दौड़ने के फायदे। दौड़ने के फायदे और नुकसान। running karne ke fayde.10 benefits of running.

दौड़ने के फायदे। रनिंग के फायदे।
running in hindi. running ke fayde.

running karne ke fayde : यह तो आप जानते ही हैं कि रनिंग करने के कई प्रकार के फायदे होते हैं, जैसे कि हर दिन सुबह-सुबह रनिंग से हमारा स्वास्थ्य स्वस्थ रहता है। कई प्रकार की बीमारियों से भी निजात मिलती है। रनिंग(runing)के फायदे व कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं आइए जानते हैं रनिंग करने के क्या-क्या फायदे हैं।आज हम आपको दौड़ने के फायदों के बारे में बताएंगे की दौड़ने से क्या- क्या फायदे होते हैंं। दौड़ने से अनेक प्रकार की बीमारियों से भी निजात मिलती हैं।

  • 1 रोग प्रतिरोधक( immunity) क्षमता को बढ़ाना, नियमित रूप से दौड़ने से आप कई प्रकार की बीमारियों से दूर रहते हैं । रोग प्रतिरोधक ( immunity) क्षमता मजबूत बनी रहती है इससे बीमारियों का खतरा भी कम रहता है।
  • 2 अस्थमा की समस्या भी आसानी से खत्म हो जाती है। नियमित (Regular) रनिंग (runing) से फेफड़े मजबूत होते हैं । अस्थमा की समस्या में सुधार होता है अर्थात आराम मिलता हैं।
  • 3 शारीरिक रूप से मजबूती बनी रहती है और रनिंग (runing) करने से शरीर मजबूत बनता हैं।
  • 4 नियमित(Regular) रनिंग से वजन भी कम होता है। अगर आप रोजाना 30 मिनट या 1 घंटे तक दौड़ करते हैं तो इससे आपका वजन कम हो जाता हैं।
  • 5 मधुमेह के रोग में भी लाभदायक होता हैं। अगर आप रनिंग (runing) करते हैं तो इंसुलिन की प्रक्रिया में सुधार होता है ,और शरीर में रक्त शर्करा की मात्रा नियंत्रित रहती है।
  • 6 प्रतिदिन(everyday) रनिंग (runing) से हड्डियां मजबूत(strong) होती हैं, इसलिए आप स्वस्थ रहते हैं और अनेक बीमारियों से भी छुटकारा मिलता हैं।
  • 7 रनिंग करने(runing)से हड्डियां भी बढ़ती हैं। अर्थात उनका घनत्व बढ़ता है। हड्डियां मजबूत बनी रहती हैं।

दौड़ने के फायदे और नुकसान । दौड़ने के नुकसान।raning karane ke phaayade aur nukasaan.

रनिंग करने के फायदे और नुकसान : आज हम आपको दौड़ने के क्या-क्या फायदे हैं। यह बताएंगे और साथ ही आज हम आपको यह भी बताएंगे कि अधिक दौड़ने के क्या- क्या नुकसान हो सकते हैं। दौड़ने व रनिंग करने के फायदे और नुकसान के बारे में आज हम आपको विस्तार से बताते हैं।

  1. अस्थमा की समस्या भी आसानी से खत्म हो जाती हैं। रनिंग से फेफड़े मजबूत होते हैं । अस्थमा की समस्या में सुधार होता हैं।
  2. रोग प्रतिरोधक क्षमता ( immunity) मजबूत बनी रहती है । दौड़ने से आप कई प्रकार की बीमारियों से बच सकते हैं, इससे बीमारियों का खतरा भी कम होता हैं।
  3. शारीरिक रूप से मजबूती बनी रहती है और रनिंग करने से शरीर मजबूत बनता हैं।
  4. दौड़ना मधुमेह के रोग में भी लाभदायक होता है। अगर आप रनिंग करते हैं तो इंसुलिन की प्रक्रिया में सुधार होता है, और शरीर में रक्त शर्करा की मात्रा नियंत्रित रहती हैं।
  5. रनिंग( runing)करने से वजन भी कम होता हैं। अगर रोजाना 30 मिनट या 1 घंटे तक दौड़ करते हैं, तो इससे आपका वजन कम हो जाता हैं।
  6. रनिंग से हड्डियां का घनत्व बढ़ता है। हड्डियां मजबूत बनी रहती हैं।
  7. दौड़ने से हड्डियां मजबूत (strong) होती है। शरीर स्वस्थ रहता हैं और अनेक प्रकार की बीमारियों से भी छुटकारा मिलता हैं।

दौड़ने(runing) का एक सही तरीका होता है। अगर आप सही तरीके से दौड़ते हैं तो आपको स्वास्थ्य संबंधी कई प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं। हड्डियां मजबूत होती हैं। इत्यादि। कई प्रकार के लाभ मिलते हैं।

