झूठ कैसे पकड़ें। झूठे आदमी की पहचान।jhoot pakadne wali machine.

झूठ कैसे पकड़ें।

झूठ कैसे पकड़ें। किसी भी व्यक्ति का झूठ कैसे पकड़े। झूठ कैसे पकड़े व्यक्ति के चेहरे पर ध्यान दें। झूठ कैसे पकड़े व्यक्ति की मुस्कुराहट पर गौर करें। झूठ कैसे पकड़े चेहरे का हाव भाव पर गौर करें। झूठ कैसे पकड़े आवाज में बदलाव आता है झूठे व्यक्ति के उस पर ध्यान दें। झूठ कैसे पकड़े व्यक्ति बातों को कैसे बोल रहा है,उस पर गौर करें। झूठ कैसे पकड़े बातों को कैसे घुमाया जा रहा है उस पर ध्यान दें। क्या आप जानते हैं, कि झूठ कैसे पकड़े? झूठ का पता किस प्रकार लगाएं। कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। यदि आप नहीं जानते हैं, तो आप हमारे द्वारा लिखे इस आर्टिकल की मदद से यह जान सकते हैं, कि झूठ कैसे पकड़े। यदि कोई व्यक्ति झूठ बोल रहा है तो उसके झूठ का पता आप किस प्रकार से लगा सकते हैं, इसके बारे में विस्तार पूर्वक चलिए जानते हैं।

अगर कोई व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं, और आप उसके झूठ का पता लगाना चाहते हैं। तो इसके लिए आपको उसके चेहरे के हाव – भाव व हर प्रकार की एक्टिविटी पर खास तरह से ध्यान देना होगा। जिससे कि आप यह पता लगा सकते हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। हर व्यक्ति किसी ना किसी समय पर झूठ का सहारा लेता हैं,चाहे किसी भी वजह से बोले। कई बार इंसान झूठ बोलने को मज़बूरी रहता हैं। तथा कुछ लोगों को झूठ बोलने की आदत रहती हैं, और वो बार-बार हर बात पर झूठ बोलते हैं। अपनी गलतियों को छुपाने के लिए सच का सामना नहीं करते। तो ऐसे में आप झूठ का पता किस प्रकार से लगा सकते हैं! चलिए, देखते हैं।

1) झूठ कैसे पकड़ें व्यक्ति के चेहरे पर ध्यान दें।

झूठ कैसे पकड़ें। दरअसल, जब व्यक्ति झूठ बोल रहा हो तो उसके चेहरे पर ध्यान दें। झूठ बोलते समय चेहरे के भाव बिल्कुल बदल जाते हैं। झूठ बोलते समय गालों का रंग बदल जाता हैं। क्योंकि भीतर झूठ पकड़े जाने के डर से उसकी गाल लाल हो जाती हैं। इसके अलावा गहरी सांस लेना, बार-बार पलकें झपकाना और होंठ चबाना इस बात को इंगित करते हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

2). झूठ कैसे पकड़ें नाक व मुँह को पोछने पर ध्यान दें।

झूठ कैसे पकड़ें। झूठ बोलते समय लोगों की नाक व मुँह को पोछने पर ध्यान दें। क्योंकि जब वह झूठ बोलते हैं तो उन्हें इस बात का डर रहता हैं, कि उनका झूठ पकड़ा न जाए। ऐसे में वह अपने नाक और मुंह को बार-बार पोछतें रहते हैं।

3). झूठ कैसे पकड़ें मुस्कुराहट पर गौर करें।

झूठ कैसे पकड़ें। यदि आप किसी व्यक्ति का झूठ पकड़ना चाहते हैं, तो आप उसकी मुस्कुराहट पर खास तरीके से गौर करें। कि सामने वाला मुस्कुरा कैसे रहा है। सच्ची मुस्कुराहट होंठों से झांकती है, लेकिन झूठे शख्स की मुस्कुराहट होंठों से झांकती नहीं हैं। सिर्फ होंठो पर दिखती हैं।

4). झूठ कैसे पकड़ें चेहरे के हाव- भाव पर गौर करें।

झूठ कैसे पकड़ें। अगर कोई व्यक्ति झूठ बोलता हैं, तो उसके चेहरे के हाव-भाव पर गौर करें। क्योंकि जब व्यक्ति झूठ बोलता हैं, तो उसके चेहरे के ऊपर चिंता का कारण दिखाई देने लगता हैं। इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। इसके अलावा यदि कोई व्यक्ति अपने हाथ पैरों को आगे पीछे करने लगता हैं, मुंह को पोंछने लगता हैं। इसका मतलब यह हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। और यदि व्यक्ति सच बोलता हैं, तो वह बिल्कुल आराम से बैठा रहता हैं। वह किसी प्रकार की एक्टिविटी नहीं करता हैं शांत मन रहता हैं। इसके अलावा उसके चेहरे पर भी किसी तरह की कोई शिकन महसूस नहीं होती हैं।

5). झूठ कैसे पकड़ें आवाज में बदलाव।

झूठ कैसे पकड़ें। यदि कोई व्यक्ति झूठ बोलता हैं, और आप उसके झूठ का पता लगाना चाहते हैं। तो इसके लिए आप की आवाज में होने वाले परिवर्तन पर खास तरह से ध्यान दें । क्योंकि जब व्यक्ति झूठ बोलता है तो उसकी आवाज में कंपन महसूस होने लगती हैं। जिसकी आवाज की टोन बदल जाती हैं। ऐसे में वह या तो जल्दी-जल्दी बोलता हैं। ताकि उसकी गलती पकड़ी जाए या फिर आवाज में हिचकिचाहट महसूस होने लगती हैं और वह बात को बदलने की कोशिश करता रहता है ताकि उस के झूठ पर अधिक गौर न किया जा सकें।

