indian home temple design.

पूजा मंदिर। pooja rooms.

pooja room design in hall : पूजा घर आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करता है। जब आप मंत्रों का जाप करते हैं, तो यह सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करता है जो आपके जीवन को सही तरीके से मार्गदर्शन करता है।  दिल से की गई प्रार्थना में बहुत शक्ति होती है, और जब आप भगवान से प्रार्थना या (भगवान की आराधना करते हैं )तो दुनिया से मुक्त, दिल में शांति महसूस करते हैं।

घर में मंदिर का डिजाइन। pooja room ideas.

pooja room door designs : पूजा घर अर्थात पूजा कक्ष एक पवित्र स्थान हैं। जिसकी हिंदू घरों में बहुत अधिक मान्यता है । मंदिर की मान्यता आप किसी भी हिंदू घर में पा सकते हैं। बेशक, यह अन्य धर्मों का पालन करने वाले लोगों के घरों में भी पाया जाता है, लेकिन हिंदू परंपराओं के अनुसार, घर का एक विशेष क्षेत्र (कोना) जो पूजा के लिए हो, परिवार की सुख समृद्धि के लिए आवश्यक है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर में सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ाने के लिए आपकी मूर्तियों को उत्तर-पूर्व कोने में रखा जाना चाहिए। पूजा कक्ष वास्तु के अनुसार उत्तर- पूर्व कोने में बेहद लाभकारी बताया गया हैं।

मंदिर का डिजाइन। होम मंदिर डिजाइन।home mandir design.

temple front design.

मंदिर (mandir ki design) डिजाइन : होम मंदिर डिजाइन simple व आधुनिक भारतीय घर की समकालीन डिजाइन संरचना में अधिक प्रचलित नहीं है। लेकिन फिर भी, बहुत से लोग एक अलग पूजा कक्ष पसंद करते हैं। इसके अलावा, जब आप पूर्व-निर्मित घर में रहते हैं , तो डिज़ाइन और जगह सीमित होती हैं। और यदि आपका घर छोटा हैं, तो जगह की कमी के बावजूद, भारतीय मध्यम वर्ग के लिए पूजा कक्ष के बहुत सारे डिजाइन हैं। आइए जानते है, उन डिजाइन के बारे में।

दीवार पर एक शलेब मंदिर।

puja room interior : पूजा स्थान आपके रहने की जगह में किसी भी दीवार पर लगे शलेब के रूप में होती है। यदि आपके पास जगह की कमी है। तो यह आपके लिए यह एकदम सही डिज़ाइन है। इसे और अधिक डिजाइन देने के लिए डिजाइनर दीये व लाइट लगाकर जलाएं।

दीवार होम मंदिर डिजाइन।

mandir design furniture : आजकल सबसे अधिक मांग वाली डिज़ाइन, एक पत्थर का उभरा दीवार एक प्राकृतिक एहसास देती है। और आप इस दीवारों के रंग के साथ एक विभिन्न प्रकार की बनावट और रंगों में विभिन्न प्रकार के पत्थरों के साथ प्रयोग करें।

pooja mandir decoration ideas.

home mandir decoration : मंदिर की पारंपरिक सजावट (decoration) पूजा इकाई जो एक मंदिर जैसा दिखता है। पारंपरिक पूजा इकाई जो विशाल और बड़ी है। इसे थोड़ा अधिक डिज़ाइन से सजाएँ, कुछ मंदिर की घंटियाँ लगाएं और दीया जलाए, फूलों से सजाए और मंदिर बहुत सुंदर तरीके से तैयार हो जाएगा ।

दीवार से जुड़ी कैबिनेट ।

wall temple design for home : यदि आपके पास जगह की कमी है, तो आप इसे चुन सकते हैं। यह कैबिनेट जमीन से दूर रहता है और किसी भी कमरे की किसी भी दीवार पर अपनी इच्छानुसार लटकाया जा सकता है। इसमें आपकी पूजा की आवश्यक वस्तुओं और उपयोग में ली जाने वाली वस्तुओं को संग्रहित करके रख सकते हैं ।

एक अलग पूजा घर ।

pooja room inside designs : यदि आपके घर में पर्याप्त जगह है, तो आप उस कमरे को अपने पूजा स्थान में बदल सकते हैं।अपने पूजा स्थान को निर्मित करने के लिए कुछ मूर्तियों, देवताओं, दीपक और दीयों को शामिल करें। हालांकि, इस बात का जरूर ध्यान रखें कि इस जगह को गंदा न रखे।

एक कोना दीवार पूजा ।

temple wall design : अपने स्थान को अनुकूलित करने का एक और अच्छा उदाहरण, आप अपने घर के एक कोने को पूजा क्षेत्रों में भी बदल सकते हैं। और घर के एक कोने में भी आप मंदिर बना सकते हैं ।

संगमरमर का मंदिर।

sangmarmar mandir design for home : संगमरमर का मंदिर।आप संगमरमर का पूजा घर भी बना सकते हैं। यह आकर्षक, कम-रखरखाव,वाला पूजा घर होता हैं। यह देखने में भी आकर्षक लगता है।

एक कक्ष के अंदर पूजा घर ।

pooja room door designs with glass : छोटे घरों में आप वास्तु शास्त्र के अनुसार अपने लिविंग रूम में लकड़ी का एक मंदिर लगा सकते हैं। इसे और अधिक आकर्षक बनाने के लिए फोटो, रोशनी, फूल, आकर्षक दीया, इत्यादि को अलग-अलग रंगों में लगाकर सजा सकते हैं।

टाइल से बना मंदिर।

tails pooja mandir : यह सबसे सस्ता पूजा कक्ष डिज़ाइन होता है, जो कम रखरखाव वाला है, और इसे आसानी से साफ किया जा सकता है। टाइलों पर देवताओं के चित्र भी अंकित कर सकते हैं।

लकड़ी से बना मंदिर।

pooja designs wood : जो लोग अक्सर घर बदलते हैं, उनके लिए एक लकड़ी का मंदिर सबसे अच्छा विकल्प हैं।  लकड़ी से बना मंदिर वजन में भी हल्का होता हैं। इसे आसानी से कहीं पर भी ले जाया जा सकता हैं, और जिस घर में आप रहते हो। उस घर में कहीं पर भी लकड़ी से बने मंदिर को लगा सकते हैं।

sangmarmar mandir.

