शाम को दौड़ने के फायदे। दौड़ने से क्या होता है। running karne ke fayde.

शाम को दौड़ने के फायदे।

Benefits of running in the evening : हेलो दोस्तों आज हम आपको बताएंगे। कि शाम को दौड़ने के क्या फायदे होते हैं। शाम को दौड़ने से वेसे बहुत सारे फायदे होते हैं। जैसा कि हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि शाम को दौड़ने से क्या फायदे होते हैं। वह शाम को ही क्यों दौड़ना चाहिए। शाम को दौड़ने से कौन सा ऐसा फायदा होता है! जो कि व्यक्ति के लिए बहुत ही मायने रखता है। जैसा कि आप जानते हैं की दौड़ने से पहला फायदा तो यह होता है कि आपका शरीर हष्ट पुष्ट व स्वस्थ रहता है। और दौड़ने का एक फायदा यह भी है! की शाम को दौड़ने से व्यक्ति का शरीर रोगमुक्त वह निरोगी शरीर रहता है।

शाम को दौड़ने से शरीर पर बहुत ही अधिक पसीना निकलता है। आप जो कि बहुत ही जरूरी भी होता है। और सही भी है! पसीना निकलने से आपके शरीर में जो भी गंदगी जमा होती है! व कीटाणु जमा होते हैं! वह पसीने के द्वारा बाहर आ जाते हैं। और साथ ही साथ आप किसी भी जॉब की तैयारी कर रहे हो तो भी शाम को दौड़ने से आपको बहुत ही लाभ मिलेगा। आपकी दौड़ने की क्षमता भी बढ़ जाएगी। शाम को दौड़ने के फायदे अगर बताए जाएं उतना ही कम है।

शाम को दौड़ने से व्यक्ति बहुत ही कम बीमार पड़ता है। व्यक्ति का शरीर शाम को दौड़ने से सुंदर व सुडोल भी हो जाता है। शाम को दौड़ने से जो बॉडी पर या शरीर पर अत्यधिक है! मोटापा जमा हो जाता है वह भी आप कम कर सकते हैं। व साथ ही शाम को दौड़ने से आपके शरीर का मोटापा बहुत ही कम हो जाएगा। और आप बिल्कुल स्लिम फिट हो जाएंगे। पुरुष हो या महिला शाम को दौड़ने के फायदे दोनों ही ले सकते हैं। यह जरूरी नहीं है! कि शाम को दौड़ने के फायदे केवल पुरुषों के लिए हैं। शाम को दौड़ने से महिलाओं को भी बहुत ही ज्यादा फायदा मिलता है। जिन महिलाओं के गैस की समस्या होती है! भोजन नहीं पचता है! तो उन महिलाओं को शाम को दौड़ना चाहिए। शाम को दौड़ कर वह अपने शरीर से गैस की समस्या को कुछ हद तक कम कर सकती हैं। व शाम को दौड़ने से गैस की समस्या के साथ साथ भोजन भी पंच जाता है। जिस कारण से मोटापे में सुधार और शरीर फिट रहता है व स्वस्थ रहता है।

1) शाम को दौड़ने से हड्डियां मजबूत।

दोस्तों शाम को दौड़ने से जो पहला फायदा होता है। वह यह होता है! कि आप की हड्डियां शाम को दौड़ने से बहुत ही मजबूत हो जाती हैं। और साथ ही साथ पूरा शरीर स्वस्थ रहता है। शाम को दौड़ने से आपकी हड्डीया भी सही रहती हैं। शाम को दौड़ने से‌ हड्डियों में किसी भी प्रकार की फैक्चर की समस्या व टूटने की समस्या बहुत ही कम देखने को मिलती है। व बहुत ही कम उत्पन्न होती है।

2) शाम को दौड़ने से वजन घटाएं।

जैसा की आप सबको पता है! कि शाम की दौड़ से बहुत सारे फायदे होते हैं। उन्हीं फायदों के अंदर जो एक महत्वपूर्ण फायदा होता है। वह यह है! कि आप शाम को दौड़ कर अपने वजन को घटा सकते हैं। मोटापा कम कर सकते हैं। जो भी आपके शरीर पर अत्यधिक है चर्बी है! उसको आप शाम को दौड़ करके वजन व चर्बी को कम कर सकते हैं।

3) शाम की दौड़ने से उर्जा बढ़ाएं।

शाम को दौड़ करके आप अपनी उर्जा को बढ़ा सकते हैं। जैसा कि आपको सुबह उठते ही लगता है! कि आपका शरीर बहुत ही थका हुआ है। आपका शरीर उर्जा हीन महसूस करता है। तो आप शाम को दौड़ लगाएं। जिससे कि आपका शरीर सुबह उठने पर बिल्कुल ही उर्जा हीन व थका हुआ महसूस नहीं करेगा।

4) शाम को दौड़ने से पाचन शक्ति में सुधार।

क्या आप जानते हैं ? कि शाम को दौड़ने से पाचन शक्ति मजबूत होती है। अगर आपका खाया हुआ भोजन नहीं पचता है! तो आप शाम को दौड़ना स्टार्ट कर दें। इससे आपकी पाचन क्रिया में बहुत ही सुधार आएगा।और साथ ही शाम को दौड़ने से आपकी पाचन क्रिया मजबूत बन जाएगी। भोजन जल्दी से पचने लग जाएगा।

5) शाम को दौड़ने से मस्तिक व स्वास्थ्य के फायदे।

शाम को दौड़ने से आपकी जो भी दिमाग में टेंशन रहती है। आप मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं रहते हैं। तो शाम को दौड़ने से आपको बहुत ही फायदा मिलेगा। और मस्तिष्क भी बिल्कुल सही रहेगा। शाम को दौड़ने से आपके स्वास्थ्य में भी बहुत ही लाभ रहेगा। आपके शरीर में कोई भी बीमारी नहीं रहेगी। शाम को दौड़ने से आप मानसिक रूप से स्वस्थ रहेंगे। शारीरिक रूप से भी स्वस्थ रहेंगे।

6) नींद अच्छी लाने में शाम को दौड़ने के फायदे।

अगर आप नींद से बहुत ज्यादा परेशान है। आपको बहुत ही कम नींद आती है। तो आप शाम को जरूर दौड़े ! शाम को दौड़ने से होगा यह कि आपको बहुत ही अच्छी व पूरी नींद आएगी। जिससे कि आपका पूरा शरीर बिल्कुल स्वस्थ रहेगा। और आप बहुत ही अच्छा फील करेंगे। कई लोगों की नींद पूरी नहीं होने से बहुत ही अत्यधिक परेशान हो जाते हैं। और उनको मानसिक तनाव हो जाता है। तो उसका सबसे बढ़िया फायदा यह है! कि व्यक्ति को शाम को दौड़ ने से बहुत ही अच्छी नींद आएगी। मानसिक तनाव भी बिल्कुल कम होगा।

7) बढ़ती उम्र को कम करने में शाम दौड़ने के फायदे।

दोस्तों आज यह चीज बहुत ही ज्यादा देखने को मिल रही है। कि व्यक्ति की उम्र 20 साल है। फिर भी वह 30 32 साल का लगता है! तो उसका कारण यह है। कि उसके शरीर का पूर्ण रूप से विकास नहीं हो पाता है। और उसकी शरीर में त्वचा पर पसीना व अनावश्यक चर्बी और मोटापा चढ़ जाता है। जिससे कि वह 20 साल का होने के बावजूद भी 32 साल का नजर आता है। अगर आप शाम को दौड़ने जाते हैं। तो यह बहुत ही फायदेमंद होगा। आपकी उम्र को कम करने में क्योंकि आपकी उम्र जितनी है! उससे भी कम दिखने लगेगी। शाम को दौड़ने से जो कि एक ही बहुत ही बड़ा फायदा है।