दौड़ने व रनिंग करने के नुकसान। दौड़ने के फायदे। दौड़ने के फायदे और नुकसान।

रनिंग( runing) करते वक्त इन सभी गलतियों को ना करें । जिससे कि आपके शरीर को नुकसान उठाना न पड़े। दौड़ते समय ठोस जगह पर नहीं दौड़ना चाहिए। ऐसा करने पर मांसपेशियों में खिंचाव हो जाता है, जिससे कि जोड़ों में दर्द होने लग जाता है,जांग, पिंडली और मांसपेशियां भी दुखने लगती हैं। ऐडीयो में भी दर्द की संभावना बढ़ जाती है । अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा की समस्या है , तो उन्हें रनिंग(runing) करने से नुकसान हो सकता है । अस्थमा के रोगी को अधिक तेज नहीं दौड़ना चाहिए। फिर धीरे-धीरे दौड़ना चाहिए। क्योंकि तेज दौड़ने( runing)से, सांस लेने में प्रॉब्लम आ जाती है। इसलिए अस्थमा के रोगी को अधिक तेज दौड़ना नहीं चाहिए। जो लोग अपना वजन(weight) बढ़ाना चाहते हैं तो उन लोगों को भी रनिंग नहीं करनी चाहिए। बल्कि इसकी जगह मॉर्निंग वॉक करना चाहिए।

सुबह दौड़ने के फायदे running karne ke fayde in hindi. benefits of morning walk in hindi

subah daudane ke phaayade : आज हम आपको सुबह- सुबह दौड़ने के क्या-क्या फायदे होते हैं। इनके बारे में आज हम आपको बताएंगे। सुबह-सुबह दौड़कर आप अपने इम्यूनिटी( immunity) सिस्टम को बढ़ा सकते हैं । शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं। दौड़ने से आपका स्वास्थ्य अच्छा बना रहता हैं। आइए जानते हैं दौड़ने के क्या-क्या फायदे हैं।

सुबह दौड़ने से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है। सुबह running karne से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है।

मेटाबॉलिज्म शरीर की ऊर्जा के रूप में होती है। अगर आप fit रहना चाहते हैं या अपना वजन कम करना चाहते हैं,तो आप रोजाना दौड़ करें ऐसा करने से आपके शरीर का वजन कम होगा। आपके शरीर में वसा भी जमा नहीं होगी व मेटाबॉलिज्म भी तेजी से नहीं बढ़ता हैं।

सुबह दौड़ने से मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता हैं।

दौड़ने से आपके मानसिक स्वास्थ्य पर भी सकारात्मक रूप से प्रभाव पड़ता है। सुबह दौड़ने से आपके शरीर में कई प्रकार के अलग-अलग निवेश में परिवर्तन होते हैं। इसलिए आप बाहर दौड़ने के लिए जरूर जाएं। क्योंकि दौड़ने से मानसिक स्वास्थ्य का लाभ प्राप्त होता है ,व शारीरिक रूप से भी स्वस्थ रहते हैं।

सुबह दौड़ने से अच्छी नींद आने में कारगर ।

अगर आप सोने से पहले दौड़ करके सोते हैं तो अच्छी नींद की प्राप्ति होती हैं। कई लोग खाना खाने के बाद काफी देर तक दौड़ते हैं उनको भी अच्छी नींद आने से अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति होती हैं। जो लोग सुबह दौड़ नहीं कर पाते हैं वह शाम को अगर दौड़ करके सोते हैं। तो उनको अच्छी नींद की प्राप्ति होती हैं।

सुबह दौड़ने से जोड़ों के लिए फायदेमंद।

कई लोग यह सोचते हैं कि दौड़ने से आपके जोड़ों के दर्द की समस्या हो सकती है। लेकिन एक अध्ययन से यह पता चला है कि दौड़ने से जोड़ों के दर्द की समस्या कम हो जाती है। क्योंकि दौड़ने से हमारे शरीर का वजन कम होता है। हमारे शरीर के जोड़ों व मांसपेशियों पर खिंचाव होता है वह भी कम हो जाता है इसलिए जोड़ों के दर्द के लिए भी दौड़ना फायदेमंद होता हैं।

सुबह दौड़ने से दिल की समस्या को दूर होती है।

अगर आप हृदय रोग को कम करना चाहते हैं तो आप हर दिन 20 या 30 मिनट तक दौड़े ऐसा करने से दिल की समस्या दूर होती है।अर्थात दिल की समस्या में सुधार होता हैं । क्योंकि दौड़ आपके हार्ट(heart)को अधिक क्रियाशील बनाती है और ब्लड सरकुलेशन (Blood circulation) को भी नियंत्रित रखता है या बेहतर बनाता हैं।

सुबह दौड़ने से इम्यूनिटी पॉवर बढ़ता है ।

रोजाना सुबह – सुबह दौड़ करते हैं तो आपकी स्वास्थ्य संबंधी कई प्रकार की बीमारियां तो दूर होती हैं। साथ ही साथ इम्यूनिटी( immunity) बढ़ती हैं। जिससे आप कई प्रकार की बीमारियों से बच सकते हैं । मोटापा को बढ़ने से भी रोकता है। शरीर शारीरिक और मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहता हैं, इसलिए सुबह -सुबह दौड़ करना बहुत ही फायदेमंद होता हैं ।

सुबह जॉगिंग के फायदे। jogging benefits in hindi.