6). झूठ कैसे पकड़ें बातों को घुमाना।

झूठ कैसे पकड़ें। जो व्यक्ति झूठ बोलता हैं तो ऐसे में वह हमेशा टॉपिक्स चेंज करके बातों को घुमाने की कोशिश करता हैं, और जरा – जरा सी बात पर जोर-जोर से बोलनें लगता हैं। जबकि कई लोग ऐसे भी होते हैं, जो कि झूठ बोलते हैं, तो उस वक्त उनकी आवाज में हिचकिचाहट पैदा होने लगती हैं। वह साफ व स्पष्ट शब्दों में नहीं बोल पाते हैं, इससे यह बात स्पष्ट होती है कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

7). झूठ कैसे पकड़ें आंखों में आंखें डालकर देखें।

झूठ कैसे पकड़ें। जब कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो वो सामने वाले की आंखों में देखकर बात नहीं कर पाता है। बात करते समय उसकी नजरें झुकी रहती हैं। क्योंकि उसे डर होता है कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए। तो ऐसे में आप उसकी आंखों में आंखें डाल कर देखें कि व्यक्ति आपकी नजरों से नजरें मिलाकर बात कर रहा है या फिर नजरों को छुपाकर बात रहा हैं यानी कि वह इधर- उधर देख रहा हैं। तो आप इससे भी आप इस बात का पता लगा सकते हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

8). झूठ कैसे पकड़ें बातों पर गौर करें।

झूठ कैसे पकड़ें। यदि आप किसी व्यक्ति के झूठ का पता लगाना चाहते हैं। तो आप उसकी बातों पर खास तरह से गौर करें। क्योंकि जो व्यक्ति झूठ बोलता हैं, तो वह उस बात को बार-बार दोहराता हैं।

9). झूठ कैसे पकड़ें उंगलियां चटकाना ।

झूठ कैसे पकड़ें। अधिकांश समय ऐसा होता हैं, कि झूठ बोलने वाला व्यक्ति बार-बार अपनी उंगलियां को चटकाता रहता हैं। क्योंकि उसे अंदर डर होता है कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए। इसका मतलब यह हैं कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा है।

10) झूठ कैसे पकड़ें बॉडी लैंग्वेज।

झूठ कैसे पकड़ें। ईमानदार शख्स की बॉडी लैंग्वेज आत्मविश्वास से भरपूर होती है, जबकि झूठ बोलने वाला बार-बार मूवमेंट करता रहता है। वह अपने हाथ भी अक्सर पीछे रखता हैं । क्योंकि वह अपनी बेचैनी को किसी को दिखाना नहीं चाहता। क्योंकि वह सोचता हैं कि उसका झूठ कहीं पकड़ ना लिया जाएं।

11). झूठ कैसे पकड़ें झूठ पकड़ने के लिए सवाल पूछें ।

झूठ कैसे पकड़ें। जब कोई आपसे झूठ बोले तो उससे सवाल पूछें। कई बार लोग सवाला का जवाब देने में इतने उलझ जाते हैं, कि सच्चाई जुबान पर आ जाती है।

13). झूठ कैसे पकड़ें बात कहते वक्त पसीने आाना।

झूठ कैसे पकड़ें। जो लोग झूठ बोलते हैं तो उन्हें बात कहते वक्त बहुत ज़्यादा पसीना आता है। कुछ लोगों को घबराहट, बेचैनी व झूठ पकड़े जाने के डर से सामान्य से अधिक पसीने छूटतें है, यह एक ऐसा संकेत है, जो कि झूठ बोलने पर हर व्यक्ति को होता हैं ।

झूठ पकड़ने का आसान तरीका।

झूठ पकड़ने का आसान तरीका। झूठ पकड़ने का पहला आसान तरीका बार-बार सवाल करें। झूठ पकड़ने का आसान तरीका व्यक्ति की जुबान लड़खड़ा जाती है। झूठ पकड़ने का आसान तरीका चेहरे पर पसीना आ जाता है। झूठ पकड़ने का आसान तरीका व्यक्ति अपनी अंगुलियां चटकाना लग जाता है। झूठ पकड़ने का आसान तरीका व्यक्ति के चेहरे की मूवमेंट और हाथ पांव हिलाना व जेब के भीतर हाथ डालना इत्यादि मूवमेंट करने लग जाता है। झूठ पकड़ने का आसान तरीका व्यक्ति से आंखों में आंखें डाल कर बात करें। झूठ पकड़ने का आसान तरीका हाथों के ऊपर मुंह के ऊपर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दें। आप किसी व्यक्ति का झूठ पकड़ने का आसान तरीका जानना चाहते हैं। क्योंकि आप को यह नहीं पता होता हैं, कि व्यक्ति सच बोल रहा है या झूठ। तो ऐसे में आप झूठ पकड़ने का आसान तरीका जान सकते हैं। जिससे कि आप हर व्यक्ति के झूठ को आसानी से पकड़ सकें। यदि आप इस सवाल का जवाब खोज रहे हैं तो आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी के माध्यम से आसानी से जान सकते हैं झूठ पकड़ने का आसान तरीका तो चलिए, जानते हैं इसके बारे में विस्तार पूर्वक।