सुबह कितने बजे दौड़ना चाहिएं।

बहुत सारे लोग सुबह दौड़ते हैं। लेकिन सुबह कितने बजे दौड़ते हैं। व कितने बजे सुबह दौड़ना चाहिए। सुबह कितने बजे दौड़ना फायदेमंद होता है। सुबह कितने बजे से कितने बजे के बीच में दौड़ना आपके शरीर के लिए लाभदायक होगा। आज हम आपको इसी बारे में बताएंगे। कि आपके शरीर को सबसे ज्यादा एनर्जी व पावर कितने बजे दौड़ने पर मिलेगी। और कितने बजे सुबह बजे दौड़ना चाहिए। सुबह लगभग आपको गर्मियों में 5:00 से 7:00 के बीच में सुबह दौड़ना चाहिए।

क्योंकि 5:00 से 7:00 के बीच में दौड़ना बहुत ही फायदेमंद होता है। 5:00 से 7:00 के बीच शरीर पूर्ण रूप से पावर में रहता है। और साथ ही साथ 5:00 से 7:00 के बीच में दौड़ना बहुत ही सही रहता है। क्योंकि इस समय हमारा शरीर बिल्कुल अनुकूल रहता है। और इससे हमारे शरीर मैं पसीना भी बहुत अत्यधिक आता है। पसीना आने से हमारे शरीर के सारे कीटाणु पसीने के द्वारा शरीर से बाहर आ जाते हैं। सुबह 5:00 से 7:00 के बीच में ऑक्सीजन की मात्रा वातावरण में बहुत ही अधिक रहती है। सुबह 5:00 से 7:00 के बीच में ही दौड़ना चाहिए।

इनको भी पढ़े :-

सुबह कितना दौड़ना चाहिए।

बहुत सारे लोग दौड़ करते हैं। लेकिन बहुत ही कम लोग यह जानते हैं! कि सुबह है कितना दौड़ना चाहिए। सुबह कितना दौड़ने से शरीर हष्ट पुष्ट रहेगा। सुबह कितना दौड़ने से शरीर को लाभ प्राप्त होगा। आज हम आपको बताएंगे! कि सुबह कितना दौड़ना चाहिए। सुबह कितना दौड़ना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। वैसे तो आप कई लोग थोड़ी बहुत दूर दौड़कर आ जाते हैं। लेकिन दौड़ने की एक सीमा होती है। कि हमें 1 दिन में इतना दौड़ना चाहिए।

चलिए हम आपको बताते हैं! कि सुबह कितना दौड़ना चाहिए। ज्यादातर लोग 5 किलोमीटर तक दौड़ते हैं। लेकिन अनुभवी व्यक्ति रोजाना सुबह दौड़ने वाले व्यक्ति तेज दौड़ना पसंद करते हैं। इसलिए उन्हें कम से कम 30 मिनट तक सुबह दौड़ना चाहिए। इसी के साथ अगर संडे के दिन या रविवार के दिन ज्यादा दौड़ना चाहे तो ज्यादा दौड़े तो बहुत ही फायदेमंद होगा। उनका शरीर बिल्कुल ही थकान महसूस नहीं करेगा। और दिनभर शरीर के अंदर सुबह दौड़ने से एनर्जी रहेगी। व साथ ही साथ उनका शरीर बहुत ही मजबूत होता जाएगा। सुबह 30 मिनट तक दौड़ने से उनके शरीर में जो भी चर्बी है! वह कम हो जाएगी। और उनका शरीर बिल्कुल सुंदर व सुडोल हो जाएगा। सुबह 30 मिनट तक रोजाना दौड़ने से जो भी शरीर से पसीना निकलेगा उससे शरीर की सारी गंदगी खत्म हो जाएगी। और सारी बीमारियां खत्म हो जाएंगी।

इसी के साथ रोजाना सुबह दौड़ने आपकी जो भी पेट संबंधी रोग होंगे वह भी लगभग कम हो जाएंगे। व धीरे-धीरे खत्म हो जाएंगे। तो आपको सुबह कम से कम 30 मिनट तक तो दौड़ना ही चाहिए। यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगा। इसी के साथ आप बहुत ही ज्यादा मोटापे से परेशान हैं। तो आपको 20 से 25 मिनट तक धीरे-धीरे करके दौड़ना चाहिए। जिससे कि आपकी मोटापे की समस्या बहुत ही कम हो जाएगी। आपका शरीर भी मोटापे से छुटकारा पा सकता है। सुबह 20 से 25 मिनट तक दौड़ना आपके लिए बहुत ही अच्छा होता है। क्योंकि एक वैज्ञानिक रिसर्च के बाद पता लगा है! कि दौड़ने से मनुष्य की उम्र लंबी हो सकती है। व उसकी आयु भी लंबी हो सकती है। और व्यक्ति की कितनी उम्र है! उससे कहीं कम उम्र सामने वाले व्यक्ति को दौड़ने से दिखने लगेगी।

दौड़ने से क्या होता है। daudne se kya hota hai.

दोस्तों बहुत सारे लोगों के मन में यह सवाल रहता है! कि सुबह है क्यों दौड़ते हैं? या दौड़ने से क्या लाभ प्राप्त होता है? या सुबह क्यों दौड़ना चाहिए? यह सवाल बहुत सारे लोगों के जेहन में होता है।जिससे कि बहुत सारे लोग परेशान रहते हैं। लेकिन आज हम आपको बताएंगे! कि दौड़ने से क्या लाभ होता है। दौड़ने से क्या होता है।

आइए बताते हैं! कि दौड़ने से आपको क्या फायदे होंगे। बहुत सारे लोग आज की दुनिया में बहुत ही ज्यादा व्यस्त रहते हैं। और बहुत सारे लोग काम के अंदर इतना घुल मिल चुके हैं। या काम को लेकर इतना प्रेशर में रहते हैं! कि उन्हें यह भी पता नहीं होता कि उनके शरीर कैसा हो चुका है! या कैसा हो गया है। उन्हें यह भी अंदाजा नहीं है! की वह मोटापे के शिकार हो चुके हैं। उनका शरीर पूर्ण रूप से चर्बी से ढक चुका है। तो ऐसे में जब उन्हें रियल आइज होता है!या उनको पता लगता है। तब तक बहुत ही देर हो चुकी होती है। और चर्बी हद से ज्यादा फैल चुकी होती है। जिससे कि उन्हें उठने बैठने चलने फिरने घूमने में बहुत ही ज्यादा दिक्कत होने लगती है। इसी के साथ उनकी पर्सनैलिटी भी बिल्कुल खराब हो चुकी होती है।

ऐसे में उनको एक ही उपाय दिखता है। कि वह अंग्रेजी दवाइयां लेना शुरू कर देते हैं। जिससे कि उनके शरीर में प्रॉब्लम होने लग जाती है। और मोटापा घटने की बजाए और अधिक फैल जाता है। या एक बार मोटापा घटकर वापस ज्यादा बढ़ जाता है। तो उन्हीं के लिए या मोटापे से गिरे व्यक्तियों के लिए ही दौड़ना बहुत ही लाभकारी होता है। अगर आप मोटापे के शिकार हो चुके हैं! तो दौड़ना आपके लिए बेहद ही फायदेमंद होगा। और आप रोज सुबह दौड़ना शुरू कर दें।