jogging ke fayde : आज हम आपको जोगिंग के क्या फायदे हैं। इनके बारे में आज आप हम आपको विस्तार पूर्वक बताते हैं आइए जानते हैं जोगिंग के क्या फायदे हैं।

  1. जोगिंग( jogging) हमारी पाचन शक्ति को मजबूत बनाती है । पेट की समस्या को दूर करती हैं। इससे पाचन तंत्र यानी की पाचन संबंधी समस्या दूर होकर पाचन तंत्र मजबूत बना रहता हैं।
  2. जोगिंग करने से शरीर की हड्डियां और मांसपेशियां दोनों ही मजबूत बनती है । अपनी हड्डियों को मजबूत बनाने व मांसपेशियों को सुदृढ़ करने के लिए जोगिंग करना चाहिए।
  3. जोगिंग करने से शरीर का रक्त संचार बढ़ता है ,और दिल से संबंधित बीमारियां दूर होती है। दिल मजबूत होता है और हार्टअटैक (heart attack) की समस्या भी दूर होती हैं।
  4. रोजाना जोगिंग करने से शरीर में एनर्जी प्राप्त होती हैं। ऊर्जा का संचार होता हैं। जिससे आप दिनभर थकान महसूस नहीं कर पाते हैं ,तरोताजा बने रहते हैं।
  5. जोगिंग करने से मोटापे की समस्या भी दूर होती हैं। यह शरीर में जमने वाली वसा को जमने से रोकता हैं। मोटापा कम करता है। इसलिए हर रोज जोगिंग करना बहुत ही लाभदायक होता हैं।

सुबह कितना दौड़ना चाहिए। सुबह उठकर कितना दौड़ना चाहिए? subah kitana daudana chaahie.

How much should you run in the morning : वैसे तो आप जानते ही हैं कि सुबह-सुबह दौड़ना हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना लाभदायक है। लेकिन आज हम आपको यह बताते हैं कि सुबह उठकर कितना दौड़ना चाहिए। आइए जानते हैं कि सुबह कितना दौड़ना चाहिए जिससे कि आपको और अधिक लाभ प्राप्त हो।

सुबह- सुबह दौड़ने का सही तरीका आपको हर दिन 20 से 30 मिनट तक दौड़ना चाहिए। सुबह- सुबह नियमित दौड़ने का अभ्यास करने से अच्छे स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है। दौड़ने के लिए रनिंग shoes यानी कि दौड़ने के जूते (shoes)अच्छे जूतों का ही इस्तेमाल करना चाहिए, ताकि आपको किसी भी प्रकार की समस्या ना हो। दौड़ने से मानसिक स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।अस्थमा की समस्या कम होती हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity)बढ़ती हैं। वजन कम होता हैं। शारीरिक मजबूती बनी रहती हैं। हड्डियों का घनत्व बढ़ता रहता हैं। मधुमेह पर भी नियंत्रण करता हैं, इसलिए सुबह- सुबह 20 से 30 मिनट तक दौड़ने का तरीका सही तरीका माना गया हैं।

दौड़ने का सही समय क्या है ।daudane ka sahee samay kya hai.

What is the right time to run : आज हम आपको दौड़ने का सही समय क्या हैं। सही टाइम पर दौड़ने से अच्छा लाभ प्राप्त होता हैं, इसलिए आज हम आपको दौड़ने का सही टाइम बताते हैं यह जानने के लिए कि दौड़ने का सही समय क्या है नीचे दी गई बातों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

दौड़ने का सही समय (time) सुबह और शाम के समय को माना गया है क्योंकि सुबह और शाम को दौड़ना स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होता हैं। दौड़ना वजन को घटाने में भी अधिक फायदेमंद होता हैं। क्योंकि सुबह और शाम को सूर्य की गर्मी भी नहीं होती है इसलिए व्यक्ति अच्छी प्रकार सुबह- शाम आराम से बिना थके दौड़ सकता हैं।

सुबह दौड़ने के बाद क्या करना चाहिए?subah daudane ke baad kya karana chaahie.

What should I do after running in the morning : आइए जानते हैं सुबह दौड़ने के बाद में क्या करना चाहिए। जिससे हमें और अधिक लाभ प्राप्त हो। ऐसा क्या करना चाहिए। सुबह दौड़ने के बाद में आइए जानते क्या करना चाहिए।

दौड़ने के बाद सब्जियों का सेवन करना चाहिए। क्योंकि सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट(antioxidant), विटामिन (vitamin) और इम्यूनिटी बढ़ाने( immunity)और मोटापा घटाने के कई प्रकार के गुण मौजूद होते हैं। आप सब्जियों को थोड़े से तेल में फ्राई करके जैसे कि पालक, गाजर इत्यादि। कई प्रकार की सब्जियों का सेवन कर सकते हैं। अगर आप सैंडविच खाना चाहते हैं तो खीरे, गाजर और टमाटर का सैंडविच बनाकर भी खा सकते हैं।