 
1) झूठ पकड़ने का सबसे आसान तरीका यह हैं, कि आप उस व्यक्ति से वह सवाल बार-बार करें। जिस बात को लेकर आपको लगता हैं कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। उसको थोड़ी – थोड़ी देर बाद बार-बार दोहराते रहें ताकि व्यक्ति का किसी ना किसी बार में सच अवश्य बाहर आ ही जाएगा।

2)झूठ पकड़ने का सबसे आसान तरीका यह हैं कि अक्सर , झूठ बोलने वाले व्यक्ति की जबान लड़खड़ा जाती है | ऐसा व्यक्ति कभी धीरे बोलता है तो कभी तेज | जिससे पता चलता हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा है |

3) झूठ पकड़ने का आसान तरीका यह हैं कि जब कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो उसके चेहरे पर पसीना आने लगता है | झूठ बोले पर अक्सर व्यक्ति घबरा जाता हैं और घबराहट के कारण उसके चेहरे पर पसीना आने लगता है |

4)झूठ पकड़ने का आसान तरीका यह हैं कि जब व्यक्ति झूठ बोलता हैं तो,उंगलियां को चटकाता रहता हैं। क्योंकि उसे अंदर डर होता है कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए। इसका मतलब यह हैं कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा है।

5) झूठ पकड़ने काआसान तरीका यह हैं कि जब व्यक्ति बोलता हैं तो बोलते समय वह बेहद आराम से बैठा रहता है और उसके चेहरे पर कोई टेंशन नहीं होती हैं । इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति झूठ नहीं बोल रहा | लेकिन इसके विपरीत यदि बात करते समय अचानक मूवमेंट होने लगे जैसे कि हाथ-पांव हिलाना , हाथों को जेब के भीतर डालना इत्यादि मूवमेंट झूठ बोलने तो आप यह समझ लें कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

6) झूठ पकड़ने का आसान तरीका यह हैं कि जब कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो वो सामने वाले की आंखों में देखकर बात नहीं कर पाता है। बात करते समय उसकी नजरें झुकी रहती हैं। क्योंकि उसे डर होता है कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए। तो ऐसे में आप उसकी आंखों में आंखें डाल कर देखें कि व्यक्ति आपकी नजरों से नजरें मिलाकर बात कर रहा है या फिर नजरों को छुपाकर बात रहा हैं यानी कि वह इधर- उधर देख रहा हैं। तो आप इससे भी आप इस बात का पता लगा सकते हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

7) झूठ पकड़ने का आसान तरीका यह हैं कि झूठ बोलते समय लोगों की नाक व मुँह को पोछने पर ध्यान दें। क्योंकि जब वह झूठ बोलते हैं तो उन्हें इस बात का डर रहता हैं, कि उनका झूठ पकड़ा न जाए। ऐसे में वह अपने नाक और मुंह को बार-बार पोछतें रहते हैं।

इनको भी पढ़े :-

झूठ को कैसे पकड़े।

यदि कोई व्यक्ति आपके सामने झूठ बोल रहा हैं। और आप उसके झूठ को कैसे पकड़े इसके बारे में सोच रहे हैं। लेकिन आप यह नहीं समझ पा रहे हैं कि उसका झूठ आप किस प्रकार से पकड़े तो आज हम आपको यह बताएंगे। कि आप किस प्रकार से झूठ को पकड़े इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, तो चलिए जानते हैं। इसके बारे में संपूर्ण जानकारी।

यदि आप किसी व्यक्ति का झूठ पकड़ना चाहते हैं। तो आप इसके लिए उसकी नजरों में नजरें डालकर बातें करें, तो इससे आप यह आसानी से पता लगा सकते हैं। कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा है या सच। जब व्यक्ति आपकी आंखों में आंखें डालकर बात करता हैं तो यह समझ लेना चाहिए कि व्यक्ति सच बोल रहा हैं । यदि व्यक्ति अपनी आंखों को इधर-उधर घुमाकर बातें करता है तो आप आसानी से अनुमान लगा सकते हैं कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। आप इस प्रकार से आप उस व्यक्ति का झूठ पकड़ सकते हैं

अगर आप किसी व्यक्ति का झूठ पकड़ना चाहते हैं। तो आप उस व्यक्ति के चेहरे के हाव-भाव पर ध्यान दें। क्योंकि जब व्यक्ति झूठ बोलता है , तो वह घबरा जाता है, और उसकी जुबान लड़खड़ाने लगती हैं। वह अपनी बात को स्पष्ट रूप से नहीं कह पाता हैं। इससे भी आप इस बात का पता लगा सकते हैं कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

यदि कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो आप उसके झूठ का पता इस प्रकार से भी लगा सकते हैं कि जब व्यक्ति सोच- सोच कर बोलता हैं, तो समझ लेना चाहिए कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

अगर आप किसी व्यक्ति का झूठ पकड़ना चाहते हैं तो आप इस बात पर खास तरह से ध्यान दें। यदि वह व्यक्ति खुद की तारीफ अधिक करता हैं तो इससे भी यह पता लगाया जा सकता हैं कि वह व्यक्ति बिल्कुल झूठी किस्म का आदमी हैं।