अगर आपके जेहन में यह सवाल है कि दौड़ने से क्या होगा। तो हम आपको बताएंगे। की दौड़ने से मोटापे से व्यक्ति 1 महीने में कुछ हद तक वजन कम कर सकता है। और धीरे-धीरे अगर वह 30 मिनट या 1 घंटा भी दौड़ता है। तो उसको दौड़ने के फायदे मिलेंगे! फायदे यह मिलेंगे कि उसकी देखते ही देखते शरीर की चर्बी बहुत ही ज्यादा कम हो जाएगी। और उसका शरीर पहले की वजह बहुत ही पतला हो जाएगा। जितनी भी व्यक्ति को पेट से संबंधित प्रॉब्लम होती है वह भी है देखते ही देखते जड़ से खत्म हो जाएंगी।

1) दौड़ने से आपके जीवन में है कुछ साल वह कुछ समय बढ़ेगा।

दोस्तों एक वैज्ञानिक अध्ययन से यह पता चलता है। कि दोड़ने से व्यक्ति की उम्र लंबी हो जाती है। व्यक्ति की लंबी उम्र का राज दौड़ने में ही छुपा होता है। दौड़ने से व्यक्ति की उम्र जितनी होती है उससे दो चार साल छोटी भी लगती है। वह साथ ही साथ उम्र बढ़ भी जाती है।

2) दिन में एक घंटा दौड़ने के क्या लाभ है।


एक रिसर्च के बाद यह पता लगता है। कि व्यक्ति अगर सुबह रोज साइकिल चलाता है! जिम करता है! व्यायाम करता है। तो वह बहुत ही धीरे असर दिखाता है। अगर आप किसी तरह का पाउडर वह टेबलेट यूज करते हैं। तो वह आपके शरीर के लिए नुकसानदायक साबित होती हैं। इन सब को छोड़कर अगर आप दिन में 1 घंटे दौड़ते हैं। तो आपको अधिक फायदे होंगे। जैसे कि आपका शरीर हष्ट पुष्ट रहेगा। और बहुत ही कम थकान होगी। व सारे दिन शरीर के अंदर भरपूर एनर्जी रहेगी।

3) दौड़ने से अस्थमा व सांस में क्या फायदा मिलता है।


दोस्तों अगर आप भी अस्थमा में सांस की बीमारी से बहुत ही ज्यादा परेशान है। तो आप सुबह है 1 घंटे दौड़ने के लिए जाएं। एक घंटा दौड़ना आपके शरीर में हो रहे सांस की बीमारी में बहुत ही फायदा दिखाएगी। जैसा कि आप जानते हैं! कि सुबह के समय वायु में शुद्धता रहती है। और आप रोजाना अगर धीरे-धीरे करके 1 घंटे दौड़ते हैं। तो वहीं वायु आपके फेफड़ों में जाएगी। होगा यह है कि सुबह वायु बहुत ही शुद्ध रहती है। जिससे की आपके अस्थमा के अंदर व सांस की बीमारी में आपको लाभ देखने को मिलेगा।

4) दौड़ने से मधुमेह रोग में क्या होगा।


दोस्तों अगर आप मधुमेह रोग से बहुत ही ज्यादा परेशान है। मधुमेह रोग से पीड़ित लोगो के लिए सुबह की दौड़ किसी दवा से कम नहीं है। सुबह दौड़ने से व्यक्ति के शरीर का मसाज होती है। जो मांसपेसियों रक्तचाप व हड्डियों को मजबूत करता है। इसके अलावा श्वास की प्रक्रिया में सुधार करता है। चिकिस्तक मधुमेह के रोगियों को हमेशा हरी घास में चलने व दौड़ने की सलाह देते है।सुबह-सुबह वायु ग्रहण करने को बोलते हैं। आपने देखा होगा। मधुमेह के रोगी ज्यादा से ज्यादा शुद्ध हवा लेनें की सलाह देते हैं। उसका एक यही फायदा होता है! कि आपको बहुत ही जल्दी दौड़ने से मधुमेह रोग के अंदर लाभ प्राप्त होगा।

5) दौड़ने से वजन में क्या लाभ होगा।


आज के दौर में 80% लोग अपने शरीर के वजन को लेकर बहुत ज्यादा परेशान हैं। तो दौड़ना उनके शरीर के लिए किसी वरदान या दवा साबित होगा। क्योंकि दौड़ने से उन्हें 1 महीने के अंदर कुछ वजन कम देखने को मिलेगा। आज बहुत सारे लोग हैं वजन के कारण परेशान हैं। उनके शरीर के वजन के कारण से ही घुटनों में समस्या उत्पन्न हो जाती है। तो आप दौड़ने से अपना वजन कम करके लाभ प्राप्त कर सकते हैं। दौड़ने का फायदा ले सकते हैं।

सुबह दौड़ने के फायदे। subah dodne ke fayde.

हेलो दोस्तों आज हम आपको बताएंगे! कि सुबह दौड़ने से आप के क्या-क्या फायदे होंगे। सुबह दौड़ने से आपके शरीर में क्या फायदे देखने को मिलेंगे। सुबह-सुबह दौड़ने से आप किस प्रकार अपने शरीर को मजबूत बना सकते हैं। व बहुत सारी बीमारियों को अपने शरीर से निकाल सकते हैं। वह दूर कर सकते हैं। सुबह दौड़ने से आप किस किस बीमारी में फायदे प्राप्त कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं! कि सुबह दौड़ने से क्या क्या फायदे आपके शरीर में होंगे।

1) नियंत्रित उच्च रक्तचाप में फायदे।


आज हम आपको बताएंगे। दौड़ने से रक्तचाप को नियंत्रित कैसे करें। दौड़ते समय धमनियां फैलती व संकुचित होती हैं। इससे धमनियों का व्यायाम होता है, साथ ही रक्तचाप नियंत्रित रहता है। और रक्तचाप में सुधार होता है दौड़ने से आपका रक्तचाप नियंत्रित हो जाता है। इस प्रकार आप दौड़ने से रक्तचाप के सुधार लाकर दौड़ने के फायदे ले सकते हैं।

2) जोड़ों एवं स्वास्थ्य में फायदे।

दोस्तों एक समय था जब लोग सोचते थे। कि दौड़ना आपके जोड़ों के लिए बुरा है। या दौड़ने से आप की हड्डियां कमजोर हो जाती हैं। दौड़ने से आपकी शरीर के अंदर व स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। लेकिन आज के अध्ययनों से पता चला है! कि धावक वास्तव में जोड़ों की समस्याओं को विकसित करने की संभावना कम है। इसका कारण यह है! कि धावक फिट होने और कम वजन उठाने की संभावना रखते हैं। और इस प्रकार जोड़ों पर खिंचाव की मात्रा को कम करते हैं‌। जिससे जोड़ों के अंदर सुबह दौड़ने से आपको लाभ प्राप्त होगा। सुबह दौड़ने से आपके स्वास्थ्य के अंदर फायदे होंगे।

3) अच्छी नींद के लिए फायदेमंद है।


अगर आप सुबह दौड़ते हैं! या दिन में दौड़ते 1 घंटे दौड़ते हैं। तो यह आपके शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होगा। क्योंकि दौड़ने से बहुत ही अच्छी नींद आती है। वह दिमाग भी बिल्कुल फ्रेश रहता है। नींद अनुकूल रूप से पूरी हो जाती है। और आपको मानसिक तनाव भी नहीं होता। क्योंकि नींद के कारण से ही देखा जाए तो अधिकतर मानसिक तनाव पैदा होता है। लेकिन अगर आप रोजाना दौड़ते हैं! तो आपको अच्छी नींद आएगी और मानसिक तनाव से भी छुटकारा मिलेगा।