केला कार्बोहाइड्रेट से भरपूर होता हैं। दौड़ करने के बाद में केला जरूर खाएं । केला खाने से आपको ऊर्जा मिलती हैं। केले का सेवन शेक बनाकर भी कर सकते हैं। केला वसा रहित होता है इसलिए आप केले के साथ – साथ स्ट्रॉबेरी का भी उपयोग कर सकते हैं।

अगर आप दौड़ने के बाद भोजन (food),सैलेड खाते हैं तो आपके शरीर को फाइबर और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में प्राप्त होते हैं ।सैलेड कई प्रकार से बना सकते हैं जैसे कि संतरे, रसभरी और अंगूर का प्रयोग करके आप सैलेड तैयार कर सकते हैं । यह सभी खाने से आपका ब्लड प्रेशर (blood pressure) कंट्रोल में रहता हैं। दिल की बीमारी भी दूर होती है।

दौड़ करने के बाद बादाम का सेवन करें। बादाम का सेवन आप मिल्क शेक में भी कर सकते हैं। क्योंकि बादाम में विटामिन भरपूर मात्रा में पाये जाते है और बादाम तेज दिमाग के साथ-साथ ताजगी व मजबूती भी बनाए रखता है। एनर्जी भी प्रदान करता है और कई प्रकार के रोगों से भी निजात दिलाती हैं। बादाम का सेवन करने से कोलेस्ट्रोल (cholesterol)की समस्या भी नहीं बढ़ती है।

दौड़ना कैसे चाहिए?daudana kaise chaahie.

how to run : आइए जानते हैं की दौड़ना कैसे चाहिए। आज हम आपको यह बताते हैं कि किस प्रकार से दौड़ना चाहिए।

आप दौड़ने से पहले 10 मिनट पैदल चलें । फिर उसके बाद में धीरे-धीरे दौड़ की गति को बढ़ाएं । आपको अपनी सावधानी का जरूर ध्यान रखना चाहिए। दौड़ते समय (time) आपको अपने कंधों को ऊंचा परंतु कंधों को पीछे लेकिन रिलैक्स होकर ही दौड़ना चाहिए व अपने मसल्स को भी टाइट रखना है लेकिन आप अपनी गर्दन और कंधों पर अधिक दबाव ना डालें वरना आप की गर्दन में खिंचाव हो सकता हैं। दबाव डालने से अर्थात ऐसा करने से आप ज्यादा लंबे समय तक नहीं तोड़ पाएंगे। इसलिए कंधों पर अधिक दबाव ना दें। गर्दन में खींचाव ना लाएं और दौड़ते समय अपनी बॉडी या शरीर को रिलैक्स रखें। दौड़ करते समय नाक से सांस लेकर मुंह से बाहर निकाले आप ऐसा करते हैं तो अधिक थकान नहीं होती है। दौड़ करते समय (time) या दौड़ करने से पहले अपने time और अपनी दूरी का सही ध्यान रखते हुए ही करें। ताकि आपको अपने लक्ष्य (target) और आपके स्वास्थ्य दोनों पर ही आपका फोकस बना रहे, और दौड़ना आपके लिए लाभदायक साबित हो सके।

सड़क पर दौड़ने के फायदे । Morning Walk Benefits in Hindi.

sadak par daudane ke phaayade : सड़क पर दौड़ने के फायदों के बारे में आज हम आपको बताएंगे। सड़क पर दौड़ने से क्या- क्या फायदे(Benefits )होते हैं, इसके बारे में आइए जानते हैं क्या फायदे हैं सड़क पर दौड़ने से ।

सड़क पर दौड़ने(runing) के बहुत सारे फायदे होते हैं जैसे कि वजन को कंट्रोल करने में, ब्लड प्रेशर व शुगर को कंट्रोल करने में हड्डियां व मांसपेशियों को बहुत अधिक ,strong बनाने इत्यादि, कई प्रकार के फायदे सड़क पर दौड़ने से मिलते हैं इसलिए आप रोजाना सुबह सड़क पर दौड़ने जाए । जिससे कि आपको भी इन सब का फायदा मिल सकें। इन सब रोगों को दूर कर सके व इनसे छुटकारा पा सकें।

सुबह दौड़ने के स्वास्थ्य लाभ।subah daudane ke svaasthy laabh.

Health benefits of running in the morning : सुबह दौड़ने( runing)के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं। आपका शरीर हेल्दी बना रहता हैं।
सुबह दौड़ने से कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं इसलिए सुबह दौड़ना बहुत ही जरूरी होता हैं। सुबह दौड़ने के स्वास्थ्य लाभ आइए जानते हैं! इसके शानदार फायदों के बारे में।

  1. फेफड़ों को मजबूत करने में।
  2. दिल की समस्या को दूर करने में।
  3. मानसिक स्वास्थ्य में सुधार करने मे।
  4. मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में।
  5. जोड़ों के दर्द (joint pain) से राहत दिलान मे।
  6. अच्छी नींद की प्राप्ति के लिए।

तेज दौड़ने के लिए एक्सरसाइज।tej daudane ke lie eksarasaij.