यदि कोई व्यक्ति आपके सामने जल्दी-जल्दी बोलता हैं। और जब अचानक से झूठ बोलने की बारी आती हैं तो वह अचानक से उसकी आवाज तेज हो जाती हैं तो आप समझ लें कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति हमेशा मूवमेंट करता रहता हैं। जैसे कि -आंखें से आंखें न मिलाना, अर्थात आंखों का इधर- उधर घुमाना, जेब में हाथ डालना, बार – बार हाथों को आगे पीछे करना, बेचैनी इत्यादि कई प्रकार के लक्षणों को देखकर आप उस व्यक्ति का झूठ पकड़ सकते हैं।

किसी व्यक्ति का झूठ पकड़ने के लिए आप उस बात को थोड़ी- थोड़ी देर बाद बात को बार-बार पूछें। क्योंकि हो सकता है कि वह व्यक्ति भूल जाए कि उसने पहली बार में क्या कहा था और वह आपके सामने सच बोल दें। तो आप इस उपाय को अपनाकर भी व्यक्ति का झूठ पकड़ सकते हैं।

झूठी व्यक्ति की मुस्कुराहट व सच बोलने वाले व्यक्ति की मुस्कुराहट में अंतर होता हैं। झूठ बोलने वाला व्यक्ति जब मुस्कुराता हैं, तो उसके चेहरे पर सलवटे आ जाती हैं। इस प्रकार से आप हमारे द्वारा दिए गए कुछ टिप्स को अपनाकर व्यक्ति के झूठ को आसानी से पकड़ सकते हैं।

पत्नी को झूठ कैसे पकड़े।

अगर आप अपनी पत्नी का झूठ कैसे पकड़े इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स बताएंगे। जिन्हें अपनाकर आप अपनी पत्नी का झूठ आसानी से पकड़ सकते हैं। यदि आपको लगता हैं, कि आपकी पत्नी आपसे झूठ बोल रही हैं लेकिन आप यह नहीं समझ पा रहे हैं। कि वह किस समय झूठ बोलती हैं और किस समय सच। तो आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी के माध्यम से आप आसानी से जान सकते हैं, कि पत्नी के झूठ को कैसे पकड़े।

पत्नी के झूठ को कैसे पकड़े इसके लिए पहला उपाय यह है कि आप उसकी बॉडी लैंग्वेज से जान सकते हैं की आपकी पत्नी आपसे झूठ बोल रही है या सच। जब आप उसे किसी बात के बारे में पूछते हैं तो वह अचानक से तेज आवाज में बोलती हैं तो समझ लेना चाहिए कि उसे उस बात को कहने में गुस्सा आ रहा है यानी कि जब उसने आपको पहली बार झूठ बोला था वही झूठ कहीं आपके सामने न आ जाए। इसलिए वह आपके सामने जोर से चिल्लाते हुए बोलती हैं, तो समझ लेना चाहिए कि वह उस समय भी आपसे झूठ बोल रही थी।

पत्नी के झूठ को कैसे पकड़े इसके लिए दूसरा उपाय यह है कि जब वह झूठ बोल रही है तो उसकी आवाज़ नार्मल आवाज़ से या तो तेज़ होती है या धीमी | यदि नार्मल अवस्था में भी पत्नी की आवाज़ तेज़ या धीमी हो जाये तो समझो वह झूठ बोल रही हैं।

पत्नी के झूठ को कैसे पकड़े इसके लिए तीसरा उपाय यह है कि यदि आपकी पत्नी सीधे- सीधे अपनी बात न बोलकर थोड़ा घुमा फिरा कर बोलती है, और उस बात को लेकर जितना बोलना चाहिएं उससे ज्यादा बोलती हैं तो समझ लेना चाहिए कि वह आपसे झूठ बोलने की कोशिश कर रही हैं।

पत्नी के झूठ को कैसे पकड़े इसके लिए चौथा उपाय यह है कि आपको उसकी आवाज़ को पहचानना है। यदि आप किसी से बात कर रहे हैं, और अचानक अपने मन का कोई शक दूर करने के लिए आपने उनसे कोई सवाल कर लिया, तभी वह चुप्पी बना लें तो समझ लेना चाहिए कि वह आपसे झूठ बोल रही थी।

पत्नी के झूठ को कैसे पकड़े इसके लिए पांचवा उपाय यह है कि जब आप उससे किसी बारे में पूछते हैं तो वह आप से नजरें मिलाने की जगह आप से नजरें चुराकर बोलती है। क्योंकि उसको डर हैं कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए इसलिए वह नजरों को इधर-उधर घुमाते हुए बातचीत करती हैं। तो समझ लेना चाहिए कि वह आपसे झूठ बोल रही हैं।

तो दोस्तों, आप इन सभी उपायों को अपनाकर उसके झूठ को आसानी से पकड़ सकते हैं।

jhoot pakadne wali machine. jhoot pakadne ki machine.

jhoot pakadne wala machine : क्या आप झूठ पकड़ने वाली मशीन ( jhoot pakadne wali machine) के बारे में जानना चाहते हैं। तो आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी के माध्यम से झूठ पकड़ने वाली मशीन (jhoot pakadne wali machine) के बारे में आसानी से जान सकते हैं। कि यह मशीन किस प्रकार से कार्य करती है। यह मशीन किस प्रकार की होती हैं। इस मशीन के द्वारा दिए जाने वाले परिणाम कितने प्रतिशत तक सही होते हैं या गलत। इन सब के बारे में चलिए, विस्तारपूर्वक जानते हैं।

jhoot pakadne ki machine की खोज जॉन अगस्तस लार्सन ने 1921 में की थी। लार्सन कैलिफॉर्निया यूनिवर्सिटी में चिकित्सा के छात्र थे।
झूठ पकड़ने वाली मशीन पॉलीग्राफ टेस्ट को लाई डिटेक्टर के नाम से जाना जाता हैं। इस मशीन का इस्तेमाल झूठ पकड़ने के लिए किया जाता हैं।