ग्रेनाइट पूजा कक्ष डिजाइन।

granite designs for pooja room : ग्रेनाइट से बना पूजा कक्ष देखने में बहुत ही आकर्षक लगता हैं। ग्रेनाइट से बने पूजा कक्ष को आप पूजा करने के लिए काम में ले सकते हैं। इसे नए जैसा चमकाने के लिए आप दोबारा पॉलिश कर सकते हैं।

घर के मंदिर के डिजाइन। latest pooja room designs. puja room.

pooja room design ideas : क्या आप जानते हैं पूजा रूम कहां होना चाहिए। अगर नहीं जानते हैं तो आज हम आपको वास्तु के अनुसार घर में पूजा रूम कहां होना चाहिए। इसके बारे में विस्तार पूर्वक बताएंगे, तो आइए जानते हैं इस लेख के माध्यम से वास्तु के अनुसार पूजा रूम के बारे में।

वास्तु शास्त्र की प्राचीन परंपराओं के अनुसार, अपनी मूर्तियों और देवताओं को ईशान कोण (उत्तर-पूर्व) की ओर रखना दैवीय निवास से सकारात्मक ऊर्जा के मुख्य स्रोत के रूप में कार्य करता है। यह जीवन सत्य है कि पृथ्वी सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती है। वास्तु का मानना ​​है कि पृथ्वी का यह झुकाव उत्तर-पूर्व दिशा से बहुत सारी सकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित करता है। किसी भी शुभ समारोह को करने के लिए ईशान-कोन को सबसे उपयुक्त स्थान माना गया है।

पूजा कक्ष को एक छोटी सी जगह में रखना मुश्किल हो जाता है। फिर भी, आप एक छोटा सा स्वच्छ और शांतिपूर्ण स्थान पूजा के लिए रख सकते है।  जहां तक संभव हो पूजा करते समय उत्तर पूर्व, पूर्व या उत्तर दिशा की ओर मुंह करने का प्रयास करें।

अपने घर के प्रवेश द्वार के पास एक छोटा तुलसी का पौधा लगाना शुभ होता है। इसके अलावा तुलसी के पौधे की नियमित रूप से देखभाल करनी चाहिए व साथ ही पूजा अर्चना करनी चाहिए ।

प्रतिदिन जल से सूर्य देवता की पूजा करें। वास्तु शास्त्र के अनुसार, यह आपके मनोबल में सुधार करता है और आत्मविश्वास को बढ़ाने में मदद करता है।

पूजा कक्ष भारतीय घरों में अत्यंत आवश्यक हैं। घर बड़ा हो या छोटा सभी भारतीयों के लिए प्रार्थना करने के लिए एक निश्चित स्थान होता है। पूजा करने से व्यक्ति के अंतर्मन की शुद्धि होती हैं।

मंदिर के गेट की डिजाइन। pooja room door designs in plywood.

लकड़ी मंदिर गेट डिजाइन।

door design for pooja room : लकड़ी मंदिर के लिए वास्तु के अनुकूल सामग्री है।लकड़ी के दरवाजे(गेट) पारंपरिक हैं और हमेशा पूजा कक्षों के लिए उपयुक्त होते हैं।

प्लाई का मंदिर।

plywood pooja mandir : लकड़ी के लिए एक समकालीन प्रतिस्थापन, प्लाई मंदिर, सस्ता और निर्माण में आसान है।

ग्लासडोर

glass door designs for pooja room : ग्लासडोर आपके घर के समकालीन डिजाइन के साथ अच्छी तरह से मेल खाता है। स्पष्ट कांच के अलावा, आप पाले से
ओढ़ लिया कांच का उपयोग कर सकते हैं जो अपारदर्शी है या नक्काशीदार कांच का उपयोग कर सकते हैं जो आपको आंशिक दृश्यता देता है।

mandir door jali design.

mandir door jali design.

jali mandir design : जाली वाले दरवाजे लंबे समय तक चलते हैं। यह वेंटिलेशन प्रदान करते हैं। आप बिना किसी चिंता के मंदिर में दीया जलते हुए छोड़ सकते हैं ।

इसके अलावा, यदि आपके पास पर्याप्त जगह है, तो आप एक बाहरी पूजा मंदिर स्थापित कर सकते हैं।

पूजा कक्ष में इन चीजों से परहेज करें

  1. जूते

मूल नियमों में से एक है देवताओं या अपने पूजा कक्ष के सामने कोई भी जूते – चप्पल नहीं रखने चाहिए।

  1. मृतक और पूर्वजों के फोटो फ्रेम्स।

बहुत से लोग अक्सर पूजा कक्ष में अपने मृत प्रियजनों की फ़्रेमयुक्त तस्वीरें रखते हैं। लेकिन वास्तु शास्त्र में कहा गया है कि देवी-देवताओं के पास उनकी तस्वीरें रखना अशुभ हो सकता है और आपके परिवार में अशांति को प्रभावित कर सकता है।

  1. चमड़े के बैग।

हिंदू मान्यताओं के अनुसार किसी भी अशुद्ध वस्तु के संपर्क को रोकना आवश्यक है और चूंकि चमड़ा जानवरों की खाल से बना होता है, इसलिए अपने पूजा कक्ष में चमड़े से बनी कोई भी चीज रखना पाप है।

  1. मूर्ति का प्रकार।

हिंदू धर्म के अनुसार, मंदिर भगवान की पूजा के लिए बनाए जाते हैं लेकिन आपके घर में पूजा कक्ष के लिए, आपको शांतिपूर्ण “गृहस्थ जीवन” के लिए कुछ नियमों का पालन करने की आवश्यकता है। एक प्रचलित मान्यता यह है कि आपको अपने घर में अपने अंगूठे से बड़ा शिवलिंग नहीं स्थापित करना चाहिए।

  1. बासी फूल।

हम में से अधिकांश लोग अपने दैनिक जीवन में व्यस्त हो जाते है इसलिए यदि आप के पास प्रतिदिन ताजे फूलों का उपयोग करने का समय न हो। इसलिए हम उन्हें पहले से खरीद कर भगवान को अर्पित कर देते हैं। हालांकि, बासी फूल चढ़ाने से नकारात्मक ऊर्जा आकर्षित होती है। इसलिए देवताओं को अर्पित करने के लिए बासी फूलों का उपयोग नहीं करना चाहिए।

  1. टूटी हुई मूर्तियाँ। यदि आपके पूजा कक्ष में टूटी हुई मूर्तियों रखी हुई है तो उन्हें तुरंत हटाकर नई फोटो लगा देना। क्योंकि ऐसा कहा जाता है कि ऐसी फोटो अथवा मूर्तियां घर में अशुभ फल देती है।