Exercise for running fast : अगर आप तेज दौड़ने (runing) के बारे में सोच रहे हैं तो तेज दौड़ने से पहले कुछ exercise करनी होंगी। जो कि आपकी दौड़ को तेजी से बढ़ा देगी। जिसके कारण से आप आसानी से तेज दौड़ सकते हैं। आइए जानते हैं तेज दौड़ने के एक्सरसाइज क्या है।

  • आगे की ओर झुककर दौड़ना चाहिए।
  • सही जूते पहनने चाहिए।
  • नाक से श्वास लेनी चाहिए।
  • पजामे का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • अधिक से अधिक एक्सरसाइज (exercise) करें।

शाम को दौड़ने के फायदे । Benefits of running in the evening.

shaam ko daudane ke phaayade : शाम को दौड़ने (runing) के कई प्रकार के फायदे मिलते हैं। आज हम आपको शाम के समय दौड़ने के फायदों के बारे में बताएंगे। शाम के समय दौड़ने से किस प्रकार शारीरिक व मानसिक लाभ प्राप्त होते हैं। जानते हैं शाम दौड़ने के फायदे व लाभ कौन-कौन से हैं।

  • इम्यूनिटी(immunity) बढ़ाने में।
  • मोटापा कम करने में।
  • हड्डियों को मजबूत( strong)बनाने में।
  • शरीर में मजबूती लाने में।
  • नियंत्रित रक्तचाप करने में।
  • अस्थमा को कम करने में।
  • मानसिक स्वास्थ्य में सुधार ।
  • तनाव को दूर करने में।

सुबह दौड़ने के नुकसान । subah daudane ke nukasaan.

Disadvantages of running in the morning : सुबह दौड़ने के क्या-क्या नुकसान होते हैं यह आज हम आपको विस्तार पूर्वक बताते हैं।

रनिंग(runing) करते वक्त इन सभी गलतियों को ना दोहराए । जिससे कि आपके शरीर को नुकसान उठाना पड़े दौड़ते समय ठोस जगह पर नहीं दौड़ना चाहिए। ऐसा करने पर मांसपेशियों में खिंचाव हो जाता है। जिससे कि जोड़ों में दर्द ( joint pain) होने लग जाता है। जांग, पिंडली और मांसपेशियां भी दुखने लगती है । ऐडीयो में भी दर्द की संभावना बढ़ जाती है ,अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा की समस्या है । तो उन्हें रनिंग करने से नुकसान हो सकता है। क्योंकि रनिंग करने से या तेज दौड़ने पर सांस लेने में प्रॉब्लम आ जाती है । इसलिए अस्थमा के रोगी को अधिक तेज नहीं दौड़ना चाहिए । धीरे-धीरे दौड़ना चाहिए। जो लोग अपना वजन(Weight )बढ़ाना चाहते हैं तो उन लोगों को भी रनिंग नहीं करनी चाहिए बल्कि इसकी जगह मॉर्निंग वॉक करना चाहिए।

सुबह-शाम दौड़ने के फायदे।subah-shaam daudane ke phaayade.

Benefits of running in the morning and evening : क्या आप जानते हैं , सुबह और शाम को दौड़ना शरीर को fit रखता है। शरीर को तंदुरुस्त रखता हैं। साथ ही साथ स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है। क्या आप यह जानते हैं सुबह और शाम दौड़ने पर क्या फायदे मिलते हैं।

सुबह-शाम दौड़ने से पाचन शक्ति बढ़ती है।

सुबह शाम दौड़ करने पर पाचन क्रिया मजबूत होती है व साथ ही भूख ठीक प्रकार से लगती हैं। यह कैलोरी को जमा नहीं होने देता। इसलिए दौड़ने के तुरंत बाद ही भूख लगना शुरू हो जाती है ।ऐसे में जरूरी है कि दौड़ने के बाद थोड़ा बहुत नाश्ता अवश्य लें।

सुबह-शाम दौड़ने से दिल की बीमारी को दूर होती है।

सुबह – शाम दौड़ने(runing) से शरीर में रक्त प्रवाह अच्छा होता है। दिल से संबंधित बीमारी पर भी अच्छा प्रभाव पड़ता है। दौड़ने पर शरीर का रक्तचाप कम हो जाता है, जिससे ह्रदय संबंधी रोग होने का खतरा कम हो जाता है, इसलिए आप भी सुबह शाम दौड़ अवश्य करें।

सुबह-शाम दौड़ने से वजन घटता है।

सुबह – शाम दौड़ना एक अच्छी exercise है जो कि वजन कम करने में भी लाभदायक हैं।
यह शरीर पर जमी चर्बी को कम करने में भी सहायक है।

सुबह-शाम दौड़ने से अच्छी नींद की प्राप्ति होती हैं।

अच्छी प्रकार से नींद नहीं आने पर कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं, जैसे कि सिर में दर्द, अपचन इत्यादि कई प्रकार की समस्याएं होने लगती हैं।जो कि अनिंद्रा के कारण हमारे शरीर में पैदा होती हैं। ऐसे में सुबह – शाम दौड़ने पर अच्छी प्रकार से नींद आती हैं। खाना भी पच जाता हैं। एसिडिटी की समस्या भी नहीं होती हैं।