किसी भी अपराध के मामलों में आरोपी की पॉलीग्राफ या लाई डिटेक्टर टेस्ट, से सच का पता लगाने के लिए इस टेस्ट को किया जाता हैं।

आपराधिक मामलों की जांच में पॉलीग्राफ टेस्ट को सहायक माना जाता है, लेकिन क्या आपको पता है कि यह टेस्ट क्या है ? और यह मशीन कैसे काम करती है?

लाई डिटेक्टर टेस्ट अर्थात पॉलीग्राफ टेस्ट करने के लिए शरीर के कुछ अंगों पर तार और नलियां लगाई जाती हैं। इसके बाद विशेषज्ञ आरोपी से सवाल करते हैं। आरोपी जब जवाब देता हैं, तो सांस लेने की गति, ब्लड प्रेशर, पल्स रेट, हाथ और पैर की मूवमेंट आदि को मशीन में रिकॉर्ड किया जाता हैं। रिकॉर्ड किए गए डेटा के आधार पर विशेषज्ञ टेस्ट का रिजल्ट देते हैं।

अगर व्यक्ति लाई डिटेक्टर टेस्ट के दौरान आरोपी झूठ बोल रहा हो तो उसकी सांसों की गति तेज हो जाती हैं , ब्लड प्रेशर, पल्स रेट बढ़ जाता है। और आरोपी के शरीर में लगाए गए तार और नलियां मशीन को सिग्नल भेजती हैं। और इसी को आधार मानकर विशेषज्ञ अंतिम निर्णय तक पहुंचते हैं। शरीर में हो रही गतिविधियों के बदलाव को आधार मानकर टेस्ट का रिजल्ट दिया जाता हैं।

पॉलीग्राफ या लाई डिटेक्टर टेस्ट में विशेषज्ञ आरोपी से प्रश्न पूछते हैं। ये ऐसें प्रश्न होते हैं, जिसका उत्तर आरोपी को सच ही देना होता हैं। और इन्हीं प्रश्नों के जवाब देने के दौरान विशेषज्ञों को सच्चाई तक पहुंचने में मदद मिलती हैं।
लेकिन पॉलीग्राफ टेस्ट या लाई डिटेक्टर टेस्ट को अंतिम सत्य नहीं माना जाता। एक रिसर्च में यह बात सामने आई हैं कि अपराधी अभ्यास के दौरान इस टेस्ट से बच सकते हैं। क्योंकि विशेषज्ञ द्वारा आरोपी को जब सवाल जवाब किए जाते हैं, तब उनकी पल्स रेट घटती बढ़ती नहीं है। अर्थात व्यक्ति नॉर्मल रहता हैं, ऐसे में वह इस मशीन के द्वारा किए जाने वाले टेस्ट से बच सकते हैं।

झूठे आदमी की पहचान। pakadne ka tarika.

क्या आप झूठे आदमी की पहचान करना चाहते हैं । अगर आप ऐसा करना चाहते हैं, तो इसके लिए आपको झूठ पकड़ने का तरीका (pakadne ka tarika) आना बेहद जरूरी हैं। कि आप झूठे आदमी की पहचान किस प्रकार से करें कि वह व्यक्ति झूठा हैं। यदि आप इसकी पहचान नहीं कर पा रहे हैं तो आप नीचे दी गई जानकारी के माध्यम से आसानी से झूठ pakadne ka tarika जान सकते हैं।

झूठे आदमी की पहचान : झूठे आदमी की पहचान करना बहुत ही आसान होता हैं। लेकिन इसको जानने के लिए अर्थात पहचानने के लिए आपको कुछ ऐसी बातों का ज्ञान होना बेहद जरूरी हैं। जिसका इस्तेमाल करने के लिए आप अपने दिमाग को यूज में लेकर आदमी की झूठ को पकड़ सकते हैं। यदि आप आदमी की झूठ पकड़ना चाहते हैं, तो कुछ टिप्स नीचे दिए गए हैं। जिनका इस्तेमाल करके आप आसानी से आदमी की झूठ को पहचान सकते हैं।

झूठे आदमी की पहचान:-

  1. साँसे लेने की गति तेज़ होना।
  2. आवाज़ में कंपन महसूस होना।
  3. बातों को घुमा फिरा कर बोलना।
  4. बॉडी लैंग्वेज में फर्क।
  5. चेहरे पर चिंता।
  6. नज़रे नहीं मिलाना।
  7. हाथ-पैर में मूवमेंट।
  8. चेहरे के हाव- भाव बदलना।
  9. नाक और मुँह बार-बार हाथ फेरना।
  10. आंखों को इधर-उधर घुमाना अर्थात नजरें न मिलाना।
  11. चेहरे पर पसीना आना।
  12. मुस्कुराहट पर गौर करें।
  13. उंगलियां चटकाना।