मंदिर डिजाइन फोटो। लकड़ी के मंदिर की फोटो।

pooja mandir design.

pooja room steps design : हमारे देश में अलग-अलग धर्म के लोग रहते है। लेकिन हिंदू धर्म में पूजा अर्चना का एक अलग ही महत्व होता हैं। सभी अपने-अपने धर्म के ईश्वर की पूजा-पाठ करने के लिए अपने घरों में एक अलग से स्थान दिया जाता है, जिसे हिन्दू धर्म में मंदिर कहा जाता है। आप सभी लोगों के घर में भी मंदिर जरूर होगा। हर कोई व्यक्ति अपने घर में अच्छा-सा मंदिर लगाना चाहते है, ताकि घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहे ,और लकड़ी से बने मंदिर आपके घर को सुन्दर भी बनाता है। 

हम अपने घर को सजाने व सुन्दर बनाने के लिए बाज़ार से अलग-अलग तरह की चीज़े ख़रीद कर लाते है, जिससे की हमारा घर देखने में सुन्दर लगे। 

मगर बहुत बार ऐसा होता है की जो चीज़े हम बाज़ार में ढूंढ़ते है, वो हमें वहाँ पर नहीं मिल पाती है, और अगर मिलती भी है तो काफ़ी महँगी भी रहती है। इसलिए पहले आप price ऑनलाइन (online) भी चेक कर सकते हैं। अगर आपको सस्ता मिलता है, तो आप उसे online ही order कर सकते हैं । 

पूजा करने के लिए उपयोग किये जाने वाले मंदिर को वैसे तो आप offline मार्केट में भी खरीद सकते हैं ।

जितने भी मंदिर मैंने इस आर्टिकल के माध्यम से दिखाए हैं। वह बहुत ही सुन्दर और मजबूती के साथ बनाये गए है।

अगर मंदिर को हम दीवार पर टाँगते है तो ये ज़्यादा भार नहीं झेल पायेगा। इसलिए अपने घर में आप अगर हल्की मूर्तियाँ रखने वाले है तो ही इस मंदिर को खरीद सकते है।  

यदि आप मंदिर खरीदना चाहते है, तो ये मंदिर Best हो सकता है। आप इस मंदिर को अपने घर , दुकान, मॉल इत्यादि में आप कहीं पर भी लगाना चाहते है, तो यह मंदिर आपके लिए सबसे Best मंदिर रहेगा। 

ये मंदिर बहुत ही सस्ता और अच्छा भी है, क्योंकि इसमें मूर्तियाँ को रखने के लिए उचित स्थान होता है। यदि आप छोटी-छोटी मूर्तियाँ अपने मंदिर में रखना चाहते है, तो ये मंदिर आपके घर के लिए बिल्कुल उचित है। 

इस मंदिर को बनाने के लिए मजबूत लकड़ी इस्तेमाल की गयी है। 

अगर आप मंदिर को दीवार पर लगाना चाहते या आप फर्श पर रखना चाहते है ,तो आप दोनों ही प्रकार से आप काम में ले सकते है। 

इस मंदिर में आप पूजा करने के लिए काम में आने वाली जरुरी सामग्री भी रख सकते है। 

और मंदिर को दीवार पर लगाने के लिए मंदिर के पीछे के तरफ दो हुक दिए गए है, जिससे मंदिर को दीवार पर लगाया जा सकता है। उसके लिए बस आपको जहाँ पर भी मंदिर लगाना है उस दीवार पर दो जगह कील लगानी होगी और फिर आप मंदिर को दीवार पर लगा सकते है। 

अगर आप मंदिर को फर्श पर रखना चाहते है तो आप मंदिर को आसानी से फर्श पर खड़ा रख सकते है। 

यदि आप कोई सस्ता और अच्छा वाला मंदिर खोज रहे है तो आप भी इस मंदिर को खरीद सकते हैं। क्योंकि मैंने भी इस मंदिर को खरीदा था, इसलिए मैंने सोचा कि क्यों ना इस मंदिर के बारे में अपने दोस्तों के साथ भी शेयर किया जाए इसी माध्यम से मैंने इस लेख के जरिए। आपको यह समझाने की कोशिश की है की यह मंदिर बहुत ही, सस्ता और अच्छा मंदिर है इससे ज्यादा सस्ता और अच्छा मंदिर मुझे भी अभी तक नहीं मिला ।

यदि आपको पहले वाला मंदिर पसंद है तो आप इसे भी मंगवा सकते हैं या फिर खरीद सकते हैं। लेकिन यदि आपको दूसरा वाला मंदिर अधिक पसंद है तो आप इस मंदिर को भी खरीद सकते हैं। क्योंकि यह वाला मंदिर पहले वाले मंदिर से थोड़ा बड़ा है। इसलिए इस मंदिर में पूजा से संबंधित कई प्रकार की सामग्री जैसे धूप, नारियल, दीया, घंटी मूर्ति इत्यादि कई प्रकार की वस्तुएं जो की पूजा के लिए काम में आती हैं इसके अंदर रख सकते हैं।

दोस्तों मैंने यहां पर आपको पूजा करने के लिए काम में आने वाले मंदिर के बारे में बताया हैं। यदि आपको इनमें से कोई भी मंदिर पसंद है तो आप उस मंदिर को खरीद सकते हैं।

Online मंदिर खरीदने के काफी सारे फायदे होते हैं। क्योंकि ऑनलाइन (Online) मंदिर खरीदने पर कभी-कभी ऑफर (offer) होने पर सस्ती price में भी मंदिर उपलब्ध हो जाता हैं।

और यदि आपको मंदिर खरीदने के बाद पसंद नहीं आया हो तो आप उसे 7 या 8 दिन के अंदर वापस भी भेज सकते हैं ,और अपना पैसा वापस पा सकते हैं।

फर्नीचर होम मंदिर डिजाइन।

furniture ka mandir : मंदिर को सबसे शुद्ध स्थानों में से एक माना जाता हैं। जहां व्यक्ति परमात्मा से जुड़ता है। एक आम धारणा यह है कि घर में मंदिर लाने से देवता आमंत्रित होते हैं ,और भक्त और मूर्ति के बीच एक मजबूत बंधन बनता है। इसके अलावा, एक घर का मंदिर आसपास के वातावरण में भाग्य, समृद्धि और सकारात्मकता लाता है। घर में आने वाले नकारात्मक ऊर्जा को खत्म करता हैं।

मंदिर हमें दिल से प्रार्थना करने की बुद्धि देता हैं। अधिकांश वास्तु शास्त्र यही सलाह देते हैं कि घर का मंदिर लकड़ी का होना चाहिए क्योंकि यह शुद्ध है, और आपके स्थान पर पवित्रता फैलाते हुए देवताओं को एक घरेलू निवास देता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार यह भी सुझाव दिया गया है कि घर के मंदिरों को लगाने के लिए सबसे अच्छी जगह उत्तर-पूर्व दिशा हैं।

furniture ke mandir.