सुबह-शाम दौड़ने से मधुमेह रोग को कम किया जा सकता है।

सुबह – शाम दौड़ने पर टाइप- 2 मधुमेह का खतरा कम हो जाता है।

इसलिए आप सुबह – शाम दौड़कर मधुमेह के रोग से मुक्ति प्राप्त कर सकते हैं।

सुबह-शाम दौड़ने से जोड़ों को स्वस्थ बनाए रखा जा सकता है।

सुबह – शाम दौड़ने पर मांसपेशियां मजबूत बनती हैं। जोड़ों से संबंधित दर्द दूर होता हैं। जोड़ों में ताकत बढ़ती हैं। घुटनों में दर्द की समस्या भी कम हो जाती हैं।

सुबह-शाम दौड़ने से तनाव कम होता है।

सुबह- शाम दौड़ने पर शरीर को आराम महसूस होता हैं। क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होता हैं। सुबह- शाम दौड़ने से तनाव की समस्या दूर होती हैं।

हड्डियों को मजबूत करने के लिए सुबह-शाम दौड़ना चाहिए ।

सुबह – शाम दौड़ करने से मांसपेशियां मजबूत बनती हैं ।हड्डियों से संबंधित कई प्रकार की बीमारियां दूर होती हैंहड्डियों में दर्द की समस्या भी दूर होती हैं।

खाली पेट दौड़ने के फायदे। khaalee pet daudane ke phaayade.

Benefits of running on an empty stomach : खाली पेट दौड़ करने के क्या फायदे होते हैं। खाली पेट दौड़ करने पर कौन-कौन से लाभ मिलते हैं । खाली पेट दौड़ करना किस प्रकार सेहत के लिए फायदेमंद है। यह जानने के लिए नीचे दी गई बातों को ध्यानपूर्वक पढ़ें।

खाली पेट दौड़ करना न केवल मांसपेशियों ,हड्डियों को मजबूत करता है। बल्कि वजन को घटाने के लिए भी बहुत ही लाभदायक होता है। साथ ही खाली पेट दौड़ करने से भूख अच्छी लगती हैं। खाली पैर दौड़ने के फायदे फेफड़े मजबूत होते हैं अनिद्रा की समस्या दूर होती हैं। रोग प्रतिरोधक क्षमता (immunity)बढ़ती है। तनाव दूर होते हैं। दिल से संबंधित रोग भी दूर होते हैं।

दौड़ने के 10 फायदे। 10 benefits of running.

daudane ke 10 phaayade : आज हम आपको दौड़ने( runing)के 10 फायदों के बारे में बताएंगे। जिनको जानकर आपको बहुत ही लाभ प्राप्त होगा आइए जानते हैं दौड़ने के 10 फायदे 10 फायदे क्या- क्या है।

  1. हड्डियां मजबूत ( strong) होती हैं।
  2. इम्यूनिटी(immunity) बढ़ती है।
  3. मोटापा कम होता हैं।
  4. मधुमेह के रोग में आराम मिलता हैं।
  5. हृदय संबंधी समस्या दूर होती है, अर्थात दिल से संबंधित समस्या से छुटकारा मिलता हैं।
  6. अस्थमा में लाभ प्राप्त होता हैं।
  7. मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता हैं।
  8. जोड़ों के दर्द (joint pain) में भी कारगर होता है, अर्थात जोड़ों के दर्द को दूर करता हैं।
  9. मानसिक स्वास्थ्य में भी लाभदायक हैं।
  10. मांसपेशियों को मजबूत बनाने व स्वस्थ रखने में लाभदायक।

दौड़ने के फायदे और नुकसान।

वैसे तो आप जानते ही हैं, कि दौड़ हमारे लिए हमारे स्वास्थ्य के लिए कितने लाभदायक होती है। क्या आप यह भी जानते हैं, कि दौड़ करने के कौन-कौन से फायदे होते हैं। किस प्रकार से हमारे लिए फायदेमंद होती है, अगर आप नहीं जानते हैं। तो चलिए जानते हैं, दौड़ करने के फायदों के बारे में।
दौड़ पूरे शरीर के अंगों के लिए फायदेमंद होती हैं। दौड़ शारिरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा होता हैं। साथ ही दौड करने से उम्र भी बढ़ती हैं। और शरीर लंबे समय तक जवां और ऊर्जावान बना रहता हैं।एक्सरसाइज के मुकाबले दौड़ ज्यादा फायदेमंद होती हैं, दौड़ पूरे शरीर के अंगों को लाभ पहुँचाता हैं। साथ ही वजन नियंत्रित यानी की कंट्रोल में रखने में भी दौड़ सहायक होती हैं। मोटापा, डायबिटीज, कब्ज, गैस्ट्रिक व दिल से जुड़ी बीमारियों से बचने के लिए दौड़ से बेहतर विकल्प कोई और नहीं होता हैं।

दौड़ने के फायदे।

दौड़ने से नींद अच्छी आती हैं।

दौड़ उन लोगों के लिए भी अच्छी होती हैं, जिन्हें अच्छी नींद नहीं आती। तो दौड़ करने से नींद की गुणवत्ता में सुधार होता हैं। और जो लोग नियमित रूप से दौड़ करते हैं, उन्हें नींद आने में कोई परेशानी नहीं होती है। अगर आप को नींद नहीं आने की परेशानी रहती हैं , तो आपको रनिंग करने के बारे में जरूर सोचना चाहिए।