4) सुबह दौड़ने के फायदे स्टेमिना बढ़ाएं।


क्या आप जानते हैं! कि आप सुबह 1 घंटे दौड़ करके आप अपने स्टैमिना को और अधिक है बढ़ा सकते हैं। क्योंकि सुबह दौड़ने से एक महत्वपूर्ण फायदा यह होता है। की आप अपने स्टेमिना को सुबह दौड़ने से डबल कर सकते हैं व बढ़ा सकते हैं। जिससे कि आपके शरीर के अंदर भरपूर एनर्जी रहेगी। व आपका शरीर बिल्कुल भी थकावट महसूस नहीं करेगा ।

5) दौड़ने से पाचन शक्ति में फायदे।


दोस्तों अगर आपको समय पर भूख नहीं लगती तो अपको हमेशा दौड़ना शुरू कर देना चाहिए। दौड़ने से आपकी पाचन शक्ति सही से काम करेगी। और आपको समय पर भूख लगेगी। दौड़ने से हमारे शरीर की कैलोरी बर्न होगी। इसके बाद हमें भूख लगने लगेगी। हमेशा दौड़ने से पाचन शक्ति ठीक होने के साथ-साथ कब्ज की भी परेशानी भी दूर होगी। सुबह दौड़ने से आपकी पाचन शक्ति में व पाचन क्रिया मजबूत हो जाएगी। और आपका शरीर बिल्कुल स्वस्थ रहेगा। अगर आपके शरीर में भोजन नहीं पचता है। तो सुबह दौड़ने से आपके शरीर में कब्ज जैसी बीमारी से छुटकारा पा सकते हैं।

दौड़ने के फायदे। daudne ke fayde.

आज हम आपको बताएंगे! दौड़ने के फायदे क्या है। दौड़ने के क्या फायदे आपको देखने को मिलते हैं। दौड़ने से आपका मानसिक विकास पूर्ण तरीके से होता है। और साथ ही साथ दौड़ने से आप की चर्बी मोटापा कम हो जाता है। आपका शरीर हष्ट पुष्ट व स्वस्थ रहता है। आपके शरीर में कोई भी बीमारी नहीं रहती है। दौड़ने से जो भी आपके शरीर में हैं फैट होता है! मोटापा होता है। वह कम हो जाता है। इसी के साथ दौड़ने से आपका शरीर बिल्कुल भी थकान महसूस नहीं करता और आपके शरीर के अंदर भरपूर एनर्जी रहती है।

1) दौड़ने से पाचन तंत्र के फायदे।
अगर आप रोजाना दौड़ते हैं। तो आपका पाचन तंत्र सही से काम करता है। बहुत ज्यादा यह समस्या देखने को मिलती है। कि लोगों के पेट में गैस रहती है! लेकिन दौड़ने के कारण आपके पेट की गैस खत्म हो जाएगी। और भोजन पूर्ण रूप से पच जाता है। और आपका पाचन तंत्र मजबूत बन जाता है। इसी के साथ जैसे ही आप रोजाना दौड़ना शुरू कर देते हैं! तो आपके पाचन तंत्र में किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होगी।

2) दौड़ने से दिमागी की फायदे।
दौड़ने के कारण से आपका दिमागी संतुलन बना रहता है। दौड़ने से आपके शरीर के अंदर थकान नहीं रहती है। शरीर में थकान ने होने से आपका दिमाग बहुत ही तेज चलता है। इसी के साथ दौड़ने से कोई भी बीमारी नहीं रहती है। और आपका इसी कारण से आपका दिमाग बहुत ही तेजी से चलता है। दौड़ने से हमारे शरीर में इंडोरफीन नाम का केमिकल बनता है। जिससे कि हमारा दिमाग बहुत ही तेज हो जाता है। आप दौड़ने से देखेंगे कि आपके सोचने समझने की शक्ति में बहुत ही ज्यादा पहले की बजाए इजाफा हो जाता है।

3) दौड़ने से सहनशक्ति में फायदे।
दौड़ने से आप बहुत ही ज्यादा सहनशील हो जाते हैं। वह आपकी सहनशक्ति बहुत ही ज्यादा मजबूत हो जाती है। आप बड़े से बड़े काम को आराम से कर सकते हैं। आपका दिमाग बहुत ही ज्यादा तेज चलेगा। और साथ ही आप कई सारी समस्याओं का हल आसानी से निकाल पाएंगे

4) मूड बेहतर करने में कारगर।
दौड़ने से आपका मूड बहुत ही अच्छा रहता है। दौड़ने के कारण आपका चेहरा बिल्कुल खिला खिला रहता है। और साथ ही दौड़ने से आप बहुत ही अच्छा फील करते हैं। आपका स्वभाव चिड़चिड़ा ने होकर सभी के प्रति आदरणीय भाव वाला व स्नेह प्रेम वाला रहेगा।

5) स्किन को सुंदर है ग्लोइंग बनाने में।
दौड़ने के कारण आपकी स्किन बहुत ही सुंदर हो जाती है। व चमकदार हो जाती है। क्योंकि दौड़ने से शरीर का पसीना निकलता है। और स्टेमिना बनता है। जिससे कि आपकी त्वचा बहुत ही ग्लो करने लगती है। आपकी स्किन फुल ब्राइट हो जाती है।

रनिंग करने के फायदे। running karne ke fayde.


अगर आप रोजाना रनिंग करते हैं। तो यह आपके लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगा। क्योंकि रोजाना रनिंग करने से आपकी सेहत बहुत ही अच्छी रहेगी। रनिंग करने पर आपका शरीर बिल्कुल भी थकावट महसूस नहीं करेगा। रनिंग करने से आपके शरीर के अंदर जो भी गंदगी होती है! वह पसीने के माध्यम से रनिंग करने पर शरीर से बाहर आ जाती है। और रनिंग करने से आपके शरीर पर जितनी भी चर्बी में मोटापा होता है, वह भी कम हो जाता है। और रनिंग करने पर आपकी शरीर की चर्बी भी खत्म हो जाएगी। रनिंग करने से आपका शरीर बिल्कुल फिट रहेगा।

आप मोटापे से परेशान हैं! व आपके शरीर को मोटापे ने पूरी तरह ढक रखा है। तो ऐसे में आप रनिंग करना शुरू कर सकते हैं। जिससे कि आपके शरीर का मोटापा बिल्कुल भी कम हो जाएगा। अगर आपको पूर्ण रूप से नींद नहीं आती है। आप मानसिक रूप से स्वस्थ नहीं हैं। तो इसका यही कारण है कि आपकी नींद पूरी नहीं हुई। आपको अच्छी नींद की जरूरत है। जो कि रनिंग करने से पॉसिबल हो सकता है। रनिंग करने से आपको बहुत ही अच्छी नींद आएगी। शरीर बिल्कुल अच्छा फिर करेगा। और साथ ही साथ रनिंग करने से आपका मूड भी बेहतर रहेगा। आपका चेहरा भी बिल्कुल ग्लो करेगा और रनिंग करने से आपकी उम्र बहुत ही कम लगेगी।

सुबह दौड़ लगाने के फायदे।। subah daudne ke fayde.