 
मार्बल (marble) मंदिर की डिजाइन।

marble mandir design : संगमरमर (marble) के बारे में आप सभी जानते ही होंगे की संगमरमर देखने में अत्यंत सुंदर होता है जो कि लोगों के मन को अतिरिक्त प्रिय हैं। भारतीय घरों में पूजा कक्ष होने का बहुत महत्व है। एक कमरा जिसमें भावना और भक्ति का पहलू होता है, उसमें सबसे अच्छा डिज़ाइन होना चाहिए। एक सुंदर स्थान बनाने में आपकी मदद करने के लिए, हम संगमरमर के मंदिर डिज़ाइन लाए हैं।संगमरमर से बने पूजा मंदिर डिजाइनों के बारे में जानने के लिए मेरे द्वारा लिखे इस आर्टिकल को अवश्य पढ़ें।

संगमरमर (marble)पूजा मंदिर डिजाइन तुलना से परे हैं ।जब सौंदर्यशास्त्र और स्थायित्व दोनों की बात आती है, तो संगमरमर का सौंदर्य अनोखा है।  संगमरमर से बने पूजा मंदिर में सामग्री रखने के लिए अन्य कई प्रकार के स्टाइलिश स्थान बनाए जाते हैं। जिसमें आप पूजा के लिए काम में आने वाले सामग्री को आसानी से रख सकते हैं। संगमरमर पूजा मंदिर देखने में भी बेहद आकर्षक लगता है।

संगमरमर अर्थात मार्बल(marble) से बने पूजा मंदिर डिजाइन को बनाने के लिए आप नीचे दी गई डिजाइन में से किसी भी एक मंदिर की डिजाइन को चुन सकते हैं, और अपने घर में बेहतरीन संगमरमर से बना पूजा मंदिर स्थापित कर सकते हैं। मार्बल को आप अपने बजट के हिसाब से कम व ज्यादा भी लगा सकते हैं, यह आपके बजट पर अनुभव करता है।

marble mandir design.

मार्बल का मंदिर डिजाइन। मार्बल का मंदिर। मार्बल मंदिर।

संगमरमर से बने मंदिर के डिजाइन सरल लेकिन बेहद आकर्षक होते हैं। छोटे घरों के लिए संगमरमर एक आदर्श विकल्प है। संगमरमर(marble) के इस मंदिर के डिजाइन को आपके घर की दैनिक पूजा की जरूरतों के अनुरूप भी अनुकूलित किया जा सकता है। संगमरमर के शीर्ष के नीचे लकड़ी के दराजों की एक पंक्ति है जो हर रोज पूजा की वस्तुओं को सुव्यवस्थित रूप से रखने के काम में आती हैं।

मार्बल मंदिर डिज़ाइन। marble mandir design.

संगमरमर के मंदिर में बॉक्स का डिजाइन हैं, इसलिए यह और भी लुभावना लगता है।  संगमरमर से बने मंदिर में सजावट के तौर पर रोशनी वाली पैनल भी लगी हुई हैं। संगमरमर मंदिर के पीछे की छवि दीयों, घंटियों से घिरी हुई है। शुद्ध सफेद संगमरमर पर चमकते हुए पडने वाली पीली रोशनी आनंदमय आकर्षण देती हैं।

मार्बल के मंदिर की डिजाइन। sangmarmar mandir design.

sangmarmar mandir for home : अगर आपके घर में पहले से ही संगमरमर का फर्श है, और आप इसे अपने मंदिर में शामिल करने के अनूठे तरीकों की तलाश कर रहे हैं, तो यह जाली डिजाइन सबसे उपयुक्त है।  जो कि एकरूपता का भ्रम पैदा करता हैं।

मार्बल डिजाइन पट्टी।

मार्बल मंदिर की पट्टी देखने में बेहद ही आकर्षक होती हैं। मार्बल मंदिर की पट्टी की डिजाइन को आप घर या मंदिर दोनों में ही बना सकते हैं। मार्बल की पट्टी अलग-अलग कलर अर्थात रंगों में दर्शायी जाती है ,अलग-अलग कलर का अपना अलग ही महत्व होता है, जो कि अपने आप में देखने में बेहद अनोखी लगती हैं। आज हम आपको ऐसे कई मार्बल पट्टी डिजाइन के बारे में बताएंगे। जिन्हें देखकर आप भी अपने लिए इनमें से कोई भी एक पट्टी को चुन सकते हैं, और अपने घर अर्थात मंदिर हेतु काम में ले सकते हैं, तो आइए जानते हैं मार्बल पट्टी डिजाइन के बारे में।

मार्बल मंदिर फोटो।

marble mandir ki photo .


संगममार मंदिर की कीमत। sangmarmar mandir price.

संगमरमर से बने छोटे व बड़े मंदिर की price अलग-अलग होती है। अलग-अलग आकार अथवा अलग-अलग डिजाइन के मुताबिक संगमरमर से बने मंदिर की price अलग-अलग रखी गई है। संगमरमर से बने मंदिर देखने में बेहद सुंदर व आकर्षक होते हैं। संगमरमर से बने मंदिर को हम online अथवा offline दोनों ही प्रकार से खरीद सकते हैं। संगमरमर से बने मंदिर को खरीदने के लिए आप ऑनलाइन Amazon पर भी आसानी से खरीद सकते हैं। यदि आप ऑनलाइन मंदिर नहीं खरीदना चाहते हैं, तो आप offline भी बाजार (market)में उपलब्ध कई प्रकार के संगमरमर से निर्मित मंदिर मिल जाते हैं। इसलिए आप दुकानों से भी संगमरमर से बने मंदिर को खरीद सकते हैं।

sangmarmar mandir

मंदिर का गुंबद डिजाइन। Temple dome design.