शारिरिक व मानसिक स्वास्थ्य के लिए अच्छी नींद बेहद अच्छी होती हैं। अच्छी नींद लेने से शरीर से आलास दूर होता हैं, और शरीर को एनर्जी मिलती हैं।

दौड़ने से मांसपेशियां मजबूत बनती हैं।

शरीर को मजबूत और ऊर्जावान बनाने के लिए मांसपेशियों का मजबूत होना बेहद जरूरी होता हैं। मांसपेशियों को मजबूत बनाने के लिए आप को नियमित रूप से दौड़ करने चाहिए। दौड़ करने से भी मांसपेशियां मजबूत बनती हैं। दौड़ करने से पैर, कूल्हे, पेट, कमर व कंधों की मांसपेशियों पर सबसे ज्यादा दबाव पड़ता हैं, जिससे यह मजबूत होती हैं।

दौड़ने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती हैं।

दौड़ करने से इससे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्युनिटी बढ़ती हैं। वैसे तो सभी तरह की एक्सरसाइज करने से शरीर का इम्मयून सिस्टम मजबूत बनता हैं, लेकिन दौड़ इन सब में बेस्ट हैं। हृदय भी सुचारू रूप से अपना कार्य करता हैं, तनाव नहीं होता है, अच्छी नीद आती है, इन सभी कारणों से शरीर का इम्मयून सिस्टम मजबूत होता हैं शरीर रोगों से दूर रहता हैं।

दौड़ने से वजन नहीं बढ़ता हैं ।

दौड़ हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होती है। दौड़ से हमारे शरीर के वजन को कंट्रोल यानी कि नियंत्रण में रखा जाता है। दौड़ से हमारे शरीर में बढ़ने वाले फैट को नहीं बढ़ने देता,दौड़ करने से हमारे शरीर में कैलोरी अधिक मात्रा में भार आती है, जिसके कारण से हमारे शरीर में फैट कम जमा होता है। इसलिए सबसे बढ़िया हमारे शरीर के लिए दौड़ आवश्यक है। अगर किसी व्यक्ति का वजन 90 से 100 किलो के बीच में है। तो अगर वह 1 किलोमीटर तक की दौड़ करता है , तो उसका वजन जल्दी कम हो जाता है। क्योंकि अधिक मोटे व्यक्ति की कैलोरी अधिक मात्रा में बाहर निकलती है। इस कारण से तेजी से वजन कम होता है, इसलिए वजन को कम करने के लिए सबसे बढ़िया एक्सरसाइज दौड़ना ही होता है।

दौड़ने से हड्डियां मजबूत बनती हैं ।

नियमित रूप से दौड़ करने से मांसपेसियों के साथ-साथ शरीर की हड्डियां भी मजबूत बनती हैं। जो लोग नियमित रूप से दौड़ करते हैं ,उन्हें लंबे समय तक घुटने के दर्द या जोड़ दर्द की शिकायत जल्दी नहीं होती है। मांसपेसियों व हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए दौड़ के साथ एक अच्छी डाइट भी अवश्य लेनी चाहिए , केवल दौड़ करने से ही हड्डियां मजबूत नहीं होती है, दौड़ के साथ साथ डाइट पर भी ध्यान देना बहुत जरूरी होता है।

दौड़ने से तनाव की समस्या दूर होती हैं।

दौड़ करने से तनाव की गुणवत्ता में सुधार होता हैं। और नींद अच्छी आती हैं। तनाव दूर करने के लिए नींद बेहद जरूरी होती हैं, अच्छी नींद से मन और दिमाग को शांति प्राप्त होती हैं। जिससे तनाव दूर होता हैं। दौड़ करने से मूड भी फ्रेश रहता है। सभी छोटी-छोटी चीजें तनाव कम करने में लाभकारी होती हैं। इस लिए तनाव को दूर रखने के लिए भरपूर मात्रा में नीद जरूर लेनी चाहिए।

दौड़ने से दिल से जुड़ी बीमारियां नहीं होती है।

दौड़ दिल से स्वास्थ्य के लिए भी बेहद अच्छी होती हैं। दौड़ हृदय रोग को कम करने का काम करता हैं। नियमित रूप से दौड़ करने वाले व्यक्तियों का हृदय दौड़ न करने वाले व्यक्तियों के मुकाबले ज्यादा हेल्दी रहता हैं। दौड़ करने से शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता हैं, जिससे हार्ट हेल्दी रहता हैं। अगर आप पहले से ही दिल की परेशानी है, तो अपने डॉक्टर की सलाह के बाद ही दौड़ करें।

