माला डी गर्भनिरोधक गोली। माला डी गोली कब लेनी चाहिए।mala d tablet uses in hindi.

माला डी गर्भनिरोधक गोली।

हेलो , ‘दोस्तों’ आज हम आपको माला डी गर्भनिरोधक गोली के बारे में बताएंगे। यह गोली किस प्रकार से क्या काम करती है, और इसको कब लेनी चाहिए। इन सब बातों के बारे में आज हम आपको इस पोस्ट(post) के माध्यम से बताएंगे। ताकि आप भी इस गोली का इस्तेमाल करके अनचाहे गर्भ से छुटकारा पा सकती हैं, तो आइए जान लेते हैं । माला डी(mala d) गर्भनिरोधक गोली के बारे में। माला डी (mala d) गर्भनिरोधक गोली यानी की टैबलेट एक एंटीकोगुलेटर है, और रक्त के थक्के के गठन को कम करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

माला डी टैबलेट(Tablet) का उपयोग तीन साल तक गर्भावस्था से बचने के लिए किया जाता है, अगर आप बच्चा नहीं चाहती है। तो आप इस गोली का इस्तेमाल कर सकते हैं, यह अनचाहे गर्भ के साथ-साथ अन्ये कई प्रकार से भी उपयोगी होती है। जैसे कि गर्भावस्था की रोकथाम, रजोनिवृत्ति, हार्मोनल गर्भनिरोधक, मुँहासे, और अन्य स्थितियों के लिए प्रयोग किया जाता है। गर्भ से बचने के लिए आपको माला डी टैबलेट(Tablet) असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर गर्भावस्था से बचने के लिए, तीन साल तक गर्भधारण से बचे बचने के लिए आपको गोली का नियमित रूप से सेवन करना होगा। तभी आप रजोनिवृत्ति के अल्पकालिक परिवर्तन को कम करना या रोकना, अंतःस्राव संबंधी गर्भनिरोधक, मौखिक गर्भनिरोधक, मुँहासे,अक्रियाशील गर्भाशय रक्तस्राव, पुनरावर्ती गर्भपात और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए उपयोगी होती है।

तो दोस्तों अब तो आप समझ ही गए होंगे। कि माला डी गर्भनिरोधक गोली किस काम में ली जाती है,व किस प्रकार से आप के लिए भी उपयोगी हो सकती है , ये तो आप जान ही गए है।

mala d tablet uses in hindi.

आज हम आपको माला डी टैबलेट कैसे यूज करते हैं ,और कैसे काम करती है। उन सभी के बारे में हम आपको विस्तार से बताएंगे, तो आइये जान लेते हैं । माला डी(mala d) टैबलेट (tablet ) के बारे में ताकि आप भी यूज करने से पहले उसके बारे में अच्छे से जान सको संपूर्ण जानकारी के बारे में आप टेबलेट का इस्तेमाल करें । ताकि आपको आगे चलकर कोई भी परेशानी नहीं हो, तो आइए जान लेते हैं, माला डी(mala d) टैबलेट(tablet) यूज कैसे करते हैं । के बारे में ताकि आपको भी इसी प्रकार की कोई भी समस्या ना हो तो चलिए जानते हैं, इस पोस्ट(post) के माध्यम से।

अगर आप इस दवा का यूज करना चाहते हैं । तो सबसे पहले आपको डॉक्टर (doctor) की सलाह से इस गोली का सेवन करना चाहिए । वह (doctor)के द्वारा बताई गई मात्रा में ही गोली का यूज़ करना चाहिए ,और साथ में इस गोली को डॉक्टर के बताए अनुसार ही समय पर इसका यूज़ करना चाहिए।
इस दवा को साबुत निगल लें। इसे चबाएं, कुचलें या तोडना नहीं चाहिए। माला डी टैबलेट भोजन के साथ या बिना भोजन किए इसे लिया जा सकता है, लेकिन बेहतर यह होगा , कि इसे एक नियत समय के साथ लिया जाए। और हो सके तो आप इस (tablet) का सेवन खाना खाने के बाद में ही करें।
माला डी टैबलेट में सक्रिय तत्व के रूप में एथिनिलेस्ट्राडियोल और लेवोनोर्जेस्ट्रेल होता है। माला डी टैबलेट अंडाशय से अंडा बाहर आने से रोकता है। जिसके के कारण गर्भ धारण करने से बचा जा सकता है। माला डी टैबलेट ओवुलेशन (Ovulation) और अंडा छोड़ने से अंडाशय को रोकने का काम करता है। ताकि आप गर्भ धारण करने से बच सके, वो भी बिना किसी परेशानी के आसानी से।

इनको भी पढ़े :-

माला डी गोली mala d.