गुंबद अक्सर मंदिरों के ऊपरी हिस्से पर बनाए जाते हैं जो कि गुंबद अथवा शिखर (चोटी) के नाम से जाने जाते हैं। किसी भी मंदिर के शिखर (गुंबद) दर्शन करने से पापों का नाश होता है।
यदि आप रोज भगवान के दर्शन करने मंदिर नहीं जा पाते तो जहां कहीं भी किसी मंदिर का शिखर दिखाई दे। वहां से भगवान को याद करके गुंबद के दर्शन कर लेना चाहिए।
क्योंकि हिंदू धर्म में मंदिर के गुंबद दर्शन को भी भगवान के दर्शन के बराबर ही पुण्य देने वाला बताया गया है। मंदिर का शिखर भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना भगवान की प्रतिमा या मूर्ति।
गुंबद के दर्शन करते समय इस बात का ध्यान रखें कि मन पूरी तरह से शांत हो और मन में भगवान का ही नाम हो। इससे मानसिक शांति के साथ उचित फल भी मिलता है।
 
इसलिए यदि आपके पास मंदिर जाने का वक्त नहीं है। तो आप शिखर के दर्शन करके भी अपने देवताओं को याद कर सकते हैं। हिंदू धर्म में गुंबद के डिजाइन कई प्रकार के होते हैं ,जो कि अत्यंत सुंदर होते है। ऐसी ही कुछ बेहतरीन डिजाइंस के बारे में हम आपको बताएंगे।

mandir ka gumbad dijain.

गेट मंदिर डिजाइन।

puja room designs.

पत्थर के मंदिर की डिजाइन।

patthar ke mandir ke design.

पूजा घर डिजाइन। pooja room design for home

pooja ghar design : पूजा कमरा अथवा पूजा स्थल के बिना हर भारतीय घर अधूरा माना जाता हैं। क्योकि ये वो स्थान है, जहां परिवार के सदस्य प्रत्येक दिन पूजा कर सकते है। घर चाहे कितना भी बड़ा या छोटा क्यूं ना हो, उसमें एक छोटा सा पूजा का कमरा तो जरुर होता है। घर के अंदर एक पूजा का कमरा होना बहुत जरुरी है क्योंकि इससे घर में तथा इसमें रहने वालों को एक सकारात्मक ऊर्जा मिलती है। पहले के समय में तो लोग दीवार की एक पट्टी पर भगवान की तस्वीरे रखकर पूजा कर लेते थे। लेकिन आजकल पूजा रूम में काफी वैरायिटी देखने को मिलती है। अगर आप भी अपने घर के हिसाब से पूजा घर के डिजाइन्स ढूंढ रहे हैं तो आप यहां से आइडिया ले सकते हैं।

पूजा घर भारतीय घरों का अहम हिस्सा होते हैं। अगर आपका घर इतना बड़ा नहीं है कि पूजा का अलग कमरा हो तो आप घर के किसी कोने में अपनी पसंद का खूबसूरत मंदिर रख सकते हैं। आज हम आपको मशहूर पूजा घरों के डिजाइन्स व अन्य विकल्पों के बारे में बताएंगे, जिसमें से आप पूजा घर डिजाइन चुन सकते हैं।

पूजा रूम (pooja room) में संगमरमर की सीढ़ी और चमकदार वॉलपेपर खूबसूरती बढाने के साथ साथ शांति भी पैदा करते हैं। साइड में बड़ी- बड़ी खिड़कियों से आती ढेर सारी रोशनी पूजा रूम को मिट्टी के बेहतरीन दिखाने में मदद करता है।

छोटा मंदिर। chhota mandir.

small mandir : की डिजाइन अर्थात छोटा मंदिर का डिज़ाइन छोटे घरों और अपार्टमेंट्स, जिनमें पूजा घर के लिए अलग से जगह नहीं होती, उनमें छोटे मंदिर बेहतर विकल्प होते हैं. बाजार में ये मंदिर आसानी से उपलब्ध हैं। आइए जानते हैं ,छोटे मंदिर के बारे में।

pooja room designs in wood.

लाइट डेकोरेशन डिज़ाइन। Light decoration design.

मंदिर के लिए लाल, पीला और नारंगी जैसे चमकीले रंगो का प्रयोग करें। क्योंकि गहरे रंगों को जोड़ने से आपके छोटे मंदिर को सकारात्मक ऊर्जा मिल सकती है चाहे यह घर के अंधेरे कोने में स्थित क्यों न हो। दीवार पर देवताओं का चिन्ह पूजा क्षेत्र में एक धार्मिक प्रभाव डालता है। साथ ही अलग-अलग कलर वाली लाइट का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा विभिन्न रंगों वाली लाइटों के माध्यम से मंदिर की डेकोरेशन कर सकते हैं।

लकड़ी का मंदिर। Wooden Temple.

lakadee ka mandir : सभी तरह की सजावट और फिशिनिंग के साथ लकड़ी का मंदिर और भी खूबसूरत लगता हैं । ऐसे पूजा घर जगह को और विशाल बना देते हैं। हालांकि लकड़ी की सजावट में खास देखभाल की जरूरत होती है, इसलिए आपको कमरे में दीया और मोमबत्ती जलाते हुए सावधानी बरतनी होगी। क्योंकि लकड़ी से बने मंदिर में आग लगने का खतरा अधिक रहता हैं। इसके अलावा, लकड़ी पूजाघर में गर्माहट लाती है। अगर आपके यहां पर्याप्त जगह नहीं है तो आप छोटा पूजाघर का डिजाइन चुन सकते हैं। बड़े घरों के लिए, नया लकड़ी का मंदिर बनवाने के बजाय आप पुरानी लकड़ी को फिर से कलर करके लकड़ी के मंदिर के डिजाइन बना सकते हैं। इसमें आप अपनी मर्जी के मुताबिक फिनिशिंग करा सकते हैं। लकड़ी के बने पूजा मंदिर में अलग-अलग कलर से डिजाइन बनाने पर मंदिर देखने में अत्यंत प्रिय लगता है।

मंदिर डिजाइन घर के लिए। mandir designs.