दोस्तों अधिकतर लोग दौड़ करते हैं। लेकिन उनका कोई समय स्थित नहीं होता। कि वह कब दौड़ करते हैं! कभी तो शाम को! व कभी दिन में! व कभी सुबह जल्दी दौड़ने लग जाते हैं। लेकिन आज हम आपको बताएंगे। सुबह दौड़ लगाने से क्या फायदा होता है। सुबह दौड़ लगाने से आपको बहुत ही अच्छा व शांत वातावरण देखने को मिलेगा। और साथ ही सुबह-सुबह वातावरण बहुत ही अनुकूल रहता है। जिससे कि आप दौड़ लगाते समय उस वातावरण का लुफ्त उठा सकते हैं।

और सुबह वातावरण के अंदर ऑक्सीजन की मात्रा बहुत ही ज्यादा अधिक रहती है। यह दौड़ लगाने का सबसे अच्छा फायदा है। क्योंकि सुबह वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा बहुत ही ज्यादा रहती है। वह सुबह सुबह पोल्यूशन भी बहुत कम रहता है। जिससे कि शुद्ध वायु ग्रहण करने से फेफड़े बिल्कुल साफ हो जाते हैं। जिससे कि फेफड़ों संबंधी बीमारी भी दूर हो जाती है। अगर आप अस्थमा के रोगी हैं। तो आपको सुबह के समय दौड़ जरूर लगानी चाहिए। क्योंकि सुबह के समय बिल्कुल शुद्ध वायु अगर आप ग्रहण करते हैं। तो आपके फेफड़े बिल्कुल साफ हो जाएंगे। और आपके अस्थमा व सांस की बीमारी में भी राहत देखने को मिलेगी।

दौड़ लगाने के फायदे।। daud lagane ke fayde.

दौड़ लगाने के फायदों के बारे में अगर हम बात करें! तो दौड़ लगाने से बहुत सारे फायदे होते हैं। जो कि हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे। कि दौड़ लगाने से आपके शरीर में क्या-क्या फायदे होंगे। दौड़ लगाने से आपको क्या क्या फायदे होंगे। दौड़ लगाने से आपका शरीर बहुत ही ज्यादा पावरफुल हो जाएगा। दौड़ लगाने से आपकी क्षमता इतनी बढ़ जाती है कि आप किसी भी काम को जल्दी से निपटा सकते हैं। और आपके शरीर में सांस फूलने जैसी समस्या भी उत्पन्न नहीं होगी। दौड़ लगाने से आपका शरीर बहुत ही मजबूत हो जाएगा। दौड़ लगाने से आपका स्टैमिना भी बढ़ता है।

जोकि आपके वे आपके शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। दौड़ लगाने से आपकी शरीर की पावर अधिक हो जाती है। आपकी कार्य करने की क्षमता भी अधिक हो जाती है। इसी के साथ दौड़ लगाने से आप किसी भी काम को बहुत ही आसानी से निपटा सकते हैं। क्योंकि दौड़ लगाने से आपका मानसिक और शारीरिक दोनों ही विकास होते हैं। मानसिक विकास होने से आप किसी भी कार्य को बहुत ही सरलता से हल कर सकते हैं। और साथ ही साथ दौड़ लगाने से आपका वजन कम होता है। आज के दौर में बहुत सारे लोग हैं! वजन से बहुत ज्यादा परेशान हैं! उनके लिए दौड़ना किसी वरदान या दवा से कम नहीं है। क्योंकि दौड़ने से व्यक्ति या महिला जल्द से जल्द अपने वजन को कंट्रोल कर सकता है! वह कम कर सकता है।

रनिंग के फायदे। running ke fayde.

रनिंग करना बिल्कुल एक पार्टी के जैसा है। आप सोच रहे होंगे। की रनिंग करने से ऐसा कौन सा फायदा होता है। कि रनिंग को पार्टी से कंपेयर या रनिंग और पार्टी की बराबरी की जा रही है। चलिए हम आपको बताते हैं। रनिंग एक पार्टी के जैसे कैसे हैं। पार्टी हमेशा माइंड फ्रेश मूड को अच्छा करने के लिए की जाती है। पार्टी के समय कोई भी चिंता नहीं रहती है। व पार्टी करते समय आपके मन में कोई भी ऐसा प्रश्न नहीं होता है! जिससे कि आपके मस्तिष्क के अंदर व मानसिक रूप से आप परेशान हो जाए। इसी प्रकार रनिंग करते समय व्यक्ति अपने आप में घुल मिल जाता है।

और उसे बस एक ही चीज ध्यान रहती है। कि मुझे सिर्फ और सिर्फ रनिंग करनी है। और व्यक्ति रनिंग करने से अपने आप पर आप पर विश्वास बन जाता है। और रनिंग से अपने आप पर पूर्ण रूप से निर्भर रहता है। और खुद पर उसका कंट्रोल हो जाता है। रनिंग करते समय किसी भी अनावश्यक चीज के बारे में जैसे कि नशे पत्ते आदि चीजों के बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचता है। और इन चीजों को को बिल्कुल भी अपने शारीरिक जीवन में शामिल नहीं करता है।

सड़क पर दौड़ने के फायदे।

अब हम आपको बताते हैं! सड़क पर दौड़ने से आपको क्या फायदे होते हैं। सड़क पर दौड़ना आपके शरीर के लिए कितना फायदेमंद होगा। हमें सड़क पर क्यों दौड़ना चाहिए। आइए बताते हैं ! सड़क पर दौड़ने से आपको क्या फायदे अपने शारीरिक जीवन में देखने को मिलेंगे। सड़क पर दौड़ने से आपकी स्पीड धीरे धीरे बढ़ती जाती है। और सड़क पर दौड़ते समय जाहिर सी बात है कि आप जूते पहन कर ही दौड़ेंगे। जूते पहन कर अगर आप दौड़ते हैं! तो आपके पैरों में कोई भी चीज चुभने का व लगने का खतरा नहीं रहता है।

अगर आप सड़क पर नहीं दौड़ कर मिट्टी के अंदर दौड़ते हैं। तो आप जूते खोलकर दौड़ेंगे। जिससे कि आपके पैरों के अंदर कोई भी चीज लग कर जैसे कांच पत्थर इत्यादि लगकर आपके पैर को नुकसान दे सकती है। इसलिए हमें सड़क पर ही दौड़ना चाहिए। जिससे कि हमारे शरीर को कोई भी खतरा ना हो। सड़क पर दौड़ने से आपकी स्पीड में आपको धीरे-धीरे वर्दी देखने को मिलेगी।

दौड़ने के नुकसान।

कोई भी चीज है! फायदेमंद साबित तभी होती है। जब उसका सही से प्रयोग किया जाए। लेकिन वही चीज आपके लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकती है। आज हम आपको इसी प्रकार दौड़ने के नुकसान के बारे में बताएंगे। कि दौड़ने से क्या नुकसान हो सकते हैं। दौड़ने से आपके शरीर को क्या-क्या नुकसान देखने को मिल सकते हैं ।

अगर आपका शरीर बहुत ही ज्यादा मोटा है। और आप बहुत ही ज्यादा तेज गति से दौड़ते हैं। तो आप गिर सकते हैं! और गिरने से है! आपकी हड्डी या पैर भी टूट सकता है। और साथ ही शरीर का कोई और भाग भी अपनी सतह से हिल डुल सकता है, जिससे कि आपको बहुत ही ज्यादा नुकसान हो सकता है। इस प्रकार अगर आप दोड़ने के नुकसान की हम बात करें! तो हम आपको बताते हैं, अगर आपका वजन बहुत ज्यादा है। और आप बहुत ही ज्यादा दौड़ रहे हो। तो इससे आपके पैर काले पड़ सकते हैं। और साथ ही साथ आपके घुटनों के अंदर दर्द होना भी एक आम बात हो जाएगी।

1) दौड़ने से अस्थमा रोगियों के लिए नुकसान।
अगर आप अस्थमा रोगी हैं! और आप बहुत ही ज्यादा स्पीड से दौड़ते हैं। तो आपको दौड़ने से नुकसान मिल सकता है। क्योंकि अस्थमा रोगी को बहुत ज्यादा स्पीड से दौड़ने पर उसकी सांस जुड़ नहीं पाती है‌ और उसके फेफड़ों के अंदर हवा भर जाती है। जिससे कि उसको सांस लेने में बहुत ही ज्यादा दिक्कत है होना शुरू हो जाती है।