यह माला डी (mala d) गोलियां सरकारी अस्पतालों में मुफ्त में आसानी से मिल जाती हैं ।इन गोलियों को एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरॉन की गोलियाँ के नाम से भी जाना जाता है। बाजार में मिलने वाली कई मिलती जुलती गोलियां लिवोनॉरजेस्ट्रॉन की गोली और माला-डी में बहुत अधिक फर्क नहीं है। यौन संबंध के बाद 72 घंटों के भीतर माला-डी (mala d)  की दो गोलियाँ दो बार, 12 घंटों के अंतराल से ली जाती हैं। ताकि आप गर्भधारण से बच सके। और दवाई की सही अवधि और खुराक की जानकारी के लिए एक अच्छे से चिकित्सक से परामर्श लेना चाहिए। चिकित्सक के परामर्श के अनुसार इस दवाई का उपयोग करना चाहिए। इस दवा को पूरा निगल लें। इसे चबाएं, कुचलें या तोड़ें नहीं। माला डी टैबलेट को भोजन के साथ या भोजन की बाद लिया जा सकता है , लेकिन इसे एक निश्चित समय पर प्राथमिकता के साथ लेना बेहद जरूरी होता है।

माला डी टेबलेट। mala d tablet.

माला डी(mala d ) टेबलेट (tablet) बहुत ही उपयोगी और अच्छी दवा है। यह अनचाहे गर्भ के लिए भी काफी फायदेमंद होती है, यह सरकारी अस्पतालों में भी आसानी से मुफ्त में उपलब्ध हो जाती है। साथ ही यह हर मेडिकल स्टोर पर भी उपलब्ध होती है।
(Mala D) (Tablet) डॉक्टर के द्वारा निर्धारित की जाने वाली दवा है, इस दवाई (Mala D) (Tablet) को अन्य कई दिक्कतों में भी काम लिया जा सकता है, जिनके बारे में हम आप को नीचे बतायेगे।
(Mala D) (Tablet) को कितनी मात्रा में लेना है, ये रोगी के वजन, लिंग, आयु पर निर्भर करता है। यह दवा कितनी मात्रा में दी जानी चाहिए। Mala माला डी टेबलेट का उपयोग 35 साल से अधिक उम्र के औरतों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

Mala D Tablet के कुछ साइड इफेक्ट ।

1) भारी मासिक धर्म,

2)चक्कर आना ।

3) मतली या उलटी,

और साथ ही गर्भवती महिलाओं को इस टेबलेट(Tablet) का उपयोग नहीं करना चाहिए । और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही इस टेबलेट का यूज़ करना चाहिए।

अगर आपको पहले से ही कुछ समस्याएं हैं, तो आप इस दवा का उपयोग न करें, इससे आपको भारी समस्या हो सकती है। जैसे कि एडिमा, लिवर रोग, आंखों की बीमारी यह सभी समझते हैं। आपको हो सकती हैं, इसलिए इन समस्याओं से बचने के लिए आपको बिना डॉक्टर(doctor) की सलाह के इसका यूज नहीं करना चाहिए। और आप किसी दूसरी दवा का इस्तेमाल करते हो आप को माला डी टैबलेट(Tablet) से साइड इफेक्ट हो सकते हैं

माला डी टेबलेट का प्रयोग कई प्रकार की गर्भावस्था समस्याओं के लिए उपयोगी होती है। तो आइए जान लेते हैं, यह टेबलेट कौन-कौन सी समस्याओं में फायदेमंद होती है।

  1. असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर गर्भावस्था से बचने के लिए फायदेमंद है।
  2. गर्भावस्था की रोकथाम।
  3. तीन साल तक गर्भधारण से बचें।
  4. रजोनिवृत्ति के अल्पकालिक परिवर्तन को कम करना या रोकना।
  5. मौखिक गर्भनिरोधक
  6. अंतःस्राव संबंधी गर्भनिरोधक
  7. लड़कियों में युवावस्था देरी से
  8. दर्दनाक माहवारी से छुटकारा
  9. योनि की सूजन कम करना
  10. मुँहासे
  11. अक्रियाशील गर्भाशय रक्तस्राव
  12. पुनरावर्ती गर्भपात

अब तो आप समझ गए होंगे, की माला डी (mala d) टेबलेट (Tablet) किस प्रकार से उपयोगी वह इसके क्या कार्य हैं। और उन सब के साथ में हमने आपको यह भी बता दिया है , कि इसका सेवन किस प्रकार से करना चाहिए। और इसके क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं, इसके बारे में हमने आपको विस्तार पूर्वक बताया है। तो आप भी इन सभी बातों को ध्यान पूर्वक पढ़ कर सही मात्रा में वह सही प्रकार से उपयोग करना चाहिए। ताकि आप होने वाले साइड इफेक्ट से बच सकें, और आप भी इस दवा के उपयोग से कुछ लाभ प्राप्त कर सकें।

mala n tablet uses in hindi.