दोस्तों, यह सभी टिप्स जो कि हमने आपको बताए हैं । आमतौर पर जब भी कोई झूठ बोलता हैं तो उसका कॉन्फिडेंस लेवल कम हो जाता है | ऐसे में आपसे बात करते वक्त उसके चेहरे के एक्सप्रेशन बदलने लगते हैं। और आप इन सभी एक्सप्रेशन को देखकर झूठे आदमी की पहचान आसानी से कर सकते हैं।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति।

दोस्तों, यदि आप झूठ बोलने वाला व्यक्ति की पहचान करना चाहते हैं ।तो आप हमारे द्वारा दी गई जानकारी के माध्यम से आसानी से झूठ बोलने वाला व्यक्ति कौन होता हैं। इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

1)चेहरे के हाव- भाव पर गौर करें।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – अगर कोई व्यक्ति झूठ बोलता हैं, तो उसके चेहरे के हाव-भाव पर गौर करें। क्योंकि जब व्यक्ति झूठ बोलता हैं, तो उसके चेहरे के ऊपर चिंता का कारण दिखाई देने लगता हैं। इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। इसके अलावा यदि कोई व्यक्ति अपने हाथ पैरों को आगे पीछे करने लगता हैं, मुंह को पोंछने लगता हैं। इसका मतलब यह हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं। और यदि व्यक्ति सच बोलता हैं, तो वह बिल्कुल आराम से बैठा रहता हैं। वह किसी प्रकार की एक्टिविटी नहीं करता हैं शांत मन रहता हैं। इसके अलावा उसके चेहरे पर भी किसी तरह की कोई शिकन महसूस नहीं होती हैं।

2) आवाज में बदलाव।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – यदि कोई व्यक्ति झूठ बोलता हैं, और आप उसके झूठ का पता लगाना चाहते हैं। तो इसके लिए आप की आवाज में होने वाले परिवर्तन पर खास तरह से ध्यान दें । क्योंकि जब व्यक्ति झूठ बोलता है तो उसकी आवाज में कंपन महसूस होने लगती हैं। जिसकी आवाज की टोन बदल जाती हैं। ऐसे में वह या तो जल्दी-जल्दी बोलता हैं। ताकि उसकी गलती पकड़ी जाए या फिर आवाज में हिचकिचाहट महसूस होने लगती हैं और वह बात को बदलने की कोशिश करता रहता है ताकि उस के झूठ पर अधिक गौर न किया जा सकें।

3) बातों को घुमाना।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – जो व्यक्ति झूठ बोलता हैं तो ऐसे में वह हमेशा टॉपिक्स चेंज करके बातों को घुमाने की कोशिश करता हैं, और जरा – जरा सी बात पर जोर-जोर से बोलनें लगता हैं। जबकि कई लोग ऐसे भी होते हैं, जो कि झूठ बोलते हैं, तो उस वक्त उनकी आवाज में हिचकिचाहट पैदा होने लगती हैं। वह साफ व स्पष्ट शब्दों में नहीं बोल पाते हैं, इससे यह बात स्पष्ट होती है कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

4) आंखों में आंखें डालकर देखें।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – जब कोई व्यक्ति झूठ बोलता है तो वो सामने वाले की आंखों में देखकर बात नहीं कर पाता है। बात करते समय उसकी नजरें झुकी रहती हैं। क्योंकि उसे डर होता है कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए। तो ऐसे में आप उसकी आंखों में आंखें डाल कर देखें कि व्यक्ति आपकी नजरों से नजरें मिलाकर बात कर रहा है या फिर नजरों को छुपाकर बात रहा हैं यानी कि वह इधर- उधर देख रहा हैं। तो आप इससे भी आप इस बात का पता लगा सकते हैं, कि व्यक्ति झूठ बोल रहा हैं।

5). बातों पर गौर करें।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – यदि आप किसी व्यक्ति के झूठ का पता लगाना चाहते हैं। तो आप उसकी बातों पर खास तरह से गौर करें। क्योंकि जो व्यक्ति झूठ बोलता हैं, तो वह उस बात को बार-बार दोहराता हैं।

6). उंगलियां चटकाना ।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – अधिकांश समय ऐसा होता हैं, कि झूठ बोलने वाला व्यक्ति बार-बार अपनी उंगलियां को चटकाता रहता हैं। क्योंकि उसे अंदर डर होता है कि कहीं उसका झूठ पकड़ा न जाए। इसका मतलब यह हैं कि वह व्यक्ति झूठ बोल रहा है।

7) बॉडी लैंग्वेज।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – ईमानदार शख्स की बॉडी लैंग्वेज आत्मविश्वास से भरपूर होती है, जबकि झूठ बोलने वाला बार-बार मूवमेंट करता रहता है। वह अपने हाथ भी अक्सर पीछे रखता हैं । क्योंकि वह अपनी बेचैनी को किसी को दिखाना नहीं चाहता। क्योंकि वह सोचता हैं कि उसका झूठ कहीं पकड़ ना लिया जाएं।

8). झूठ बोलने वाला व्यक्ति से सवाल पूछें ।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति – जब कोई आपसे झूठ बोले तो उससे सवाल पूछें। कई बार लोग सवाला का जवाब देने में इतने उलझ जाते हैं, कि सच्चाई जुबान पर आ जाती है।

झूठ बोलने वाला व्यक्ति को क्या कहते हैं।

झूठ बोलने वाले व्यक्ति को क्या कहते हैं क्या आप जानते हैं? यदि आप नहीं जानते हैं, तो आज हम यह आपको बताएंगे। कि झूठ बोलने वाला व्यक्ति को क्या कहते हैं तो चलिए जानते हैं, इसके बारे में।

झूठ बोलने वाले व्यक्ति को (liar), धोखेबाज, चालबाज, बेईमान के नाम से जाना जाता हैं।

झूठ बोलने वालों पर शायरी। jhoot bolne wale par shayari.