2)दौड़ने से पतले लोगों को नुकसान।
अगर आप बहुत ही ज्यादा पतले हैं। आपके लिए दौड़ना सही नहीं होगा। व दौड़ने से आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। दौड़ने के कारण से नुकसान यह होगा कि आपका शरीर पहले से ही पतला है। और आप दोड़ना शुरु करोगे तो आपका शरीर और ज्यादा पतला हो जाएगा। जिससे कि आपके शरीर की स्थिति बहुत ही खराब हो जाएगी।

3) ज्यादा दौड़ना भी हो सकता है नुकसानदायक।
अगर आप बहुत ही तेज दौड़ रहे हैं। व बहुत ही ज्यादा दूर तक दौड़ रहे हैं! तो यह आपके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है। दौड़ने से आप को नुकसान मिल सकता है। क्योंकि अगर आप बहुत ज्यादा दूर तक दौड़ते हैं। तो आपके पैर काले पड़ जाएंगे। आपके घुटनों में भी दर्द की समस्या उत्पन्न हो सकती है।

4) बुखार में दौड़ने से नुकसान।
अगर आपको बुखार है। या जुखाम है! या कोई अन्य बीमारी सांस से संबंधित है। तो ऐसे में दौड़ना आपके लिए नुकसान साबित होगा। क्योंकि अगर आप जुखाम में या बुखार में दौड़ेंगे तो सीधा असर आपके गले पर पड़ेगा। आपके गले के अंदर बहुत ही ज्यादा आपको दर्द महसूस होने लगेगा। क्योंकि दौड़ने से नाक से सांस अंदर जाकर नाक से बाहर आता है। और गले के अंदर बहुत ही ज्यादा आपको दर्द महसूस होने लगेगा।

5) नंगे पैर दौड़ने से नुकसान।
अगर आप नंगे पैरों से रोड के ऊपर या सड़क के ऊपर दौड़ रहे हैं। तो यह आपके लिए नुकसानदायक साबित होगा। क्योंकि नंगे पैर दौड़ने से आपके पैरों के अंदर छाले हो जाएंगे। आपके पैरों पर चोट भी लगने की संभावना रहती है।

subah running karne ke fayde.


सुबह-सुबह अगर आप रनिंग करते हैं। तो आपको बहुत ही ज्यादा फायदे होंगे। क्योंकि सुबह सुबह रनिंग करने से आप शुद्ध वायु ग्रहण करेंगे। और शुद्ध वायु आपके शरीर के अंदर जाएगी। जिससे कि आप के फेफड़े बिल्कुल साफ हो जाएंगे। और सुबह रनिंग करने से आपको और भी बहुत सारे फायदे होते हैं।

जैसे कि सुबह रनिंग करने से आपका शरीर पूरे दिन तक थकान महसूस नहीं करता। सुबह रनिंग करने पर आपकी बॉडी बहुत ही ज्यादा पावरफुल महसूस करती है। सुबह रनिंग करने से आपका वजन बहुत ही जल्दी कम हो जाता है। आप मोटापे व चर्बी के शिकार नहीं होते हैं। सुबह-सुबह दौड़ने से आपको शुद्ध ऑक्सीजन शांत वातावरण देखने को मिलेगा। जिससे कि आपको मानसिक रूप से बहुत सारे फायदे होंगे।

dodne ke fayde. daurne ke fayde.

dorne ke fayde: चलिए हम आपको बताते हैं! कि दौड़ने से आपको क्या फायदे होंगे। क्या आप जानते हैं! दौड़ने से आप अपने वजन को कंट्रोल कर सकते हैं। व एक अच्छी नींद की प्राप्ति कर सकते हैं। दौड़ने से आप अपने मोटापे को कम कर सकते हैं। और साथ ही दौड़ने से आपका शारीरिक विकास बहुत ही अच्छे तरीके से होता है।

दौड़ने से आप अपने आप पर आत्मविश्वास पर स्टीक हो जाते हैं। दौड़ने की और भी बहुत सारे फायदे हैं। जैसे कि दौड़ने से आप अपने शरीर को बीमारियों से दूर रख सकते हैं। और आप एक निरोगी जीवन जी सकते हैं। दौड़ने से आप अपनी उम्र को व अपने जीवन के कुछ साल बढ़ा सकते हैं। एक वैज्ञानिक रिसर्च के बाद पता लगा है। कि दौड़ने से मनुष्य की आयु में वृद्धि होती है। और उसका शरीर बहुत ही धीरे बूढा होता है।

दौड़ने के फायदे और नुकसान।


आज हम आपको दौड़ने के फायदे और नुकसान के बारे में बताएंगे। दौड़ने से आपको क्या फायदे होते हैं! और क्या नुकसान होते हैं! वैसे तो दौड़ने के बहुत सारे फायदे होते हैं। जैसे मोटापा कम कर सकते हैं। वजन को कंट्रोल कर सकते हैं। शारीरिक विकास के लिए दौड़ना बहुत ही अच्छा होता है। व साथ ही साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ रहने के लिए दौड़ना बेहद फायदेमंद साबित होता है। और दौड़ने के कुछ नुकसान भी हैं!

जैसे कि अगर व्यक्ति अस्थमा का पेशेंट है। और वह तेज दौड़ रहा है। तो उसके लिए यह नुकसानदायक साबित होगा। क्योंकि अस्थमा व सांस के पेशेंट को अधिक तेज दौड़ने से उसकी सांसे बहुत ही ज्यादा फूल जाएगी। उसके फेफड़ों के अंदर हवा भर जाएगी। जिस कारण से उसको बहुत ही ज्यादा दिक्कत आ सकती है। उसकी सांस रुकने की भी नौबत हो सकती है।

दौड़ने के फायदे।

1) मोटापा कम करने में।
अगर आप मोटापे से बहुत ज्यादा परेशान है? तो आप दौड़ना शुरू कर सकते हैं। दौड़ने से आपके मोटापे में बहुत ही ज्यादा लाभ होगा। आपका मोटापा बहुत ही तेजी से कम होता चला जाएगा। और देखते ही देखते आप एक स्लिम फिट व्यक्ति बन जाएंगे। अगर आप दौड़ना स्टार्ट कर देते हैं। तो आपके शरीर में जो भी मोटापा है। व कम हो जाएगा।

2) मधुमेह रोग में फायदेमंद।
अगर आप मधुमेह के रोगी हैं। तो आपको सुबह जरूर दौड़ना चाहिए। क्योंकि सुबह सुबह बहुत ही वातावरण शुद्ध रहता है। और हवा भी शुद्ध रहती है। जो कि हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद है। क्योंकि सुबह-सुबह ऑक्सीजन की मात्रा बहुत ही अधिक रहती है। और दौड़ने से बहुत ही ज्यादा ऑक्सीजन हमारा शरीर ग्रहण करता है। और उससे आपके मधुमेह के रोग के अंदर आपको फायदा देखने को मिल सकता है।

3) अच्छी नींद में कारगर।
बहुत सारे व्यक्तियों को पूर्ण रूप से वह अच्छी नींद नहीं आती है। उसका यही कारण है! कि उनको शारीरिक रूप से दिक्कत है। अगर व्यक्ति को शारीरिक रूप से दिक्कत है? और मानसिक रूप से भी स्वस्थ नहीं है। तो उसका दौड़ना बहुत ही फायदेमंद साबित होगा। क्योंकि दौड़ने से व्यक्ति के स्वास्थ्य में बहुत ही ज्यादा लाभ होगा। जिससे कि वह शारीरिक रूप से स्वस्थ रहेगा। और बहुत ही अच्छी नींद आएगी।