आज हम आपको(mala n) टेबलेट यूज कैसे करते हैं। उसके बारे में बताएंगे तो आइए जान लेते हैं ,(mala n) टेबलेट के बारे में यह किस प्रकार से काम करती है। और इस को किस प्रकार से है, यूज़ किया जाता है।आइये जानते हैं।

माला एन (mala n) कैसे काम करती है, आइये चलिये जान लेते है। (mala n) एक गर्भनिरोधक गोली है, जो गर्भाशय में निषेचित अंडे को जमने से रोकती है, जिससे गर्भ नही ठहरता है। माला एन टैबलेट में तत्व के रूप में एथिनिलेस्ट्राडियोल और लेवोनोर्जेस्ट्रेल होता है। माला एन टैबलेट अंडाशय से अंडा बाहर आने से रोकती है, जिसके कारण से गर्भ धारण करने से बचा जा सकता है। माला एन टैबलेट ओवुलेशन (Ovulation) और अंडा छोड़ने से अंडाशय को रोकने का काम करता है।
यह गर्भाशय ग्रीवा के श्लेष्म को शुक्राणु के लिए कठिन बनाता है। जिससे गर्भाशय में प्रवेश होता है। यह गर्भाशय के स्तर को बदलकर गर्भावस्था को रोकता है, जिससे निषेचित अंडे को प्रत्यारोपित करने की संभावना नहीं है।

mala n tablet uses in hindi

गर्भनिरोधक गोली के एक पैकेट में 28 गोलियां (21 हार्मोनल और 7 गैर-हार्मोनल (आयरन) होती हैं। एक गोली हर रोज लेनी होती है।
इसे साबुत निगल लें। इसे चबाएं, कुचलें या तोडना नही चाहिए है, माला एन टैबलेट भोजन के साथ या बिना भोजन किए इसे लिया जा सकता है, लेकिन बेहतर यह होगा कि इसे एक नियत समय पर ही लेना चाहिए। माला एन टैबलेट का उपयोग डॉक्टर(doctor) की सलाह के अनुसार करना चाहिए। और डॉक्टर (doctor) की बताई हुई समय सारणी और खुराक लेनी चाहिए।

माला डी गर्भनिरोधक गोली खाने का तरीका।

क्या आप भी माला डी (mala d) गर्भनिरोधक गोली खाने का तरीका जानते हैं। अगर नहीं जानते हैं, तो आज हम आपको माला डी गर्भनिरोधक गोली खाने का तरीका बताएंगे। तो आइए चलिए जान लेते हैं, माला डी(mala d) गर्भनिरोधक गोली खाने का तरीका क्या है। गर्भनिरोधक गोली को रोजाना एक निर्धारित समय पर ही खाना चाहिए। आप इसके लिए दिन में कोई भी एक फिक्स समय निर्धारित कर सकती हैं। अगर आप किसी दिन ये गोली खाना भूल जाती हैं, तो आप को जैसे ही याद आये एक गोली खा लें, और फिर अगले दिन निर्धारित समय पर अगली गोली खाएं। इस तरीके से आप इस गोली का सेवन सही समय (time) पर ही करें । और अधिक मात्रा में इसका सेवन ना करें, और डॉक्टर के द्वारा बताई गई खुराक के हिसाब से इस गोली का सेवन करना चाहिए।

माला डी (mala d)टैबलेट (tablet) कैसे खाये चलिये जान लेते है।
इस गोली को साबुत निगल लें। इसे चबाएं, कुचलें या तोड़ें नहीं चाहिए । माला डी (mala d) टैबलेट भोजन के साथ या खाना खाने के बाद ही लेनी चाहिए। लेकिन बेहतर यह होगा, कि इसे एक नियत समय के साथ लिया जाए। डॉक्टर के बताए अनुसार समय पर सही खुराक लेनी चाहिए । ताकि आपको कोई भी किसी भी प्रकार की दिक्कत या कोई साइड इफेक्ट नहीं हो, तो अब आप समझ ही गए होंगे , की किस प्रकार से माला डी टैबलेट(tablet) का यूज़ कैसे कर सकते हैं।

maladi tablet.