हमारे छोटे घरों में जगह की कमी हमें कुछ त्याग करने के लिए प्रेरित करती है। जिन आवश्यक क्षेत्रों को शामिल करना अधिक कठिन होता जा रहा है। उनमें से एक उचित पूजा कक्ष है, क्योंकि पुराने अपार्टमेंट के विपरीत, नए में पूजा के लिए एक समर्पित स्थान नहीं है। लेकिन अगर आपके अपार्टमेंट में पूजा कक्ष नहीं है, तो भी चिंता न करें। हमारे पास घर के डिजाइन के लिए कुछ बहुत ही व्यावहारिक और मंदिर डिजाइन (mandir designs)हैं।

मंदिर के बिना हर भारतीय घर अधूरा है। तो, हमारे सर्वोत्तम डिज़ाइन में से अपनी पसंद का घर के लिए उपयुक्त मंदिर डिजाइन चुनें।

पूजा घर मंदिर डिजाइन फोटो।

पूजा कक्ष डिजाइन। पूजा घर का डिजाइन।

house mandir design : पूजा कक्ष डिजाइन मंदिर समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं और देसी पसंदीदा बने हुए हैं। भारतीय पूजा कक्षों में उपयोग की जाने वाली मुख्य लकड़ी की किस्में सागौन की लकड़ी, शीशम की लकड़ी और आम की लकड़ी हैं। वास्तु शास्त्र के अनुसार शीशम की लकड़ी को सबसे शुभ माना जाता है। पूजा कक्ष को डिजाइन करने के लिए आप विभिन्न कलर के मोमबत्ती,घंटी,दीया,रोशनी हेतु लाइट, साथ ही आप पूजा कक्ष में डिजाइन हेतु दीवार पर देवताओं की मूर्ति का प्रिंट भी बना सकते हैं जिससे कि पूजा कक्ष का डिजाइन देखने में अत्यंत लुभावना लगता है। ऐसे ही कुछ डिजाइंस के बारे में हम आपको दिखाएंगे जिन्हें देखकर आप भी अपने पूजा घर का डिजाइन अपनी पसंद के हिसाब से कोई भी एक डिजाइन चुन सकते हैं।

लिविंग रूम ।

क्या आपके लिविंग रूम में एक खाली कोना है? फिर इस मंदिर के डिजाइन पर विचार करें जिसमें मूर्ति के लिए एक लकड़ी का मंच और एक ज्यामितीय-पैटर्न वाला बैक पैनल है। यह मंदिर घंटियों और एक चमकदार लटकन रोशनी से भी सुसज्जित है। यहां का बैक पैनल लकड़ी की पट्टियों से बना है जो इसे अनूठी बनावट देता है।

वुडन पूजा रूम। lakdi ka mandir

पूजा रूम में संगमरमर की सीढ़ी और चमकदार वॉलपेपर खूबसूरती बढाने के साथ – साथ शांति भी पैदा करते हैं। साइड में बड़ी – बड़ी खिड़कियों से आती ढेर सारी रोशनी पूजा रूम को अत्यधिक आकर्षक दिखाने में मदद करती है।

फ्लोटिंग वुडन टेम्पल।

इस भव्य मंदिर डिजाइन के साथ जगह बचाएं। खुली और बंद अलमारियों की विशेषता, इसका शीर्ष वह स्थान है, जहाँ आप मूर्ति रखते हैं। इसे अलग दिखाने के लिए सुंदर पैटर्न दें।

mandir design for home.

यदि आप मंदिर घर पर डिजाइन करना चाहते हैं तो जाली वाला मंदिर भी खूबसूरत होता है जो कि हर कोई व्यक्ति पसंद करता हैं। यदि आप अपने घर में जाली लगाने का विचार कर रहे हैं, तो मंदिर एक आदर्श स्थान है। इस डिज़ाइन पर सफेद संगमरमर और हल्की लकड़ी के संयोजन के बाद, मंदिर को उत्तम जाली द्वारा जीवंत किया गया है। जाली फ्रेम के बारे में सबसे अच्छी बात यह है कि वे आपको आंशिक दृश्यता भी देते हुए वायु-संचार की अनुमति देते हैं। साथ ही देखने में भी आकर्षक लगते हैं।

वुडन मंदिर डिजाइन।pooja room door designs in wood.

यह एक कॉम्पैक्ट घर है, लेकिन न्यूनतम डिजाइन पसंद नहीं है। घर के लिए तैरते लकड़ी के इस मंदिर पर एक नज़र डालें। गहरे रंग की लकड़ी से बना यह मंदिर पारंपरिक है जिसके ऊपर गोपुर है। ध्यान दें कि पूजा कक्ष के सामान रखने के लिए छोटी खुली अलमारियां भी हैं। इसमें पूजा का सामान आसानी से रखा जा सकता है।

god room design.

इस भव्य मंदिर डिजाइन के साथ जगह बचाएं। खुली और बंद अलमारियों की विशेषता, इसका शीर्ष वह स्थान है जहाँ आप मूर्ति रखते हैं। इसे अलग दिखाने के लिए सुंदर पैटर्न हैं ।

wooden mandir design.

पूजा घर डिजाइन। puja ghar design.

god room design : चूंकि एक दरवाजे के साथ यह संकरा है। यह लगभग एक मिलती-जुलती दीवार के सामने छिप जाता हैं। दीवार और दरवाजे दोनों का एक ही रंग साझा करते हैं। इसलिए यदि आप दीवारों के लिए एक मंदिर डिजाइन की तलाश कर रहे हैं, तो यह विचार दीवार पर भगवान के एक बड़े चित्र को टांगने से कहीं बेहतर विकल्प है।

पूजा घर होम मंदिर डिजाइन। pooja mandir designs for home.

temple room designs for home : पूजा घर का भारतीय घरों में एक विशिष्ट स्थान हैं। जो आपको सबसे अधिक आराम देता है और आपको अपने आध्यात्मिक आत्म से जुड़ने में मदद करता है। जैसे ही हम भारत में अधिकांश घरों में प्रवेश करते हैं, मंदिर एक अभिन्न अंग प्रतीत होता है। इसलिए, घर के अनुसार मंदिर का सही डिजाइन महत्वपूर्ण है। यदि आप पूजा घर होम मंदिर डिजाइन चुनना चाहते हैं तो यह मंदिर आपके लिए एक बेहतर मंदिर हैं।

इसमें पूजा सामग्री,और रोशनी सबसे महत्वपूर्ण, सुरक्षा हैं। आखिरकार, जिस कमरे में घंटों जलता हुआ दीया रहता है, उसकी सुरक्षा सर्वोपरि है।

जब हम पूजा मंदिर डिजाइन की बात करते हैं, तो चुनने के लिए कई विकल्प हैं। अपने घर के लिए आप पूजा घर डिज़ाइन का चयन कर सकते हैं।

पूजा कक्ष का डिज़ाइन कोने में। pooja kaksh ka dizain kone mein.