4) वजन घटाने में।
अगर आपका वजन तेजी से बढ़ता जा रहा है। और आप वजन के कारण हर जगह शर्मिंदा महसूस कर रहे हैं। तो आप दौड़ना शुरू कर सकते हैं। जिसकी वजह से आप अपने वजन को कंट्रोल में कर सकते हैं। और अगर आप रोजाना दौड़ना स्टार्ट कर देते हैं। तो आप देखेंगे कि आपका वजन बहुत ही जल्दी कम हो जाएगा। दौड़ना आपके लिए वजन घटाने के लिए किसी दवा से कम नहीं होगा।

5) शारीरिक रूप से स्वस्थ रखने में।
अगर आप शारीरिक रूप से अस्वस्थ हैं। तो दौड़ना शुरू कर सकते हैं। क्योंकि दौड़ने से आप शारीरिक रूप से स्वस्थ हो जाएंगे। क्योंकि दौड़ने से आपके शरीर के अंदर बहुत ही ज्यादा पावर आ जाएगी। व बिल्कुल भी आप थका हुआ महसूस नहीं करेंगे। रोजाना दौड़ने से आपके शरीर के अंदर जो भी बीमारी हैं! वह कम हो जाएगी। या धीरे-धीरे करके खत्म हो जाएगी। और आप शारीरिक रूप से स्वस्थ होते जाएंगे।

दौड़ने के नुकसान।

1) दौड़ने का नुकसान यह है! कि अगर आप अस्थमा व सांस के रोगी हैं। तो आपको दौड़ने से नुकसान देखने को मिल सकता है। क्योंकि अगर आप अस्थमा व सांस के रोगी हैं। और अगर बहुत ही तेजी से अगर आप दौड़ रहे हैं। तो आपको सांस जुटाने में बहुत ज्यादा प्रॉब्लम होगी। और आपको दौड़ने से नुकसान देखने को मिल सकते हैं।

2) दूसरा नुकसान यह है! कि अगर आप सड़क पर दौड़ रहे हैं। बिना जूते पहनकर तो आपके पैरों के अंदर चोट लग सकती है। और दौड़ने से आपको अपने पैरों के अंदर छाले व खरोच हड्डी ठुकने का भी नुकसान उठाना पड़ सकता है।

3) तीसरा नुकसान यह है! कि अगर आप बहुत ही देर तक दौड़ रहे हैं। और खूब दूर तक अगर आप दौड़ रहे हैं। तो आपके पैरों के अंदर काले धब्बे हो जाएंगे। आपके पैरो के अंदर दर्द होना शुरू हो सकता है।

4) अगर आपका वजन बहुत ही ज्यादा है। फिर भी आप रोजाना ज्यादा दूर तक दौड़ रहे हैं। तो आपके घुटनों में दर्द होना आम बात होगी। और दौड़ने से घुटनों के दर्द का नुकसान आपको उठाना पड़ सकता है।

5) दौड़ने का एक नुकसान यह भी है ! अगर आप बीमार हो या बुखार जुखाम जैसी समस्या है‌ तो दौड़ना आपके लिए नुकसानदायक होगा। क्योंकि दौड़ने से अत्यधिक स्वसन क्रिया होती है। जिस कारण से गले के अंदर बहुत ही ज्यादा दर्द होगा। दौड़ने से बहुत ही ज्यादा गले के अंदर दर्द देखने को मिल सकता है।

running karne se kya hota hai. running karne ke fayde in hindi.

रनिंग करने से क्या होता है! आज हम आपको बताएंगे कि रनिंग करने से क्या होता है। बहुत सारे लोगों के मन में यह होता है! कि रनिंग करने से ह कुछ नुकसान तो नहीं होता। या रनिंग करने से क्या-क्या फायदे होते हैं। आइए आज हम आपको बताते हैं कि रनिंग करने से क्या होता है। रनिंग करने से यह होता है, कि आपका शरीर बहुत ही मजबूत बन जाएगा। रनिंग आपके शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होगी। क्योंकि रनिंग करने से आपका शरीर बिल्कुल भी थकावट महसूस नहीं करेगा।

रनिंग करने से आपका वजन भी बिल्कुल स्थिर रहेगा। व साथ ही जो भी अनावश्यक चर्बी आपके शरीर के ऊपर है। वह भी रनिंग करने से खत्म हो जाएगी। और रनिंग करने से आपका शारीरिक विकास तो होगा ही साथ ही साथ रनिंग के कारण आपका मानसिक विकास भी होगा। जिससे कि आप में कोई भी काम बड़ी ही आसानी से करने का जुनून बना रहेगा। आप कोई भी काम आसानी से कर पाएंगे। रनिंग करने का एक मेन उद्देश्य शरीर को फिट रखना भी माना जाता है। आजकल लोग गैस से भी बहुत ज्यादा परेशान हैं। और गैस से जो लोग परेशान हैं, या जो जो व्यक्ति गैस के कारण से परेशान है। उसे रनिंग करने चाहिए। क्योंकि रनिंग करने से उसकी गैस जैसी समस्या बहुत ही जल्दी खत्म हो जाएगी।

दौड़ लगाने से क्या होता है।daud lagane se kya hota hai.


ध्यान पूर्वक आप सोच रहे होंगे की दौड़ लगाने से ऐसा क्या होता है। जो कि हर डॉक्टर या हर वैद्य सुबह दौड़ने की या शाम को दौड़ने की सलाह देता है। आज हम आपको दौड़ लगाने से क्या होता है बताएंगे। दौड़ लगाने से होगा यह कि आपके शरीर बिल्कुल ही निरोगी हो जाएगा। और आपका शरीर मजबूत व सुंदर हो जाएगा।

दौड़ लगाने से आपके शरीर की अनावश्यक चर्बी भी घटकर कम हो जाएगी। आपका शरीर अनुकूल हो जाएगा। दौड़ लगाने से आप किसी भी काम को बहुत ही जल्दी कर पाएंगे। बहुत ही कम समय के अंदर काम को कर सकेंगे। और साथ ही साथ दौड़ लगाने से आपका शारीरिक रूप से भी विकास होगा। व मानसिक रूप से भी आप दौड़ लगाने से स्वस्थ हो जाएंगे। दौड़ लगाने से आपके घुटनों का दर्द पाचन क्रिया संबंधी बीमारियों में भी बहुत आराम मिलेगा।

दौड़ने से कितना वजन कम होता है।


बहुत सारे लोगों के मन में यह सवाल पैदा होता है।कि दौड़ने से क्या होता है? दौड़ने से कितना वजन व्यक्ति कम कर सकता है? हम आपको आज बताएंगे। दौड़ने से कितना वजन आप कम कर पाएंगे? अगर व्यक्ति का वजन 90 से 100 किलो के बीच में है। तो वह 15 से 20 किलो वजन 1 या 2 महीने के बीच मे दौड़ने से कम कर सकता है। व साथ ही देखा जाए तो अगर व्यक्ति का वजन है 75 से 85 किलो के मध्य है तो व्यक्ति 7 से 10 किलो तक वजन एक से डेढ़ महीने तक रोजाना दौड़ने से कम कर सकता है। दौड़ने से बहुत ही जल्दी वजन कम होता है।

जितना कि आप किसी भी दवा या पाउडर से वजन कम करने की सोचते हैं। तो आपके शरीर के अंदर बहुत सारी अनावश्यक बीमारियां उत्पन्न हो जाती हैं। और आपका शरीर दवाइयां खाते समय तो पतला हो जाता है। लेकिन बाद में चर्बी इतनी लटक जाती है। की आप उसको बिल्कुल भी काबू में नहीं कर पाएंगे। इसलिए दौड़ने का इरादा बिल्कुल सही है। वजन कम करने के लिए दौड़ना बेहद ही लाभकारी साबित होगा। दवाइयों और पाउडर की बराबरी में दौड़ना ज्यादा लाभकारी या फायदेमंद होगा। व नेचुरल तरीके से आपके वजन को कम करेगा। व साथ ही चर्बी को भी लटकने नहीं देगा।

रनिंग करने से क्या होता है।running karne se kya hota hai.