दोस्तों, आज हम आपको झूठ बोलने वाले पर शायरी(jhoot bolne wale par shayari), के बारे में बताएंगे। यदि आप इस शायरी के बारे में जानना चाहते हैं, तो आप नीचे दी गई जानकारी को अवश्य पढ़ें।

(1)

तुम्हारे हर झूठ को मैं सच मानती हूँ

जबकि सच क्या है ?

ये मैं बहुत अच्छी तरह से जानती हूँ।

(2)

झूठ के नाव सच के समंदर में चलते नहीं,

झूठ बोलने वाले अपना स्वभाव बदलते नहीं।

(3)

सच बोलकर मैंने इज्जत गंवाई हैं,

तो झूठ बोलने में क्या बुराई हैं।।

(4 )

झूठ बड़ी आसानी से पकड़ा जाता हैं,

बोलने वाले को यह समझ में नही आता है।।

(5)

झूठ बोलने से सच छुपता नहीं,

घड़ी बंद होने पर समय रूकता नहीं।।

jhoot bolna jhute log quotes in hindi.

झूठ की बुनियाद कुछ इस तरह की होती हैं.

की इस पर बनी ईमारत बहुत कच्ची होती हैं ।।

झूठी बातो पर लोग आसानी से यकीन कर लेते हैं,

और सच्ची बातों को सुनकर उन्हें आसानी से नजरअंदाज कर देते हैं ।।

झूठ की तारीफ़, सच का मजाक,

कुछ ऐसा है आजकल दुनिया का मिजाज ।।

झूठी तारीफ़ अक्सर लोगो को बहुत पसंद होती हैं,

क्योंकि उनको सच सुनने की आदत नहीं होती हैं ।।

अक्सर झूठ सबको इसलिए अच्छा लगता हैं,

क्योंकि यह मनुष्य को उसकी कमियां नहीं बताता है ।।

jo log jhut bolte hai shayari.

1)झूठ कहूँ तो बहुत कुछ है मेरे पास

सच कहूँ तो कुछ नीं सिवा तेरे मेरे पास।

2)सच कड़वाहट लिए मुँह खोलता है

झूठ को देखो कितना मीठा बोलता हैं।

3)सच को दिल में बसाया जाएं

झूठ की औकात को दिखाया जाएं।

4)ऊँचें आसमान से मेरी जमीन देख लो,

तुम ख्वाब आज कोई हसीन देख लो।

अगर आजमाना है ऐतबार को मेरे तो,

एक झूठ बोलो और मेरा यकीन देख लो।।

5)झूठी बातें बड़ी तेजी से फैलाई जाती है।

सच कड़वा होता है इसलिए छुपाई जाती है।

jhut bolne wala status.

न परेशानियां, न हालात न ही कोई रोग है,

जिन्होंने हमें सताया है और कोई नहीं वो झूठे लोग हैं ।।      

छोटी चीज को झूठ बोलकर बड़ा नही करते है,
झूठ के दम पर सपनो का महल खड़ा नही करते है ।।

झूठ कहूँ तो बहुत कुछ है मेरे पास,
सच कहूँ तो कुछ नीं सिवा तेरे मेरे पास ।।

झूठी दुनिया के झूठे फसाने है,

लोग भी झूठे और झूठे जमाने है ।।

बेहिसाब झूठ कहा तो खुदा मान बैठे,
जरा सा सच बोल दिया बुरा मान बैठे।

झूठी बात पे जो वाह करेंगे,

वही लोग आपको तबाह करेंगे ।।

love झूठ बोलने वालों पर शायरी ।

मैं झूठ नहीं कहता, सात जनम साथ निभाउंगा,

तुझे इतना प्यार करता हूँ पगली, एक जनम में कैसे दिखा पाउँगा।।

झूठ से, सच से जिससे भी यारी रख़ें,
आप अपनी तकरीर जारी रख़ें।।

तेरी कसमों से ले तेरी वादों तक हर झूठ को हम सच बनाते रहे।
हम पागल थे तेरे प्यार में जो तन्हा ही वफा निभाते रहे।।

मालूम था कि वो  झूठे हैं, 

पर क्या करें हमारा दिल तो सच्चा है।    

बेशक तू बदल ले अपनी मौहब्बत लेकिन, ये याद रखना। 
तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता।।

खफा होने से पहले कोई वजह तो बताते जाते,

वजह नहीं तो ना सही झूठा कोई इल्जाम ही लगाते जाते।।

आजमाना है अगर मेरे एतबार को,
तो एक झूठ तुम बोलो, फिर मेरा यकीन देखो।।

jhoot bolne walo ke liye status.

झूठी सारी बातें,धोखा हर तक़सीम

गांव से शहर तक,कड़वे सारे नीम।।

होश में थे तो हुए हवाले तेरी हसीन यादों के,

इन दिनों चूर हूँ नशे में तेरे उन झूठे वादों के।।

मोहब्बत की झूठी ये कहानी पे रोये,
बड़ी चोट खाई जवानी पे रोये।।

इन्सान जब दिल के हाथों मजबूर होता है,
तो झूठे प्यार पर भी बड़ा गूरूर होता है।।

उसके हर झूठ पर जब तक मुझे यकीन रहा,

हमारे बीच का रिश्ता बहुत हसीन रहा।।

jhoot bolne wale log quotes in hindi.