कई लोग तो यह भी नहीं जानते हैं, की माला डी टेबलेट (tablet) , क्या होती है, वह यह किस काम में आती है। तो आज हम आपको इस बारे में बताएंगे। की माला डी (mala d ) टेबलेट है, क्या होती है, किस काम में आती है । तो आइए चली जान लेते हैं, माला डी टैबलेट (tablet) के बारे में। माला डी टेबलेट एक गर्भनिरोधक गोली, होती है।
माला डी टैबलेट (tablet) एक एंटीकोगुलेटर है, और रक्त के थक्के को कम करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

  1. माला डी टैबलेट असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर गर्भावस्था से बचने के लिए,
  2. तीन साल तक गर्भधारण से बचें,
  3. गर्भावस्था की रोकथाम,
  4. रजोनिवृत्ति के अल्पकालिक परिवर्तन को कम करना या रोकना,
  5. अंतःस्राव संबंधी गर्भनिरोधक,
  6. मौखिक गर्भनिरोधक,
  7. मुँहासे,
  8. अक्रियाशील गर्भाशय रक्तस्राव,

पुनरावर्ती गर्भपात और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देशित किया जाता है। इन सब में ये माला डी(mala d) टैबलेट बहुत ही उपयोगी होती है।अगर आप भी इन सब समस्या से परेशान है, तो आप भी (doctor) की सलाह से ये गोली आप यूज कर सकते हो।

माला डी कैसे काम करती है।

दोस्तों आपने माला डी (mala d) टेबलेट (tablet) के बारे में तो खूब सुना होगा । लेकिन क्या आप यह जानते हैं, कि यह टेबलेट किस काम में आती है। और यह किस प्रकार से काम करती हैं, अगर आप माला डी (mala d) के बारे में नहीं जानते हैं। या आप यह नहीं जानते हैं, कि कैसे काम करती है। तो इसके बारे में आज हम आपको विस्तार पूर्वक इस पोस्ट (post) के माध्यम से बताएंगे, तो चलिए जान लेते हैं, माला डी(mala d) कैसे काम करती है।

माला डी टैबलेट में सक्रिय तत्व के रूप में एथिनिलेस्ट्राडियोल और लेवोनोर्जेस्ट्रेल होता है। जो माला डी (mala d) टैबलेट(tablet) अंडाशय से अंडा बाहर आने से रोकता है, जिसके कारण गर्भ धारण करने से बचा जा सकता है। माला डी टैबलेट (tablet) ओवुलेशन और अंडा छोड़ने से अंडाशय को रोकने का काम करता है। तो अब आप समझ गए होंगे, कि माला डी(mala d) टेबलेट (tablet) किस प्रकार से काम करती है। और ये किस काम में आती है, यह क्या होती है ,यह सब बात आप अब जान गए होंगे। अगर आप भी इसका सेवन करना चाहते हैं। तो पहले डॉक्टर (doctor) की सलाह अवश्य ले। ताकि आपको कोई भी किसी भी प्रकार की परेशानियां कोई साइड इफेक्ट ना हो।

माला डी गोली कब लेनी चाहिए।

mala d tablet kaise use kare : दोस्तों आज हम आपको माला डी टैबलेट कैसे यूज कर सकते हैं, अर्थात माला डी गोली कब लेनी चाहिए, इस के बारे में हम आज आपको बताएंगे। कि आप माला डी (mala d) टेबलेट(tablet) कैसे यूज कर सकते हैं। वह सही प्रकार से यूज करने से कोई साइड इफेक्ट नहीं होगा । इसके बारे में आज हम आपको विशेष जानकारियां देते हैं, और साथ में यह भी बताएंगे। की माला डी (mala d) टेबलेट (tablet) कौन-कौन से कार्यों में उपयोगी होती है, तो चलिए जान लेते हैं, माला डी टैबलेट कैसे यूज़ करने के बारे में।

माला डी टेबलेट एक एंटीकोगुलेंट हैं, और रक्त के थक्कों के गठन को कम करने के लिए उपयोग किया जाता है। माला डी टैबलेट गर्भ पात असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर गर्भावस्था को रोकने के लिए माला डी(mala d) की गोलियाँ, रजोनिवृत्ति में अल्पकालिक परिवर्तन को कम करने या रोकने के लिए, हार्मोनल गर्भ निरोधकों, मौखिक गर्भ निरोधकों, मुँहासे आदि के लिए उपयोग किया जाता है। 

Mala D Tablet का यूज कैसे करे।

तो चलिए जान लेते हैं, माला डी टेबलेट का यूज़ किस प्रकार से करना चाहिए। अगर आप माला डी टेबलेट का यूज़ करना चाहते हैं, तो आप भोजन करने के बाद ही इस टैबलेट (tablet)का उपयोग करना चाहिए , या फिर आप भोजन के साथ भी इसका उपयोग कर सकते हैं। इस टैबलेट(tablet) को कुचला नहीं जाता है ,इसकी गोली निकाल कर निकल लेनी चाहिए । और इस गोली का सेवन एक निश्चित समय के साथ करना चाहिए। वह भी डॉक्टर (doctor) की सलाह से एक निश्चित खुराक देनी चाहिए, तो अब आप समझ गए होंगे, कि माला डी टैबलेट (tablet) किस प्रकार से यूज कर सकते हैं।

mala d tablet in hindi.