इस डिजाइन में पूजा कक्ष के दरवाजे और पूजा कक्ष में मौजूद स्थान को कोने में फिट करने के लिए तैयार करते हैं। ये अलमारियां और पूजा कक्ष के दरवाजे के डिजाइन पूजा कक्ष के वांछित माहौल में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

आप अपने पूजा कक्ष को अपने घर के किसी ऐसे क्षेत्र में बना सकते हैं जिसका नियमित रूप से उपयोग नहीं किया जाता है। पूजा कक्ष सजावट के विचारों का उपयोग करके, आप सजाने के लिए विभिन्न प्रकार की वस्तुओं का भी उपयोग कर सकते हैं।

खिड़की के साथ पूजा कक्ष डिजाइन।

पूजा घर मंदिर डिजाइन फोटो।

पूजा कक्ष उचित हवादार और रोशनी वाला होना चाहिए, जिसमें उत्तर और पूर्व की दीवारों पर दरवाजे और खिड़कियां हों। यदि खिड़कियां विकल्प नहीं हैं, तो अच्छी प्रकाश व्यवस्था भी अच्छा विकल्प है।

अलग पूजा कक्ष डिजाइन। Different pooja room design.

यदि आपके घर में पर्याप्त जगह है, तो आप आसानी से एक कमरे को पूजा स्थल में बदल सकते हैं। अपने पूजा स्थान को ठीक करने के लिए, कुछ फ़्रेमयुक्त मूर्तियों, देवताओं, रोशनी और दीया लगाएं। हालाँकि, ध्यान रखें कि पूजा स्थान पर जहां तक हो सके गंदगी ना फैलाएं।

मंदिरों की डिजाइन। puja mandir designs.

pooja mandir for home designs : आज के युग में मंदिरों की डिजाइन अलग-अलग प्रकार की होती है जो कि देखने में अत्यंत प्रिय होती है! व बेहद आकर्षक भी होती है, इसके अलावा मंदिरों की डिजाइन बनाने के लिए कई प्रकार के रंग जैसे कि लाल, हरा, पीला व नारंगी इत्यादि कलर का अधिक इस्तेमाल किया जाता हैं। क्योंकि मंदिर में यह कलर अत्यधिक सुंदर लगते हैं । लेकिन मंदिर के कार्य में काले और नीले कलर का इस्तेमाल नहीं किया जाता है क्योंकि काले और नीले रंग को मंदिर के कार्य के लिए शुभ नहीं माना जाता इसके अलावा मंदिर की डिजाइन खिड़की दरवाजे को भी सजाकर खूबसूरत बनाई जा सकती हैं। मंदिर की डिजाइन अत्यधिक खूबसूरत करने के लिए दीवार पर देवताओं से संबंधित वॉलपेपर भी लगा सकते हैं ऐसे ही कुछ मंदिर की डिजाइन के बारे में हम आपको दिखाएंगे तो आइए देखते हैं मंदिर की डिजाइन ।

मंदिर डिजाइन घर के लिए लकड़ी। wood mandir design.

लंबे समय तक चलने वाला लकड़ी से बना मंदिर घर, ऑफिस, कार्यालय इत्यादि में मंदिर डिजाइन घर के लिए लकड़ी को काम में लिया जाता हैं। लकड़ी से बना मंदिर एक आधुनिक मंदिर है, जो कि लगभग प्रत्येक घर में देखने को मिलता है सबसे पहले मार्केट में उपलब्ध मंदिरों में से प्रमुख मंदिर डिजाइन घर के लिए लकड़ी मंदिर डिजाइन ही हैं । जो कि आज भी लोगों की पहली पसंद बनी हुई हैं। लकड़ी से बने मंदिर की बनावट भी ठोस होती है व सजावट भी सुंदर होती हैं, इसलिए घर के लिए मंदिर डिजाइन लकड़ी का अधिक बनाया जाता हैं। लकड़ी से बने मंदिर की एक खास बात यह भी है कि इसे आप घर के किसी भी कोने में रख सकते हैं दीवार पर भी लगा सकते हैं व जमीन पर भी रख सकते हैं।

मंदिर कलर डिजाइन। mandir kalar dijain.

Temple Color Design : अब हम आपको मंदिर कलर डिजाइन के बारे में बताएंगे मंदिर कलर डिजाइन कई प्रकार से किया जा सकता है मंदिर कलर डिजाइन बनाने के लिए भिन्न भिन्न प्रकार के कलर की आवश्यकता होती है भिन्न-भिन्न कलर से बनी मंदिर की डिजाइन अत्यंत आकर्षक लगती है मंदिर कलर करने के लिए आप लाल और हरे रंग के प्रयोग से मंदिर की दीवार पर बनाई गई डिजाइन अत्यधिक सुंदर लगती है इसके अलावा नारंगी और पीले कलर का भी इस्तेमाल मंदिर के कलर डिजाइन हेतु उपयोग में लिया जाता हैं। कलर किया गया मंदिर देखने में इतना आकर्षक लगता है कि जिसको देखने पर व्यक्ति के अंतर्मन को शांति महसूस होती हैं। मंदिर में भगवान की मूर्ति के दर्शन करने पर व्यक्ति के मन को शांति मिलती है इसके अलावा व्यक्ति खुद को सभी दुखों व बंधनों से मुक्त महसूस करता हैं।
आप भी हमारे द्वारा बताए गए कलर डिजाइन का इस्तेमाल करके अपने घर पर बने मंदिर को सजा सकते हैं।

मंदिर बनाने की डिजाइन। pooja mandir designs.

mandir designs for home : मंदिर बनाने की डिजाइन कई प्रकार से होती है मंदिर बनाने के लिए विभिन्न प्रकार के डिजाइन तैयार किए जाते हैं ,दरअसल ,अलग-अलग प्रकार के मंदिरों में इन डिजाइंस का इस्तेमाल किया जाता हैं।
मंदिर कई प्रकार की डिजाइन से बने होते हैं जैसे कि पत्थर से बने मंदिर, संगमरमर से बने मंदिर, अर्थात मार्बल से बने मंदिर ,लकड़ी से बने मंदिर, प्लाई का मंदिर , जाली गेट डिजाइन मंदिर, खिड़की वाले मंदिर, बॉक्स वाले मंदिर, लोहे की खिड़की से बने मंदिर, इत्यादि अनेक प्रकार के मंदिर मार्केट में ऑनलाइन व ऑफलाइन कई प्रकार से उपलब्ध हैं । इनमें से आप अपने घर व ऑफिस हेतु किसी भी एक मंदिर की डिजाइन को चुनकर मंदिर बनाने के लिए काम में ले सकते हैं।

प्लाई का मंदिर। plywood ke mandir.