रनिंग करने से क्या होता है। आज हम आपको बताएंगे रनिंग करने से क्या होता है? रनिंग करने से क्या फायदा के शरीर के अंदर होगा। रनिंग करने के कारण आप कौन-कौन से लाभ ले सकते हैं। रनिंग के वैसे तो बहुत सारे लाभ हैं। जैसे कि अगर आप नींद से परेशान हैं, तो आप रनिंग करके इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं।

रनिंग करने से आपकी पाचन क्रिया मजबूत हो जाएगी। व जिस भी व्यक्ति या महिला के अगर गैस एसिडिटी की प्रॉब्लम रहती है, दिक्कत रहती ,है तो आप रनिंग करके गैस जैसी समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। रनिंग करके आप पाचन क्रिया को भी मजबूत कर सकते हैं। रनिंग करने से आपके शरीर के अंदर बहुत ही लचीलापन आ जाएगा। और आपका शरीर निरोगी हो जाएगा। रनिंग करने के कारण से आपका शरीर बहुत ही मजबूत सुंदर में सुडोल बन जाएगा।

दौड़ने के बाद क्या खाना चाहिए।

आज हम आपको बताते हैं! कि दौड़ने के बाद आपको क्या खाना चाहिए। यह बहुत सारे लोग यह नहीं जानते कि दौड़ने के बाद क्या डाइट लेनी चाहिए। इस वजह से उन्हें सांस की प्रॉब्लम होनी शुरू हो जाती है। कई कई बार तो दौड़ने के कारण से उन्हें अस्थमा जैसी बीमारी भी हो जाती है। उसका यही कारण होता है! कि दौड़ने के बाद एक अच्छी डाइट नहीं लेने से उन्हें अस्थमा में सांस संबंधी बीमारी हो जाती है। उनका शरीर दौड़ने के बाद बहुत ही ज्यादा थका हुआ महसूस करता है। व इसी कारण से थकान होती है। दौड़ने के बाद कई कई व्यक्ति कुछ भी नहीं खाते हैं। जिससे उन्हें अस्थमा व सांस संबंधी बीमारी होने की संभावना होती है। या सांस संबंधी बीमारी हो भी सकती है।

1) दौड़ने के बाद भीगे हुए चने खाना आपके सेहत के लिए बहुत ही अच्छा होता है। क्योंकि भीगे हुए चने खाने से आपकी सास बहुत कम फूलती है।

2) दौड़ने के बाद अगर आप मूंगफली का सेवन करते हैं। तो आपके लिए बहुत ही फायदेमंद है। क्योंकि मूंगफली के अंदर में तेल की मात्रा होती है। जिससे कि आपके शरीर के अंदर तेल की मात्रा पूरी हो जाती है।

3) दौड़ने के बाद अगर आप सोयाबीन खाते हैं। तो यह भी आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगी।

4) अगर दौड़ने के बाद आप बादाम का सेवन करते हैं। तो भी यह आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है।

5) दौड़ने के बाद आप केले का सेवन करते हैं। तो आपके शरीर के अंदर भरपूर एनर्जी आ जाती है। और आपको दौड़ने के बाद केले का सेवन जरूर करना चाहिए।

6) दौड़ने के बाद आप डाइट के रूप में दूध और अंडे का सेवन भी कर सकते हैं।

रोज कितना दौड़ना चाहिए।

रोज कितना दौड़ना चाहिए? यह सवाल बहुत सारे व्यक्तियों पुरुषों एवं महिलाओं के बीच होता है। कि रोज कितना दौड़ना चाहिए। लेकिन आज हम आपको बताएंगे। कि रोज कितना दौड़ना चाहिए। जिससे कि आपका शरीर बिल्कुल स्वस्थ रहें। और कितना दौड़ना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

रोज कितनी दूर तक कितने किलोमीटर तक दौड़ना आपके लिए लाभदायक होगा। शुरुआत में व्यक्ति 5 किलोमीटर तक रोज तोड़ना पसंद करते हैं। व रोज 5 किलोमीटर तक दौड़ते हैं। लेकिन एक अनुभवी दौड़ने वाला व्यक्ति जो कि तेज दौड़ना पसंद करता है। उसको कम से कम रोज 30 मिनट तक है दौड़ना चाहिए। और रविवार के दिन 5 से 10 मिनट तक का समय दौड़ने के लिए भड़ा भी सकते हैं।

जॉगिंग के फायदे। jogging karne ke fayde.

अब आपको बताते हैं ! कि जोगिंग करने से क्या फायदा होता है। जोगिंग करने से बहुत सारे फायदे होते हैं। जैसे कि दौड़ने से फायदे होते हैं, वैसे ही जोगिंग करने से फायदे होते हैं। क्योंकि जोगिंग और दौड़ने में सिर्फ गति का फर्क होता है। जोगिंग करते समय व्यक्ति की गति बहुत ही धीमी होती है। दौड़ते समय व्यक्ति की गति तेज होती है।

लेकिन जोगिंग करने के भी अलग फायदे होते हैं। जोगिंग करने से एक तो आप का भोजन बहुत ही जल्दी पचेगा। आपकी पाचन क्रिया मजबूत हो जाएगी। आपका शरीर एक अनुकूल स्तर पर रहेगा। जोगिंग करने से आपके शरीर के अंदर अनावश्यक चर्बी उत्पन्न नहीं होगी। आप पतले हो जाएंगे। जोगिंग करने से आपका शरीर बिल्कुल समान स्तर पर रुक जाता है। और गैस जैसी समस्याओं से भी जोगिंग करने से आपको फायदे देखने को मिल सकते हैं।

1) जोगिंग से आपका ब्रेन बहुत ही सही रहता है। क्योंकि जोगिंग करने से आपके ब्रेन के अंदर किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न नहीं होती है। जोगिंग करने से ब्रेन में नई सेल का निर्माण होता है। जो कि बहुत ही ज्यादा लाभदायक है।

2) जोगिंग करने से आपकी स्क्रीन पर बहुत ही ज्यादा ग्लो आ जाता है। जोगिंग करने से आपकी स्किन बहुत ही चमकदार हो जाती है। और आपके स्कीन पर जितने भी झुर्रियां होती है। चेहरे पर जितने भी फुंसी कील मुंहासे होते हैं। वह भी जोगिंग करने से कम हो जाते हैं। क्योंकि जोगिंग करने से आपके त्वचा के नीचे जो सेल्स होते हैं। उनके ऊपर जो भी गंदगी रहती है, वह पसीने के जरिए शरीर के बाहर निकल जाती है। और आपकी स्किन बिल्कुल साफ हो जाती है।

3) अगर आप मोटापे से परेशान हैं। तो आप जोगिंग शुरू कर सकते हैं। जोगिंग करने से आप अपने मोटापे पर भी नियंत्रण पा सकते हैं।

4) अगर आप तनाव से बहुत ज्यादा परेशान है। तो आप जोगिंग शुरू कर सकते हैं। क्योंकि जोगिंग नियमित रूप से करने से आपके तनाव मे बहुत ही ज्यादा नियंत्रण प्राप्त होगा।

5) अगर आप मधुमेह के रोगी हैं। तो आप जोगिन शुरू कर सकते हैं। क्योंकि जोगिंग करने से मधुमेह रोग के अंदर भी नियंत्रण पाना वह धीरे-धीरे नियंत्रण होना शुरू हो जाता है।