आज हम आपको माला डी टेबलेट(tablet) इन हिंदी के बारे में विस्तारपूर्वक बताएंगे । ताकि आप भी माला डी(mala d) टेबलेट के बारे में जानकर उसका सही से इस्तेमाल कर सकें, और आप भी अपनी समस्या का समाधान कर सके है, तो चलिए जान लेते हैं। माला डी (mala d ) टेबलेट (tablet) इन हिंदी के बारे में जो हमारे लिए किस प्रकार से उपयोगी और लाभदायक हो सकती है।

(Mala D Tablet) एक गर्भनिरोधक गोली है, जिसका सेवन अनचाहे गर्भ से बचने के लिए किया जाता है। यह मौखिक गोली है जिसे 28 दिनों तक लगातार इस गोली का सेवन करना चाहिए या डॉक्टर (doctor)के द्वारा बताए गए नियमानुसार और समय के अनुसार इसका सेवन करना चाहिए। ये कुछ समय के लिए, यह अनियमित अवधियों के उपचार में निर्धारित है। माला डी टैबलेट (Mala D Tablet) में दो प्रकार की गोलियां होती हैं, सफ़ेद गोली, जो एथिनिल एस्ट्राडियोल और लेवोनोर्जेस्ट्रेल के सक्रिय अवयवों का एक संयोजन है और रेड टैबलेट फेरस फ्यूमरेट से बना है। यह शुक्राणु द्वारा अंडे को बाहर आने से इसके निषेचन को रोकने में मदद करता है। एथिनाइल एस्ट्राडियोल और लेवोनोर्जेस्ट्रेल (सफेद) टैबलेट को अगले 7 दिनों के लिए फेरम फ्यूमरेट (लाल) गोलियों के बाद 21 दिनों के लिया जाता है। यह ओव्यूलेशन को रोककर यानि अंडाशय को अंडा छोड़ने से रोकता है।

माला डी टैबलेट (Mala D Tablet) की गोलियाँ को रजोनिवृत्ति के अल्पकालिक परिवर्तनों को कम करने या रोकने के लिए भी काम में लिया जाता है। गोली का सेवन करने से पहले आपको (doctor) की सलाह लेनी चाहिए । क्योंकि इसके कुछ साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं ,जैसे पेट के निचले हिस्से में दर्द,
उल्टी,
एलर्जी,
उच्च रक्तचाप आदि।

अगर आप डॉक्टर की सलाह से गोली का सेवन करते हो तो आपको इस गोली का सेवन नियमित रूप से करना होगा। ताकि यह आपको 3 साल तक गर्भावस्था से बचा सकती है, ये बहुत ही अच्छी और कारगर दवा है ,क्यों आपको गर्भावस्था जैसी समस्या से बचाती है।

माला डी टैबलेट के साइड इफेक्ट।

  1. हाई ब्लडप्रेशर
  2. उल्टी
  3. पेट दर्द
  4. बाधित मासिक धर्म चक्र
  5. गंभीर एलर्जी
  6. स्तन में दर्द
  7. सिरदर्द
  8. माला डी टैबलेट का उपयोग
  9. यह एक गर्भनिरोधक गोली है।
  10. मासिक धर्म संबंधित असमानताएं।

आदि कई प्रकार से उपयोग में इस गोली को लिया जा सकता है।

माला डी गर्भनिरोधक गोली price.

माला डी गोली price : दोस्तों, यदि आप माला डी गर्भनिरोधक गोली price,माला डी गोली price,mala d tablet price in hindi, के बारे में जानना चाहते हैं तो आज हम आपको इस गोली की price अर्थात कीमत के बारे में बताएंगे, तो आइए जानते हैं इसकी कीमत क्या होती हैं।

माला एन गोली पीले पेपर के लिफाफे में 26 गोली का एक पैकेट आता है। लिफाफे के अंदर और पत्रक के अंदर उपयोग के लिए एक निर्देश लिखा होता है।

जो महिलाएं स्तनपान करवाती हैं, उनको डॉक्टर(doctor) की सलाह से ही इस गोली का सेवन करना चाहिए। माला डी गर्भनिरोधक गोली की price – 350 रु. हैं।