plywood ke mandir

मार्केट में उपलब्ध कई प्रकार के मंदिर मिलते हैं उनमें से एक हैं प्लाई का मंदिर। प्लाई से बने मंदिर को बनाने के लिए अधिक मेहनत भी नहीं लगती हैं। प्लाई से बने मंदिर को बनाने के लिए लकड़ी व प्लाई की आवश्यकता होती हैं। लकड़ी से बने मंदिर पर प्लाई लगाने से मंदिर की सौंदर्यता और अधिक बढ़ जाती हैं। प्लाई के मंदिर की सफाई भी आसानी से हो जाती है इसकी सफाई करने में भी अत्यधिक मेहनत की जरूरत नहीं होती हैं। प्लाई वजन में भी हल्की होती है इसलिए इस मंदिर को ऊपर उठाना भी आसान होता है और प्लाई वाले मंदिर को आप दीवार पर भी टांग सकते हैं।

सिंपल मंदिर डिजाइन। simple pooja mandir designs.

simple pooja mandir designs for home : सिंपल अर्थात साधारण मंदिर की डिजाइन बनाने के लिए पैसों की आवश्यकता भी कम होती है यदि आपका घर छोटा है तो आप सिंपल मंदिर डिजाइन को चुन सकते हैं यह मंदिर डिजाइन ही आपके लिए Best मंदिर डिजाइन हैं। सिंपल मंदिर देखने में अत्यंत लुभावने लगते हैं इस मंदिर को बनाने के लिए आप लकड़ी का इस्तेमाल करें इसके अलावा इस मंदिर को सजाने के लिए कलर का इस्तेमाल करें।

घर के मंदिर की सजावट। मंदिर की सजावट।

temple at home design : मंदिर की सजावट अर्थात घर के मंदिर की सजावट करने के लिए कई प्रकार की चीजों का इस्तेमाल कर सकते हैं। सजावट के लिए काम में आने वाली चीजें हैं जैसे कि – दीया, मोमबत्ती, मूर्ति, घंटी,कलश नारियल इत्यादि के इस्तेमाल से आप मंदिर अर्थात घर की सजावट कर सकते हैं । मार्केट में उपलब्ध कई प्रकार के डिजाइन वाले दीये मिलता है जिसको मंदिर की सजावट के लिए काम में ले सकते हैं। इसके अलावा colourful मोमबत्ती का इस्तेमाल करके भी आप मंदिर को सजा सकते हैं। पूजा के लिए काम में आने वाली घंटी भी मंदिर की सजावट को बढ़ाती है। इसके अलावा कलश पर नारियल रखकर भी मंदिर को सजा सकते हैं । देवताओं की मूर्ति को फूलों से सजा सकते हैं फूलों से बनी डिजाइन से भी आप मंदिर को डेकोरेट कर सकते हैं। मंदिर में अलग-अलग कलर से बनी रोशनी वाली लाइट लगाकर भी मंदिर की खूबसूरती में चार चांद लगा सकते हैं।

मंदिर के कलर।

मंदिर के कलर।

पूजा घर में जाते  ही हमारे भीतर सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है और नकारात्मकता अपने आप खत्म होती चली जाती है। इसी सकारात्मकता को बनाये रखने के लिए पूजा घर में उचित रंग का होना बहुत जरूरी है।

वास्तु के अनुसार पूजा घर के लिए दिवारों पर हल्के पीले रंग को सबसे शुभ माना जाता है, इसके अलावा आप लाल, गेरुआ या केसरिया रंग भी करवा सकते हैं। आप इस वास्तु टिप्स को अपनाकर अपने पूजा घर का वास्तुदोष दूर कर सकते हैं।

आप मंदिर में हमेशा हल्का पीला या फिर नारंगी रंग करवा लेंगे तो बहुत शुभ होगा। इसी के साथ घर के मंदिर में हमेशा हल्की पीली लाइट का प्रयोग करना चाहिए और घर के मंदिर में गहरे नीले रंग का प्रयोग भूलकर भी नहीं करना चाहिए क्योंकि यह शुभ नही होता हैं।

लकड़ी मंदिर गेट डिजाइन। Wood Temple Gate Design.

lakadee mandir get dijain : जब भी आप नया घर बनवाते है तो उस घर में आप लकड़ी मंदिर गेट डिजाइन के बारें में जरूर सोचते है तो आप मंदिर की डिज़ाइन को ले के काफी परेशान रहते है | आज कल बाजार में बहुत सारे लकड़ी मंदिर गेट डिज़ाइन उपलब्ध है | आज कल मार्किट में आपको लकड़ी, मार्बल और अन्य कई प्रकार के मंदिर आसानी से मिल जाते है अगर आप भी लकड़ी का मंदिर खरीदने की सोच रहे हैं, तो नीचे दिए गए मंदिर में से आप लकड़ी मंदिर गेट डिजाइन चुनकर आप अपने घर के लिए खरीद सकते है |

मंदिर शिखर कलर। मंदिर कलर पेंट।

Temple Shikhar Colour : मंदिर शिखर कलर की अगर बात की जाए तो मंदिर शिखर कलर अर्थात गुम्बद आकार सबसे अच्छा होता है। इस तरह की छत के नीचे बैठकर पूजा-अर्चना करने से मन को शांति मिलती है और चेहरे पर प्रसन्नता बनी रहती है। वहीं अगर रंगों की बात करें तो मन्दिर शिखर कलर के लिए हल्के रंगों का प्रयोग करना चाहिए। जैसे सफेद, आसमानी, हल्का पीला या हल्का गुलाबी, मन्दिर शिखर कलर में काले रंग का प्रयोग करना वर्जित है।

6 फीट का पूजा मंदिर। 6 feet pooja mandir.

6 pheet ka pooja mandir : अब हम आपको 6 feet pooja mandir. के बारे में बताएंगे 6 फीट पूजा मंदिर भी देखने में अत्यंत सुंदर लगते हैं। यदि आपका घर बड़ा है और आपके घर में 6 फीट से बने मंदिर को रखने के लिए पर्याप्त जगह है तो ऐसे में आप 6 feet pooja mandir.को चुन सकते हैं क्योंकि 6 फीट पूजा मंदिर में पूजा का सामान रखने के लिए पर्याप्त जगह होती हैं। इसके अलावा इसकी बनावट भी आकर्षक होती है, जो कि हर किसी को पसंद आती है, यदि आप 6 फीट पूजा मंदिर को अपने घर में लाने के बारे में सोच रहे हैं, तो यह भी एक Best पूजा मंदिर हैं।

मंदिर बनाने की डिजाइन।

मंदिर डिजाइन फोटो। plywood ka mandir

plywood ka mandir image.

मंदिर का नक्शा चाहिए। मंदिर बनाने का नक्शा।

mandir ka naksha.