दौड़ पेट की बीमारियों को दूर करती है।

दौड़ पेट से जुड़ी परेशानियों जैसे कब्ज, गैस, एसिडिटी व अपच के लिए भी अच्छी होती है । जो लोग नियमित रूप से दौड़ करते हैं, उन्हें पेट से जुड़ी इन समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। दौड़ करने से भोजन अच्छी तरह पचता जाता हैं, और पेट भी साफ रहता हैं, जिस कारण पेट बीमारियां दूर होती हैं। क्यों कि 90 प्रतिशत से भी अधिक बीमारियां पेट से ही जुड़ी होती हैं। ऐसे में पेट को स्वस्थ रखना बेहद जरूरी होता हैं।


दौड़ने के नुकसान।

वैसे तो दौड़ हमारे लिए बहुत फायदेमंद होती है। लेकिन कुछ लोगों को दौड़ नहीं करनी चाहिए। वह लोग कौन से आइए जानते हैं, आज हम आपको दौड़ करने के क्या नुकसान होते हैं, और किन लोगों को दौड़ नहीं करनी चाहिए। इसके बारे में बताएं गए तो आइए जानते हैं, कि किन लोगों को दौड़ नहीं करनी चाहिए। और कौन से लोगों के लिए यह दौड़ नुकसानदायक होती है, आइए जानते हैं ,इस पोस्ट के माध्यम से दौड़ के बारे में।

  1. सही तरीके से रनिंग न करने पर इससे कमर,कंधे व घुटनों में दर्द की शिकायत (running ke nuksan) भी हो सकती हैं। इसलिए रनिंग करने का सही तरीका अवश्य जान लें।
  2. ज्यादा दुबले-पतले लोगों को तेज दौड़ नहीं करनी चाहिए। इस की जगह आप नार्मल वॉक करना चाहिए। तेज दौड़ करने से उनका वजन और कम हो सकता हैं।
  3. अस्थमा के रोगी लोगों के लिए दौड़ नुकसानदायक होती हैं, ऐसे लोगों को दौड़ करने के दौरान सांस लेने में तखलीफ हो सकती हैं। इसलिए अस्थमा के रोगी को डॉक्टर की सलाह पर ही दौड़ करनी चाहिए।
  4. जो लोग अपना वजन बढ़ाना चाहते हैं वे लोग दौड़ ना करें । उनको दौड़ करने की कोई आवश्यकता नहीं होती, इसलिए वे दौड़ ना करें ।


subah running karne ke fayde.

morning running karne ke fayde :आपको इस पोस्ट के माध्यम से ये बताएंगे । की सुबह रनिंग करने के क्या फायदे होते है। सुबह रनिंग आपके संपूर्ण स्वास्थ्य और इम्यून सिस्टम को मजबूत रखता हैं। सुबह रनिंग करने के फायदे के बारे में जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे।
दुनिया में, बहुत सारी स्वास्थ्य संबंधित समस्याएं हैं, सुबह रनिंग से फेफड़ों पर बहुत अधिक प्रभाव पड़ता है और वे दौड़ने के बाद अधिक कुशलता से काम करना शुरू करते है । सुबह रनिंग के कारण कोलेस्ट्रॉल का स्तर हेल्दी बना रहता है, रनिंग करने वाले व्यक्तियों को रक्त के थक्के जमने की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है। यह हर उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है। दिल, दिमाग और फेफड़ों को फायदा देने के अलावा रनिंग कई स्वाथ्य लाभों के लिए फायदेमंद है। तो चलिए जानते है, रनिंग के क्या क्या फायदे होते है।

सुबह रनिंग करने के फायदे।

सुबह रनिंग मेटाबोलिज्म को बढ़ाती है ।

सुबह रनिंग से मेटाबॉलिज्म शरीर में ऊर्जा के स्रोत के रूप में सेवन किया जाता है, इसे वसा के रूप में संग्रहीत किया जाता है। अगर आप फिट रहना चाहते हैं, अगर आप कुछ वजन कम करना चाहते है। तो आप नहीं चाहते, अगर आप के शरीर में वसा नहीं जमे । इसलिए रोजाना दौड़ने से आपका मेटाबॉलिज्म तेज होता है।

सुबह रनिंग से मानसिक स्वास्थ्य में सुधार होता है।

सुबह रानिग से आपके मानसिक स्वास्थ्य पर बहुत सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। आप सुबह रनिंग को अपने शरीर में निवेश के रूप में देख सकते है। सुबह रनिंग करना विशेष रूप से सहायक होता है, क्योंकि यह आपको प्रकृति की खूबसूरत जगहों पर जाने का समय देता है।

सुबह रनिंग से अच्छी नींद आती है।

अगर आप भी सोने से पहले लंबे समय तक करवटें बदलते रहते हैं। तो आपको सुबह रनिंग पर विचार करना चाहिए। कि जो लोग सुबह काम करते हैं , दोपहर या शाम को काम करने वालों की तुलना में सुबह रनिग करने वालो को अधिक नीद आती है।

सुबह रनिंग से दिल की सेहत में सुधार होता है।

हर दिन पांच मिनट सुबह रनिंग आपके और हृदय रोग को कम करता है। रोजाना कम से कम आधा घंटा सुबह रनिंग करने से दिल की सेहत में सुधार होता है। क्योंकि यह आपके हार्ट को अधिक क्रियाशील बनाता है, और ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है।