माला डी गोली किस काम आती है।

‘दोस्तों(dosto)’ आज हम आपको माला डी(mala d) गोली किस काम में आती है। इसके बारे में बतायेगे। अगर आप माला डी गोली के बारे में विस्तार पूर्वक जानना चाहते हैं, कि यह गोली कितनी आती है। और कब लेनी चाहिए , और किस काम में आती है, अगर यह सब बातें आप जाना चाहते हैं। तो इस पोस्ट(post) पर पूरा पढ़िए और जान लीजिए। की माला डी गोली किस काम में आती है । तो चलिए जान लेते हैं, माला डी गोली के बारे में।

माला डी टैबलेट का उपयोग गर्भनिरोधक के इलाज के लिए किया जाता है। अगर आप बच्चे नहीं चाहते। या फिर आपको एक बच्चा हो और दूसरे बच्चों में आपको अंतर रखना है । तो बहुत सारी महिलाएं माला डी गर्भनिरोधक गोली लेती है। (mala d ), (mala n) यानी गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती है । ये दोनों गर्भ निरोधक गोलियां सबसे बेस्ट होती है, दूसरी गर्भनिरोधक गोलियों से। इसकी 21 गोलियां  आती है।  वह मासिक धर्म के पांचवे दिन से 26 वे दिन तक लगातार लेनी होती है । कुछ इन की 30 गोलियां भी आती है। वह पीरियड के पहले दिन से तीसवे दिन तक लगातार लेनी होती हैं। या फिर आप डॉक्टर (doctor) की सलाह के अनुसार इस गोली का सेवन कर सकते हैं।

माला डी गोली खाने से क्या होता है।

इस माला डी(mala d) गोली का उपयोग महिलाओं के गर्भनिरोधक के लिए किया जाता है। आइये इस गोली के बारे में विस्तार से जानते हैं, तो आज हम जानेंगे की माला डी गोली खाने से क्या होता है ,के बारे में तो चलिए जान लेते हैं। इस पोस्ट(post) के माध्यम से माला डी गोली की बारे में विस्तार पूर्वक ,वैसे तो आप ने गोली का नाम सुना ही होगा। लेकिन आप भी जानते हो कि खाने से कितने सारी समस्याओं का यानि की कितनी सारी बीमारियों का इलाज होता है। अगर नहीं जानते हैं, तो चलिए आज जान लेते हैं, माला डी (mala d) गोली खाने से क्या होता है । के बारे में विस्तार से।

1) गर्भनिरोधक दवा है

2) तीन साल तक गर्भावस्था को रोकने के लिए सहायक है।

3) असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर गर्भावस्था की रोकथाम के लिए उपयोगी होती है।

4) रजोनिवृत्ति के अल्पकालिक परिवर्तन को कम करना या रोकना ।

5) गर्भावस्था की रोकथाम के लिए।

6) मासिक धर्म में होने वाली समस्याओं में उपयोगी।

7) योनि की सूजन को दूर करना।

8) मुहांसे को हटाने में।

9) स्तन कैंसर को दूर करने में।

10) अंडाशय में गांठ

यह एक गर्भनिरोधक गोली है, जो गर्भाशय में निषेचित अंडे को जमने से रोकती है, जिससे गर्भ नही ठहरता है। यह दवा इन सभी समस्याओं के समाधान के लिए भी लाभदायक होती है। लेकिन आप माला डी गोली का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर (doctor) की सलाह अवश्य ले , ताकि आप को किसी भी प्रकार की समस्या या साइड इफेक्ट नहीं हो ।

mala d tablet side effects in hindi.

आपने माला डी टैबलेट(tablet) यह बारे में खूब सुना है। और शायद इसका इस्तेमाल भी किया होगा, और इसके साथ साथ आपने इसके कुछ फायदे भी पढ़े होंगे ,या देखे होंगे लेकिन क्या आप यह जानते हैं। कि ये टेबलेट ( tablet ) फायदे के साथ में आपको नुकसान भी दे सकती है। अगर आप भी माला डी(mala d ) टेबलेट(tablet) के साइड(side) इफेक्ट( effects) के बारे में नहीं जानते हैं। तो आज हम आपको माला डी टेबलेट साइड इफेक्ट इन हिंदी के बारे में विस्तार पूर्वक बताएंगे। तो चलिए जान देते हैं, इस पोस्ट (post)के माध्यम से माला डी टेबलेट साइड इफेक्ट इन हिंदी के बारे में ताकि आप भी कई प्रकार के साइड इफेक्ट से बच सके। हम नीचे आपको कुछ बिंदु के माध्यम से माला डी टेबलेट के साइड इफेक्ट के बारे में बताने जा रहे हैं, तो चलिए जान देते हैं।

side effects:

  1. चक्कर आना।
  2. मितली आना ।
  3. उल्टी होना।
  4. कमजोरी महसूस होना।
  5. अनियमित मासिक धर्म
  6. ब्रेस्ट में दर्द होना
  7. पीरियड्स के दौरान अधिक रक्त स्त्रावित होना।
  8. पेट दर्द होना।
  9. बालों का झड़ना।
  10. मुहांसे होना।

माला डी टैबलेट(tablet) का इस्तेमाल करने से आपको कई सारे साइड इफ़ेक्ट हो सकते हैं, लेकिन ये साइड इफेक्ट्स आपको हमेशा नहीं होंगे। लेकिन जब भी आपको ऊपर बताए गए बिंदुओं में से कोई भी एक लक्षण दिखाई दे, तो आप तुरंत डॉक्टर (doctor)की सलाह लें। और इस गोली का सेवन करना बंद कर दें, अब आप समझ ही गए होंगे। कि क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं, उनका कैसे पता लगा सकते हैं।

mala d tablet detail in hindi.

क्या आप भी माला डी(mala d) टेबलेट (tablet)की डिटेल जानना चाहते हैं, तो आज आप इस पोस्ट के माध्यम से यह सभी बातें बतायेगे। कि माला डी टेबलेट किस काम में आती है, और किस तरीके से इसको लेना चाहिए। और इसके क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं, यह सब बातें आज हम आपको एक पोस्ट (post)के माध्यम से आपको बताएंगे ,तो चलिए जान लेते हैं ,
mala d tablet detail in hindi.

माला डी(mala d) एक गर्भनिरोधक दवा है, जिसे प्रेग्नेंसी(paregnensi) को रोकने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसकी मदद से महिलाओं में अनियमित मासिक धर्म का इलाज भी होता है। यह दवा अंडे को बने से रोकती है, जिससे शुक्राणु उसे फर्टिलाइज नहीं कर पाते। इसके अलावा माला डी टैबलेट(teblet) गर्भाशय में शुक्राणु (shukranu)और अंडे को एक होने से रोकती है। जिससे प्रेग्नेंसी नहीं हो पाती है। है। यह दवा गर्भाशय में कुछ इस प्रकार के बदलाव करती है , इस कारण से गर्भधारण नहीं हो पाता है।

माला डी ( mala-d) का सेवन केवल डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिए । वरना कई सारे साइड इफेक्ट हो सकते है , अब हम आप को बतायेगे। की किन लोगो को इस गोली से साइड इफेक्ट्स हो सकते है, तो चलिये जान लेते है।

1) जिन को धूम्रपान की लत होती है , उन को इस गोली का सेवन नही करना चाहिए ।

2) शराब की लत वालो को भी इस टेबलेट (tablet) का सेवन नही करना चाहिए है।

3) लिवर के रोगी को भी माला डी टेबलेट (tablet)का सेवन नही करना चाहिए।

4) एडिमा के रोगी को भी इस का सेवन नही करना चाहिए।
माला डी टैबलेट एक सुरक्षित दवा है। इसके गलत इस्तेमाल के कारण कई साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं। इसलिए इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर(doctor) से सलाह लेना बेहद जरूरी होता है।

दावा लेने का तरीका :-

आप इस दवा को चबाये नही और ना ही तोड़ना या दांतों में पीसना चाहिए। इसे सीधा निगलना ही चाहिए। आप चाहें तो पानी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इस दवा को खाना खाने से पहले व बाद में भी लिया जा सकता है। अच्छा रहेगा कि रोजाना दवाई लेने का एक नियमित समय तय कर लें।
इस दवाई (dawai) का प्रभाव प्रत्येक व्यक्ति पर अलग अलग होता है । क्योंकि सब का शरीर अलग अलग होता है, इसलिए इस गोली (goli) का इस्तेमाल सही तरीके से करने के लिए वैसे ही खुराक लेने के लिए आप डॉक्टर(doctor) की सलाह या परामर्श से ही इस गोली का सेवन करें। और अधिक उम्र की महिलाओं को भी इस दवा का प्रयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से उनको कई प्रकार के दुष्प्रभाव का सामना करना पड़ सकता है।

माला एन गर्भनिरोधक गोलियां।

आइए जानते हैं, माला एन (mala-n) गर्भनिरोधक गोली के बारे में। माला एन (mala-n) एक गर्भनिरोधक गोली है, जो गर्भाशय में निषेचित अंडे को रोकती है, माला एन टैबलेट (teblet)अंडे को अंडाशय से बाहर आने से रोकती है, जिसके कारण गर्भाधान से बचा जाता है। माला एन टैबलेट ओव्यूलेशन से बचा कर काम करती है। माला एन गोली पीले पेपर के लिफाफे में 26 गोली का एक पैकेट आता है। लिफाफे के अंदर और पत्रक के अंदर उपयोग के लिए एक निर्देश मैनुअल है।