 झूठी तारीफ़ अक्सर लोगो को बहुत पसंद होती हैं,

क्योंकि उनको सच सुनने की आदत नहीं होती हैं ।।

बदल गए है मायने आज यहाँ कुछ बातों के
लोगो के बड़े बड़े वादों के, झूठे जज़्बातो के ।।

बिना कोई खता के ही वक़्त भी बेवफाई करने लगा है,
सच की कदर कहाँ यह जमाना झूठो की सुनवाई करने लगा है ।।

कोई एक बार झूठ बोले तो माफ़ कर दीजिए,

दोबारा बोले तो सतर्क हो जाइये ।।

झूठ बोलने वाले बढ़ते चले गए,
मैं सच बोलता रह गया,
आँधियों के इरादे तो अच्छे न थे,
फिर क्यों यह दिया जलता रह गया ।।

इन्सान जब दिल के हाथों मजबूर होता है,

तो झूठे प्यार पर भी बड़ा गूरूर होता है।

shayari jhooth bool kar.

सच्च बोल के मोहबत करना हमारी आदत हैं,

झूठी कोई नफरत भी करे तो हम कबूल नही करते ।।

मुस्कुरा देती हूँ अक्सर देखकर पुराने खत तेरे,

तू झूठ को भी कितनी सच्चाई से लिखता है,

मत गिरा अपने झूठे इश्क के आंसू मेरे जनाज़े पर,

अगर तुझमे वफ़ा होती तो हम ज़िन्दगी से बेवफा न होते ।।

ज़रुरत पड़े तो झूठ कभी कभी बर्दाश कर लीजिए,

लेकिन झूठा आदमी कभी बर्दाश मत कीजिए।।

jhuth bolne wali shayari.

काग़ज़ी कश्ती का रिश्ता ख़ूब है आलोक से

झूठे जितने भी थे वादे आप के अच्छे लगे ।।

झूट के आगे पीछे दरिया चलते हैं

सच बोला तो प्यासा मारा जाएगा ।।

जो झूठ बोलते है उन्हें झूठ अंदर से कमजोर बनाता है

और जो सच बोलते है

उन्हें सच अंदर से ताकतवर बनाता है ।।

लोग प्यार में कुछ सीखे ना सीखे

झूठ बोलना तो सीख ही लेते है ।।

झूटा है झूट बात ये बोलेगा आईना

आओ हमारे सामने हम सच बताएँगे।।

jhuth bolne wale status.

आज में नहीं मेरा विश्वास टुटा है,
जब मुझे पता चला की मेरा प्यार झूठा है ।।

तुम जो मेरे बिना मर जाने की बात करती थी,
तुम सच में मर गई हो ? या फिर बस मज़ाक करती है।

वो जो पल थे, थे वो पल कल के,
ज़िन्दगी भर साथ निभाने के वादे थे सिर्फ पल भर के ।।

तेरे झूठे वादों को दिल में यूँ सजाये रखा है,
जैसे हवाओ के बिच कोई दिया दिल में जलाये रखा है ।

दुनिया में रिश्ते बनाओ तो सोच समझ कर बनाना,
इन झूठे रिश्तो के चक्कर में अपनी ज़िन्दगी मत गवाना ।

कितने झूठे थे हम मोहब्बत में,
तुम भी ज़िंदा हो, हम भी ज़िंदा है ।।

jhuth bolne par shayari.

झूठ बोलने में बड़ा मजा आता है

जान निकल जाती है जब सजा पाता है

पहले झूठ बोलना पाप था

अब झूठ बोलना मजबूरी भी है

और जरूरी भी है।।

जो कहते हैं कि इश्क़ दिल का मामला है वो

झूठ बोलते हैं इश्क़ तो आवाज़ का मालमा है

झूठ को शर्म आती है,

जब वो सच से नजरें मिलाता है

सच का दामन जब छूट जाता है,

तब झूठ का आईना टूट जाता हैं।।

jhut bolne wale log.

मैं तुम पर हर बार भरोसा करता हूँ

इतना सच्चा झूठ तुम्हारा होता है।।

नींद आती है जिसे तुझसे सच्ची बाते करने के बाद,
सोच वो कैसे सोयगा तेरे झूठे वादों के साथ ।।

jhooth bolane wali shayari.

चेहरा तो साफ़ करले आईने को गन्दा बताने वाले,
हर वक़्त सामने वाला ही ख़राब नहीं हुआ करता ।।

अपनी कहानी में एक ऐसा मोड़ लाऊंगा,
जिसेक बाद पूरी दुनिया को हमेशा के लिए छोड़  जाऊंगा ।।

jhut bolne wale log status.

जब से हमने झूठ बोलना सीख लिया

कई अजीज दोस्तों को इसने छीन लिया।।

आजमाना है अगर मेरे एतबार को।

तो एक झूठ तुम बोलो फिर मेरा यकीन देखो।।

jhoot bolne wale par shayari.

.वो झूठ भी सच लगता है

जब कोई गम में तसल्ली देता है

झूठ की नींव कमजोर होती है

इस पर रिश्तों का बनाया गया

महल जल्द ही गिर जाता है

कहते है झूठ के पाँव नहीं होते

मगर फिर भी चलता बहुत है। ।