जो महिलाएं स्तनपान करवाती हैं, उनको डॉक्टर(doctor) की सलाह से ही इस गोली का सेवन करना चाहिए। और इस गोली को चबाये नहीं और ना ही तोड़े हैं, कुचले नही । इसको सीधा ही निकल लेना चाहिए। इस गोली का सेवन आप खाना खाने से पहले या खाना खाने के बाद या खाने के साथ में भी कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे आपको इस गोली का सेवन एक निश्चित समय के अनुसार ही करना चाहिए। और 35 वर्ष से अधिक उम्र की महिलाओं को इस माला एन का उपयोग नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे साइड(saed) इफेक्ट भी हो सकता है , अगर आप उपयोग करना चाहती है। तो 35 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही उपयोग करना चाहिए।

माला एन टैबलेट के साइड इफेक्ट।

अगर आप (mala-n) टेबलेट का यूज करते हैं। तो आज हम आपको वह लक्षण बताएंगे जो साइड इफेक्ट होने पर शरीर में देखने को मिलते हैं। तो आइए जान लेते हैं, (mala-n) टेबलेट के साइड इफेक्ट के बारे में।

मुँहासे हो जाना।

रक्तचाप का बढ़ना

पेट के निचले हिस्से में दर्द रहना।

मासिक धर्म की अस्थाई परेशानी ।

उल्टी होना।

सिर चकराना।

अनियमित रक्तस्राव होना।

कमर दर्द होना।

रक्त के थक्के द्वारा अवरुद्ध एक रक्त वाहिका।

सरदर्द होना।

एलर्जी की समस्या।

माला डी गोली कितने रुपए की आती है।

क्या आप माला डी ( mala d )गोली की प्राइस जाना चाहते हैं। तो आप सही जगह पर आये हैं , आज हम आपको माला डी गोली कितने रुपए की आती है। इसके बारे में बताएंगे और कितने रुपए की कितनी गोलियां(goliya) आती हैं। तो चलिए जान लेते हैं। (mala-d) कितने रुपए की आती है कि बारे में
वैसे तो यह गोलियां(goliya) सरकारी अस्पताल में फ्री उपलब्ध हो जाती हैं लेकिन मेडिकल स्टोर पर ये गोलिया 4 रुपये 80 पैसे में प्राप्त हो जाती है ये 28 गोलिया मिलती है।

mala d tablet kaise use kare.

आज हम आपको माला डी (mala d) टेबलेट( tablet)कैसे यूज़ करते हैं ,के बारे में विस्तारपूर्वक बताएंगे ।और साथ में यह भी बताएंगे, कि क्या क्या काम में आती है। तो चलिए जान देते हैं, माला(mala) डी(d) टैबलेट कैसे यूज़ करते हैं, के बारे में तो आइए शुरू करते हैं।

माला डी एक एंटीकोगुलेंट टेबलेट हैं, और रक्त के थक्कों के गठन को कम करने के लिए उपयोग किया जाता है। माला डी टैबलेट गर्भावस्था में तीन साल तक, गर्भावस्था की रोकथाम, रजोनिवृत्ति, हार्मोनल गर्भनिरोधक, और अन्य समस्याओ के उपचार के लिए सहायक होती है।असुरक्षित यौन संबंध के 72 घंटों के भीतर गर्भावस्था को रोकने के लिए माला डी की गोलियाँ(goliya), का उपयोग किया जाता है। 
इस गोली को आप खाना खाने के बाद या खाना खाने से पहले भी है ,आप खा सकते हैं। लेकिन इसका एक निश्चित समय पर लेना बहुत जरूरी होता है। इस गोली को चबाया या तोडा नहीं जाता है ,इसको सीधा निकलना पड़ता है। और आप डॉक्टर की सलाह से ही इससे गोली का सेवन करें।

Note : –

यह आर्टिकल आपकी हेल्थ से संबंधित किसी भी प्रकार का दावा नहीं करता हैं। यदि इस दवा को लेने से आपको अपने शरीर में किसी प्रकार के साइड इफेक्ट देखने को मिलते हैं तो इसके लिए आप खुद जिम्मेदार होंगे। ऐसे में हमारा आपसे यही निवेदन है कि आप इसका जब भी उपयोग (use) करें। डॉक्टर की परामर्श से ही इसका सेवन ना करें।